अपना शहर चुनें

States

उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू बोले- देश की प्रगति के लिए जनसांख्यिकीय स्थिति का फायदा उठाने की जरूरत है

उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू का फाइल फोटो.
उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू का फाइल फोटो.

उपराष्ट्रपति ने कहा, आज हमारी सबसे बड़ी ताकत जनसांख्यिकीय स्थिति है.’’उन्होंने कहा, ‘‘कृषि से लेकर निर्माण तक विभिन्न क्षेत्रों में प्रगति को तेज करने के लिए हमें इसका पूरा फायदा उठाने और आगामी वर्षों में सतत् वृद्धि दर सुनिश्चित करने की जरूरत है.’’

  • Share this:
चेन्नई. भारत की सबसे बड़ी ताकत उसकी जनसांख्यिकीय स्थिति (Demographic situation) है और विभिन्न क्षेत्रों में देश की प्रगति में तेजी लाने के लिए लोगों को इसका पूरा लाभ उठाने की जरूरत है. यह बात रविवार को उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू (Vice President Venkaiah Naidu) ने यहां कही. नायडू ने देश के युवाओं से अपील की कि वे प्रगति को तेज करने और देश के विकास की गाथा लिखने में आगे रहें.

उन्होंने यहां राजभवन में पूर्व राष्ट्रपति ए पी जे अब्दुल कलाम (APJ Abdul Kalam) पर एक जीवनी का विमोचन करने के बाद कहा, ‘‘आज हमारी सबसे बड़ी ताकत जनसांख्यिकीय स्थिति है.’’उन्होंने कहा, ‘‘कृषि से लेकर निर्माण तक विभिन्न क्षेत्रों में प्रगति को तेज करने के लिए हमें इसका पूरा फायदा उठाने और आगामी वर्षों में सतत् वृद्धि दर सुनिश्चित करने की जरूरत है.’’

‘अब्दुल कलाम- निनायवुगालुक्कू मारनमिल्लई’ (अमर स्मृतियां) पुस्तक को दिवंगत राष्ट्रपति की रिश्तेदार ए पी जे एम नजीमा मरइकयार और अंतरिक्ष वैज्ञानिक वाई. एस. राजन ने लिखा है. कलाम को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए नायडू ने युवकों से अपील की कि वे उनसे प्रेरणा लें और खुद पर विश्वास करें. कलाम ‘आम लोगों के राष्ट्रपति’ के तौर पर मशहूर थे. उन्होंने कहा कि उन्हें नौकरी खोजने वाला होने के बजाए नौकरी सृजित करने वाला बनना चाहिए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज