अपना शहर चुनें

States

गुजरात निकाय चुनावः कांग्रेस ने किया डेटिंग डेस्टिनेशन का वादा, बीजेपी बोली- जैसा संस्कार वैसी बात

गुजरात में नगर निगम चुनावों के लिए कांग्रेस ने एड़ी चोटी का जोर लगा दिया है.
गुजरात में नगर निगम चुनावों के लिए कांग्रेस ने एड़ी चोटी का जोर लगा दिया है.

गुजरात (Gujarat) में 6 नगर निगम चुनावों (Municipal Corporation Election) के लिए बीजेपी (BJP) और कांग्रेस (Congress) ने एड़ी चोटी का जोर लगा दिया है. वड़ोदरा कांग्रेस की ओर से 19 वार्डों में अपने 76 उम्मीदवार उतारे गए हैं. दूसरी ओर बीजेपी मिशन 76 लेकर चल रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 17, 2021, 7:55 AM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. गुजरात (Gujarat) में होने वाले निकाय चुनाव (Municipal Corporation Election) को लेकर पार्टियों के बीच सरगर्मी तेज हो गई है. बीजेपी (BJP) और कांग्रेस (Congress) के बीच ये चुनाव किसी बड़े चुनाव से कम नहीं है. यही कारण है कि निकाय चुनाव से पहले दोनों ही पार्टियां मतदाताओं को रिझाने में लगी हुई हैं. वड़ोदरा निकाय चुनाव के लिए कांग्रेस ने मंगलवार को अपना घोषणा पत्र (Manifesto) जारी कर दिया है. पार्टी ने युवाओं को अपनी ओर आकर्षित करने के लिए डेटिंग डेस्टिनेशन (Dating Destination) बनाने का वादा किया है. घोषणा पत्र में किए गए इस वादे के बाद वड़ोदरा की राजनीति में हलचल तेज हो गई है. बीजेपी ने कांग्रेस के घोषणा पत्र पर तंज कसते हुए यहां तक कह डाला कि जैसा संस्कार है कांग्रेस वैसी ही बात कर रही है.

गुजरात में 6 नगर निगम चुनावों के लिए बीजेपी और कांग्रेस ने एड़ी चोटी का जोर लगा दिया है. कांग्रेस की ओर से मतदाताओं को अपनी ओर आकर्षित करने के लिए मेनिफेस्टो जारी किया गया है. कांग्रेस ने युवाओं को रिझाने के लिए डेटिंग डेस्टिनेशन का वादा क्‍या किया है, बीजेपी को चुनाव में एक बड़ा मुद्दा मिल गया है. बता दें कि वड़ोदरा को संस्कारी नगरी कहा जाता है. ऐसे में बीजेपी ने इसे वादे को अब चुनावी मुद्दा बनाना शुरू कर दिया है.

इसे भी पढ़ें :- गुजरात भाजपा ने छह नगर निगमों के चुनाव के लिये उम्मीदवारों के नाम तय किये
कांग्रेस ने अपने घोषणा पत्र में वादा किया है कि अगर पार्टी सत्ता में आती है तो डेटिंग डेस्टिनेशन तैयार किए जाएंगे. वड़ोदरा कांग्रेस के अध्यक्ष प्रशांत पटेल का कहना है कि युवा वर्ग को भी जीने का अधिकार है. युवाओं को बैठने के लिए जो कैफे सेंटर थे उसे पहले ही सरकार बंद कर चुकी है. वैसे भी अमीर लड़के ही कैफे सेंटर जाया करते थे. गरीब और मध्‍यम वर्ग के युवाओं को बैठने की कोई जगह नहीं मिलती थी. इस बात को ध्‍यान में रखते हुए ही हमने घोषणा पत्र में वादा किया है कि अगर पार्टी चुनाव जीतती है तो गरीब युवाओं के लिए ऐसी व्यवस्था की जाएगी, जिससे वे तसल्ली से कहीं बैठकर बात कर सकें.



इसे भी पढ़ें :- गुजरात निकाय चुनावों की तारीखों का ऐलान, 21 और 28 फरवरी को होगा मतदान

कांग्रेस के घोषणा पत्र पर तंज कसते हुए वड़ोदरा बीजेपी के पूर्व मेयर भरत डांगा का कहना है कि जिसके जैसे संस्कार होते हैं वे वैसा ही बात करते हैं. वड़ोदरा को संस्कारी नगरी कहा जाता है. यहां बाग बगीचे बच्‍चों के खेलने और फिटनेस के लिए बनाए गए हैं. उन्‍होंने कहा कि मुझे लगता है कि कांग्रेस ने ये वादा राहुल गांधी के कहने पर किया है. बता दें कि वड़ोदरा कांग्रेस की ओर से 19 वार्डों में अपने 76 उम्मीदवार उतारे गए हैं. दूसरी ओर बीजेपी मिशन 76 लेकर चल रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज