Vidhan Sabha Election Result 2019: विधानसभा चुनाव 2019: , आंध्र, अरुणाचल, सिक्किम की विधानसभा सीटों का ये रहा हाल

Assembly elections Results 2019 Live Updates: लोकसभा चुनाव 2019 (Election Results 2019) के साथ आंध्र प्रदेश, सिक्किम, अरुणाचल प्रदेश और ओडिशा विधानसभा (Vidhan sabha) के लिए भी मतदान कराया गया था.

News18Hindi
Updated: May 24, 2019, 12:58 PM IST
Vidhan Sabha Election Result 2019: विधानसभा चुनाव 2019: , आंध्र, अरुणाचल, सिक्किम की विधानसभा सीटों का ये रहा हाल
Assembly Elections Results 2019 Live Updates: आंध्र प्रदेश, ओडिशा, अरुणाचल प्रदेश और सिक्किम विधानसभा चुनाव के नतीजे कुछ ही देर में
News18Hindi
Updated: May 24, 2019, 12:58 PM IST
Assembly elections Results 2019 Live Updates: लोकसभा चुनाव 2019 (Election Results 2019) के साथ आंध्र प्रदेश, सिक्किम, अरुणाचल प्रदेश और ओडिशा विधानसभा (Vidhan sabha) के लिए भी मतदान कराया गया था जिसके नतीजे लोकसभा चुनावों के साथ ही आ गए हैं.

हालांकि इसी बीच ओडिशा की असका विधानसभा सीट से कांग्रेस प्रत्याशी मनोज जेना पर बेहरामपुर में अज्ञात लोगों ने फायरिंग की खबर आई. फायरिंग में जेना गंभीर रूप से घायल हो गए हैं. गंभीर हालत देखते हुए जेना को भुवनेश्वर रेफर कर दिया गया है.



आंध्र प्रदेश

-आंध्र प्रदेश की 175 सीटों में से जगन मोहन रेड्डी की वाईएसआरसीपी ने 151 सीटों पर कब्जा जमाया जबकि मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू की टीडीपी 23 लोकसभा क्षेत्रों में सीमित हो गई. एक सीट जनसेना के खाते में गई.

-आंध्र प्रदेश की पुलीवेंडला सीट से जगनमोहन रेड्डी 90,110 वोटों से जीत दर्ज करने में सफल रहे.

-आंध्र प्रदेश की मंगलागिरी विधानसभा सीट से मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू के बेटे और टीडीपी प्रत्याशी नारा लोकेश को 5,337 वोटों से हार मिली.

 
Loading...

ओडिशा

-ओडिशा की 147 में से 146 सीटों के नतीजे आ गए हैं. बीजू जनता दल 112, बीजेपी 23 व कांग्रेस 9 सीटों पर जीत दर्ज करने में सफल रही. 2 सीटों अन्य के खाते में गईं.

सिक्किम

--सिक्किम की कुल 32 सीटों में से 17 सीटों पर एसकेएम ने कब्जा जमाया, जबकि 15 पर एसडीएफ बाजी मारने में सफल रही.

-पोकलोक-कमरंग सीट से एसडीएफ नेता और मुख्यमंत्री पवन चामलिंग 2,899 वोटों से जीत दर्ज करने में सफल रहे.

अरुणाचल प्रदेश

--अरुणाचल प्रदेश की कुल 60 सीटों में से 54 सीटों के नतीजे आ गए हैं.  36 सीटों पर बीजेपी ने जीत हासिल की.  4 सीटे एनपीपी, 3 कांग्रेस व 11 अन्य के खाते में गईं.

बता दें कि इन चारों राज्य सरकारों का कार्यकाल अप्रैल-मई में खत्म हो रहा था. पहले चरण में 11 अप्रैल को आंध्र प्रदेश, अरुणाचल प्रदेश और सिक्कम में लोकसभा सीटों के लिए हुए मतदान के साथ ही इन राज्यों की विधानसभा सीटों के लिए भी मतदान हुआ. ओडिशा में लोकसभा चुनाव के शुरुआती चार चरण के साथ विधानसभा सीटों के लिए भी मतदान कराया गया. इसके तहत राज्य में 11, 18, 23 और 29 अप्रैल को लोगों ने सांसदों के साथ ही विधायकों को भी चुनने के लिए वोट डाले.

ओडिशा में चार चरणों में कराया गया मतदान
ओडिशा में लोकसभा चुनाव के शुरुआती चार चरणों 11, 18, 23 और 29 अप्रैल को 147 विधानसभा सीटों वाली विधानसभा के लिए भी मतदान किया गया. विधानसभा चुनाव 2014 में नवीन पटनायक की बीजेडी ने 147 में से 117 सीटें जीतकर बंपर बहुमत हासिल किया था. वहीं, कांग्रेस को 16, बीजेपी को 10 और अन्य को 4 सीटों से संतोष करना पड़ा था. राज्य में 2017 में हुए पंचायत चुनाव में बीजेपी ने 896 जिला परिषद में 297 पर जीत हासिल की, जबकि 2012 में बीजेपी को सिर्फ 36 जिला परिषदों पर ही जीत मिली थी.

आंध्र प्रदेश की 175 सीटों पर एक चरण में हुआ मतदान
आंध्र प्रदेश विधानसभा में कुल 175 सीटें हैं. इस बार आंध्र की सभी 175 विधानसभा सीटों पर लोकसभा चुनाव के पहले चरण यानी 11 अप्रैल को मतदान हुआ था. 2014 में हुए आंध्र प्रदेश विधानसभा चुनाव में टीडीपी ने 115 और वाईएसआर कांग्रेस ने 70 सीटों पर जीत हासिल की थी.

अरुणाचल प्रदेश की 57 विधानसभा सीटों पर थे प्रत्याशी
अरुणाचल प्रदेश की 60 सदस्यीय विधानसभा में 57 सीटों के लिए 11 अप्रैल को मतदान हुआ. राज्य में 184 प्रत्याशी मैदान में थे. अरुणाचल की तीन विधानसभा सीटों पर बीजेपी के उम्मीदवार निर्विरोध जीत चुके हैं. यहां करीब 30 फीसदी हिंदू, 13 फीसदी बौद्ध और 19 फीसदी ईसाई हैं. पिछले दो दिन से अरुणाचल काफी चर्चा में है. 21 मई को संदिग्ध नेशनल सोशलिस्ट काउंसिल ऑफ नगालैंड-इशाक मुइवा (एनएससीएन-आइएम) के उग्रवादियों ने खोनसा पश्चिम सीट से विधायक तिरोंग अबोह और 10 अन्य की गोली मारकर हत्या कर दी थी. मृतकों में विधायक के बेटे समेत उनके चार परिजन शामिल थे. इसके बाद 22 मई को 500 नकाबपोश हमलावरों ने कोलोरियांग में पुनर्मतदान कराने जा रहे चुनाव अधिकारियों से ईवीएम लूट लीं.

सिक्किम डेमोक्रेटिक फ्रंट ने 2014 में जीती थीं 22 सीटें
सिक्किम विधानसभा की 32 सीटों के लिए 11 अप्रैल को पहले चरण में मतदान हुआ. यहां क्षेत्रीय दल सिक्किम डेमोक्रेटिक फ्रंट (SDF) के पवन कुमार चामलिंग साल 1994 से लगातार मुख्यमंत्री हैं. इस बार उनका मुकाबला उनकी ही पार्टी से अलग होकर पार्टी बनाने वाले सिक्किम क्रांतिकारी मोर्चा (SKF) के प्रेम सिंह तमांग से था. दोनों ही पार्टियों ने राज्य की सभी 32 सीटों पर प्रत्याशी उतारे. विधानसभा चुनाव 2014 में सिक्किम डेमोक्रेटिक फ्रंट ने 22 सीटों पर जीत हासिल की थी.

EVM-VVPAT मामला: विपक्षी दलों की बैठक में दिखा कन्फ्यूज़न, शिकायत लेकर पहुंचे चुनाव आयोग

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स 
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...