वैक्‍सीन की किल्‍लत: मुंबई में टीकाकरण बंद, खुराक मिलने के बाद होगा शुरू

मुंबई में वैक्‍सीन की कमी के कारण सैकड़ों टीकाकरण केंद्र बंद हैं. (प्रतीकात्मक तस्वीर: Shutterstock)

कोरोना विरोधी वैक्‍सीन (anti-Corona vaccine) की कमी के कारण मुंबई (Mumbai) में शुक्रवार को टीकाकरण नहीं हो सका. वहीं बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) के बयान के अनुसार टीकों की कमी (Vaccine Shortage) के कारण शनिवार को भी टीकाकरण (corona vaccination) बंद रहेगा और कर्मचारियों का साप्ताहिक अवकाश होने के कारण यह रविवार को बंद रहेगा. जुलाई में यहां टीकाकरण कार्यक्रम बुरी तरह पिछड़ गया है. बयान में कहा गया है, ‘‘मुंबई के लोगों को टीकाकरण के बारे में सूचित किया गया है कि टीके की खुराक मिलने के बाद ही यह शुरू होगा.’’

  • Share this:
    मुंबई . मुंबई में कोरोना वायरस संक्रमण निरोधक (anti-Corona vaccine)  टीकाकरण,  टीकों की कमी (Vaccine Shortage)  के कारण स्थानीय निकाय एवं सरकारी केंद्रों पर बंद रहेगा और कर्मचारियों का साप्ताहिक अवकाश होने के कारण रविवार को भी टीकाकरण (corona vaccination) नहीं होगा. बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी)  ने शुक्रवार को इसकी जानकारी दी. गौरतलब है कि टीकों की कमी के कारण शुक्रवार को भी यह अभियान बीएमसी एवं महाराष्ट्र सरकार के केंद्रों पर निलंबित ही रहा. बीएमसी के बयान के अनुसार टीकों की कमी के कारण शनिवार को भी टीकाकरण बंद रहेगा और कर्मचारियों का साप्ताहिक अवकाश होने के कारण यह रविवार को बंद रहेगा.

    निकाय ने बयान में कहा है कि टीकों की ताजा खेप प्राप्त होने के बाद ही टीकाकरण अभियान शुरू किया जा सकेगा. बयान में कहा गया है, ‘‘मुंबई के लोगों को टीकाकरण के बारे में सूचित किया गया है कि टीके की खुराक मिलने के बाद ही यह शुरू होगा.’’
    स्थानीय निकाय ने बीएमसी एवं सरकारी केंद्रों पर टीकों की कमी के कारण एक जुलाई को भी टीकाकारण रोक दिया था. बीएमसी के अनुसार मुंबई में सात जुलाई तक कुल 59,29,190 लोगों का टीकाकरण किया जा चुका है . इनमें से 12,47,410 लेागों को दूसरी खुराक दी जा चुकी है.

    ये भी पढ़ें : महाराष्ट्र: कांग्रेस नेता नाना पटोले के फोन टैपिंग के आरोपों की जांच के लिए समिति का गठन

    ये भी पढ़ें :  केरल और महाराष्ट्र में कोरोना के हालात अब भी खराब, क्या ये तीसरी लहर की आहट है?

    मुंबई में फिलहाल 401 सक्रिय टीकाकरण केंद्र हैं जिनमें बीएमसी के 283, महाराष्ट्र सरकार के 20 केंद्रों के अलावा 98 निजी केंद्र हैं. महाराष्ट्र में पिछले दो सप्ताह में कोविड ग्राफ ने पठार का रूप ले लिया है. जहां रोजाना आने वाले मामले 8000 से 10,000 के बीच बने हुए हैं. मुंबई, पुणे और ठाणे में कोविड-19 की पीक आने के बाद मामलो में गिरावट देखी गई हालांकि ये अब भी ज्यादा है जिससे पता चलता है कि अभी भी वायरस कई जगहों पर सक्रिय है. हालांकि विशेषज्ञ इसका सही कारण नहीं बता पाए हैं.

    स्वास्थ्य मंत्रालय में संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने कहा कि भारत में पिछले सप्ताह सामने आये कोविड-19 के मामलों में से आधे से ज्यादा महाराष्ट्र (21 प्रतिशत) और केरल (32 प्रतिशत) से आये.  उन्होंने मास्क पहनने और एक-दूसरे से निश्चित दूरी रखने जैसे कोविड-19 प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन करने की जरूरत बताई.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.