बूंदी: ग्राम विकास अधिकारी ने टीचर पर लगाया बिस्‍कुट चोरी का आरोप, शिक्षक हुए नाराज

बूंदी: ग्राम विकास अधिकारी ने टीचर पर लगाया बिस्‍कुट चोरी का आरोप, शिक्षक हुए नाराज
विवाद को संभालने के लिए राजस्‍थान के शिक्षा राज्‍यमंत्री को आगे आना पड़ा.

शिक्षकों (Teachers) की बढ़ती नाराजगी और स्थिति को संभालने के लिए राजस्‍थान (Rajasthan) के शिक्षा राज्‍यमंत्री को आगे आना पड़ा.

  • Share this:
बूंदी. राजस्थान (Rajasthan) के बूंदी (Bundi) जिले की हिंडोली पंचायत समिति के छाबड़ियों का नयागांव ग्राम पंचायत में हुई मामूली बात से प्रदेश भर के शिक्षक नाराज हो गए हैं. शिक्षकों की बढ़ती नाराजगी को देख खुद शिक्षा मंत्री को स्थिति संभालने के लिए आगे आना पड़ा. शिक्षा मंत्री ने एक वीडियो जारी कर बूंदी जिला कलेक्टर को कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं. दरअसल, पूरा हंगामा एक शिक्षक पर बिस्‍कुट चोरी करने के आरोप के साथ शुरू हुआ था. नया गांव के ग्राम विकास अधिकारी ने शिक्षक पर यह आरोप लगाया था.

ग्राम विकास अधिकारी ने सिर्फ बिस्‍कुट चोरी करने का ही आरोप नहीं लगाया बल्कि हिंडोली पंचायत समिति के विकास अधिकारी को पत्र लिखकर कार्रवाई करने की भी बात कही थी. जानकारी के अनुसार, राजीव गांधी सेवा केंद्र में कंट्रोल रूम संचालित हो रहा है, जिसमें ड्यूटी दे रहे सरसोद राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय के एक शिक्षक अशोक स्वर्णकार ने अलमारी में रखे बिस्‍कुट निकाल कर खा लिए. ये बिस्‍कुट के पैकेट हिंडोली तहसील कार्यालय ने राशन सामग्री में वितरण करने के लिए दिए थे, ताकि कोई मासूम बिना बिस्‍कुट न रहे.

वहीं, जब इस बाबत ग्राम विकास अधिकारी राम लक्ष्मण चोबदार को पता चला तो उन्‍होंने इसकी शिकायत पंचायत समिति के विकास अधिकारी को करते हुए कार्रवाई की मांग कर डाली. यहां तक कि इसे शिक्षक की अनुशासनहीनता और शिष्टाचारहीन कृत्य माना. वहीं, आरोपित शिक्षक ने अपनी सफाई में बताया कि उसने दवाई लेने के लिए यह बिस्‍कुट खाना पड़ा. ग्राम विकास अधिकारी द्वारा किए गए पत्र व्यवहार को लेकर सूबे के सभी शिक्षकों ने गहरी नाराजगी जाहिर की है.



शिक्षा राज्यमंत्री ने कार्रवाई को बताया शर्मनाक



शिक्षा राज्य मंत्री गोविनंद सिंह डोटासरा ने कहा कि एक ग्राम विकास अधिकारी ने एक टीचर को बिस्‍कुट के दो पैकेट अलमारी से लेने के लिए नोटिस दे दिया, यह शर्मनाक है, कतई उचित नहीं है. इस धरती पर कोई भी ऐसा व्यक्ति नहीं होगा, जो चोरी की नीयत से बिस्‍कुट ले. उन्‍होंने कहा कि मैं समझता हूं कि ऐसे लोगों को वहां के विकास अधिकारी को और वहां के कलेक्टर को उनको डांटना चाहिए. ग्राम विकास अधिकारी को अधिकार नहीं है कि इस प्रकार की बात करें और नोटिस दें.

दोनो पक्षों में हुआ समझौता
इधर, राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय छाबड़ियों का नयागांव स्कूल के प्रधानाचार्य पीईओ गिरिराज सिंह ने समझौता वार्ता का एक पत्र जारी कर खेद व्यक्त किया है. पत्र में कहा गया है कि ग्राम विकास अधिकारी द्वारा भी इस मामले में खेद जताते हुए कहा गया है कि मैं व्यक्तिगत रूप से शिक्षकों का सम्मान करता हूं. भावेश में आकर मेरे द्वारा शिक्षक अशोक स्वर्णकार के विरुद्ध विकास अधिकारी को लिखे पत्र पर भी खेद प्रकट करता हूं.

यह भी पढ़ें: 

COVID-19: राजस्थान में कोरोना से 12वीं मौत, 29 नए पॉजिटिव केस आए सामने

COVID-19: क्‍वारेंटाइन सेंटर्स को HC में चुनौती, गाइड लाइन के उल्लंघन का आरोप
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading