Assembly Banner 2021

विजय माल्या ने कोर्ट से कहा, मुझे भगोड़ा अपराधी घोषित करना आर्थिक मृत्युदंड देने जैसा

विजय माल्या ने कोर्ट से कहा, मुझे भगोड़ा अपराधी घोषित करना आर्थिक मृत्युदंड देने जैसा

विजय माल्या ने कोर्ट से कहा, मुझे भगोड़ा अपराधी घोषित करना आर्थिक मृत्युदंड देने जैसा

वकील अमित देसाई ने न्यायमूर्ति रंजीत मोरे और न्यायमूर्ति भारती डांगरे की पीठ के समक्ष विजय माल्या की ये बात रखी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 24, 2019, 7:41 PM IST
  • Share this:
शराब करोबारी विजय माल्या पर कोर्ट का शिकंजा कसता जा रहा है. इसी बीच विजय माल्या ने बॉम्बे हाईकोर्ट से कहा है कि सीबीआई की विशेष अदालत की ओर भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित करना और उसकी संपत्ति को कुर्क करने की अनुमति देना आर्थिक रूप से मृत्युदंड देने का जैसा है.

वकील अमित देसाई ने न्यायमूर्ति रंजीत मोरे और न्यायमूर्ति भारती डांगरे की पीठ के समक्ष विजय माल्या की ये बात रखी. माल्या ने वकील के हवाले से कहा कि कर्ज पर मेरा लोन और ब्याज लगातार बढ़ रहा है. मेरे पास अपने कर्ज को चुकाने के लिए संपत्ति है लेकिन सरकार ने कर्ज चुकाने के लिए इन संपत्तियों के इस्तेमाल की अनुमति नहीं दी. मेरी संपत्ति पर अब मेरा नियंत्रण नहीं है. माल्या के वकील ने कहा कि भारत में मेरे खिलाफ जिस तरह से कार्रवाई हो रही है उससे लगता है जैसे मुझे आर्थिक मृत्युदंड दिया गया है.

इसे भी पढ़ें :- विजय माल्या को बड़ा झटका! पहली बार 1000 करोड़ रुपये की संपत्ति बेचने को कोर्ट की मंजूरी



गौरतलब है कि भगोड़े शराब कारोबारी विजय माल्या ने आर्थिक तंगी से जूझ रही प्राइवेट एयरलाइंस जेट एयरवेज को मदद नहीं मिलने पर अफसोस जताया है. माल्या ने कहा, 'मैं अपने प्रस्ताव को फिर से दोहराता हूं कि बैंकों का पूरा कर्ज़ चुका दूंगा. लेकिन मीडिया कह रही हैं कि मुझे यूके से भारत प्रत्यर्पित किए जाने का डर है. मैं किसी भी तरह से भुगतान करने को तैयार हूं, चाहे मैं लंदन में हूं या भारतीय जेल में हूं.'
इसे भी पढ़ें :- जेट को लेकर 'दुखी' विजय माल्या, कहा- मैं जेल जाकर भी चुकाऊंगा कर्ज़

आपको बता दें कि इससे पहले भी माल्या ने ट्वीट कर कहा था कि सरकारी बैंकों को मुझसे रकम ले लेनी चाहिए ताकि वे जेट एयरवेज की मदद कर सकें. विजय माल्या ने ट्वीट कर कहा है, 'मैंने किंगफिशर में बहुत निवेश किया. इससे वह भारत की सबसे बड़ी और सबसे ज्यादा अवार्ड पाने वाली एयरलाइंस बन गई. ऐसा करने के लिए किंगफिशर ने सरकारी बैंकों से कर्ज लिया. मैं 100 फीसदी कर्ज चुकाने का प्रस्ताव दे चुका हूं. लेकिन इसके बदले मुझे अपराधी घोषित कर दिया गया है. यहीं एयरलाइंस कर्म है.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज