होम /न्यूज /राष्ट्र /

VIDEO: दुनिया के सबसे ऊंचे चिनाब रेलवे ब्रिज पर लहराया तिरंगा, 'गोल्डन ज्वाइंट' पर जश्न और आतिशबाजी

VIDEO: दुनिया के सबसे ऊंचे चिनाब रेलवे ब्रिज पर लहराया तिरंगा, 'गोल्डन ज्वाइंट' पर जश्न और आतिशबाजी

चिनाब ब्रिज पर रेलवे कर्मचारियों ने निकाली तिरंगा यात्रा

चिनाब ब्रिज पर रेलवे कर्मचारियों ने निकाली तिरंगा यात्रा

Chenab Railway Bridge: जम्मू कश्मीर के चिनाब ब्रिज पर शनिवार को रेलवे ने तिरंगा यात्रा निकाली. इसके डेक बनाने का काम पूरा होते ही जमकर आतिशबाज़ी की गई और वंदे मातरम के नारे लगाए गए. अब इस पर पटरी बिछाने का काम होगा. आधे चांद की तरह दिखने वाला यह ब्रिज़ दुनिया का सबसे ऊंचा आर्च ब्रिज़ है. इसकी ऊंचाई नदी तल से 359 मीटर ऊपर है. यानी कुतुबमीनार के लगभग 5 गुनी ज़्यादा ऊंचाई पर ट्रेन चलेगी.

अधिक पढ़ें ...

हाइलाइट्स

ब्रिज के डेक का काम पूरा होते ही जमकर आतिशबाज़ी
कुतुबमीनार से लगभग 5 गुनी ज़्यादा है ब्रिज की ऊंचाई
सितंबर महीने तक इस पर बिछा दी जाएगी पटरी

चंदन कुमार

श्रीनगर: जम्मू कश्मीर के चिनाब ब्रिज पर शनिवार को जमकर आतिशबाजी की गई. इस पर रेलवे ने तिरंगा यात्रा भी निकाली. शनिवार को इसके डेक बनाने का काम पूरा होते ही जमकर आतिशबाज़ी की गई. अब इस पर पटरी बिछाने का काम होगा. उम्मीद है कि चिनाब नदी पर बन रहा रेलवे ब्रिज़ अगले महीने तक तैयार हो जाएगा. आधे चांद की तरह दिखने वाला यह ब्रिज़ दुनिया का सबसे ऊंचा आर्च ब्रिज़ है. इसकी ऊंचाई नदी तल से 359 मीटर ऊपर है. यानी कुतुबमीनार के लगभग 5 गुनी ज़्यादा ऊंचाई पर ट्रेन चलेगी.

यह ब्रि़ज क़रीब 1300 मीटर लंबा है. चिनाब ब्रिज़ जम्मू के पौड़ी और रियासी को रेल लाइन से जोड़ देगा. उम्मीद की जा रही है कि सितंबर महीने तक इस पर पटरी भी बिछा दी जाएगी और ब्रिज़ बनकर तैयार हो जाएगा. यह ब्रिज़ दुनिया का सबसे अनोखा रेलवे ब्रिज़ है जिसपर क़रीब 100 किलोमीटर की रफ़्तार से ट्रेनें चलेंगी और यह 260 किलोमीटर की रफ़्तार वाली हवा को भी झेल सकता है. दुनिया की सबसे बेहतरीन तकनीक से बनाए जा रहे इस ब्रिज़ पर मिसाइल हमले का भी असर नहीं होगा.

इन्हीं सब ख़ासियत की वजह से क़रीब 10 बच्चे इसपर अपनी PHD भी कर रहे हैं. चिनाब ब्रिज़ USBRL यानि उधमपुर श्रीनगर बरामुला रेल लिंक का अहम हिस्सा है. फिलहार इस पर कटरा तक ट्रेनें चल रही हैं, जबकि घाटी में भी बनिहाल से बारामुला तक ट्रन चल रही है. इस रूट पर क़रीब 111 किलोमीटर के हिस्से में कटरा से बनिहाल तक काम जारी है और यह अगले साल पूरा कर लिया जाएगा. उसके बाद भारत के किसी भी हिस्से से ट्रेन सीधा कश्मीर घाटी तक जा सकेगी. इससे कश्मीर घाटी हर तक से लाभ होगा. यहां के व्यापार, टूरिज़्म और लोगों को ट्रांसपोर्टेशन का फायदा मिलेगा.

Tags: Jammu kashmir, Tiranga yatra

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर