Assembly Banner 2021

भारत में बच्चों को जल्द मिलेगी वैक्सीन! एस्ट्राजेनेका और भारत बायोटेक ने शुरू की स्टडीज

आंकड़े बताते हैं कि देश में 5.5 करोड़ से ज्यादा लोग ऐसे हैं, जिन्हें वैक्सीन का कम से कम एक डोज मिल गया है. (सांकेतिक तस्वीर)

आंकड़े बताते हैं कि देश में 5.5 करोड़ से ज्यादा लोग ऐसे हैं, जिन्हें वैक्सीन का कम से कम एक डोज मिल गया है. (सांकेतिक तस्वीर)

Coronavirus Vaccine: फार्मा कंपनी बायोएनटेक-फाइजर (BioNTech-Pfizer) ने घोषणा की है कि उनकी वैक्सीन 12-15 साल की उम्र के बच्चों के बीच 100 फीसदी असरदार रही है. कंपनी ने यह घोषणा वैक्सीन ट्रायल्स के आधार पर की हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 1, 2021, 11:47 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारत (India) में कोरोना वायरस वैक्सीन को लेकर अच्छी खबर आ सकती है. AIIMS के डायरेक्टर डॉक्टर रणदीप गुलेरिया (Dr Randeep Guleria) ने जानकारी दी है कि एस्ट्राजेनेका (AstraZeneca) और भारत बायोटेक (Bharat Biotech) बच्चों में वैक्सीन की सुरक्षा और प्रभाव को लेकर अध्ययन कर रहे हैं. भारत में फिलहाल आपातकालीन इस्तेमाल के लिए कोविशील्ड और कोवैक्सीन को अनुमति दी गई है. देश में गुरुवार से वैक्सीन का तीसरा चरण शुरू हो रहा है.

एनडीटीवी से बातचीत में डॉक्टर गुलेरिया ने जानकारी दी है कि एस्ट्राजेनेका और भारत बायोटेक बच्चों के लिए वैक्सीन को लेकर स्टडी कर रहे हैं. उन्होंने कहा, 'अगर हम वास्तव में महामारी को नियंत्रित करना चाहते हैं और बच्चों को स्कूल वापस भेजना चाहते हैं और इसे लेकर चिंतामुक्त होना चाहते हैं, तो हमें ऐसी वैक्सीन देखनी होंगी, जो बच्चों के लिए हों.' उन्होंने कहा, 'और मैं इस बात को जानता हूं कि दोनों वैक्सीन उम्मीदवार, जिनका भारत में इस्तेमाल हो रहा है, वे बच्चों की सुरक्षा और डोज जानने के लिए स्टडीज कर रहे हैं.'

यह भी पढ़ें: COVID Vaccination: 45 साल से ऊपर के लोग आज से लगवा सकेंगे कोरोना वैक्सीन, जानें हर सवाल का जवाब



उन्होंने कहा 'आप यह नहीं कह सकते कि बच्चे छोटे व्यस्कों की तरह होते हैं. वे डोज और संभावित साइड इफेक्ट्स के मामले में अलग-अलग होते हैं.... इसलिए हमें डेटा की जरूरत है.' डॉक्टर गुलेरिया ने कहा 'लेकिन अगर हम और ज्यादा वैक्सीन प्राप्त करने में सक्षम हो गए, तो कंपनियां कोई भी हों, वह हमारे देश के लिए मददगार होगा क्योंकि इससे हम ज्यादा से ज्यादा लोगों को टीका लगा सकेंगे.'

खास बात है कि फार्मा कंपनी बायोएनटेक-फाइजर ने घोषणा की है कि उनकी वैक्सीन 12-15 साल की उम्र के बच्चों के बीच 100 फीसदी असरदार रही है. कंपनी ने यह घोषणा वैक्सीन ट्रायल्स के आधार पर की हैं. फिलहाल कंपनी अमेरिका में 15 साल से कम उम्र के बच्चों के लिए अनुमति पाने की कोशिश कर रही है. वहीं, भारत में वैक्सीन प्रोग्राम जारी है. आंकड़े बताते हैं कि देश में 5.5 करोड़ से ज्यादा लोग ऐसे हैं, जिन्हें वैक्सीन का कम से कम एक डोज मिल गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज