Home /News /nation /

मशहूर बेली डांसर और TikTok स्टार समा को 3 साल की जेल, अश्लीलता फैलाने का आरोप

मशहूर बेली डांसर और TikTok स्टार समा को 3 साल की जेल, अश्लीलता फैलाने का आरोप

मिस्र की मशहूर बेली-डांसर समा-एल मासरी (Sama el-Masry) को इन्स्टाग्राम और टिकटॉक के जरिए अश्लीलता फैलाने के जुर्म में तीन साल की जेल और करीब 14 लाख रुपये के जुर्माने की सजा दी गई है.

मिस्र की मशहूर बेली-डांसर समा-एल मासरी (Sama el-Masry) को इन्स्टाग्राम और टिकटॉक के जरिए अश्लीलता फैलाने के जुर्म में तीन साल की जेल और करीब 14 लाख रुपये के जुर्माने की सजा दी गई है.

मिस्र की मशहूर बेली-डांसर समा-एल मासरी (Sama el-Masry) को इन्स्टाग्राम और टिकटॉक के जरिए अश्लीलता फैलाने के जुर्म में तीन साल की जेल और करीब 14 लाख रुपये के जुर्माने की सजा दी गई है.

    काहिरा. मिस्र (Egypt) में पत्रकारों के खिलाफ सरकारी कार्रवाई की कई घटनाओं के बाद अब महिलाओं के लिए इन्स्टाग्राम (Instagram) और टिकटॉक (TikTok) जैसे सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म पर तस्वीरें और वीडियो दालान भी गुनाह की श्रेणी में आ गया है. मिस्र की मशहूर बेली-डांसर समा-एल मासरी (Sama el-Masry) को भी इसी जुर्म के तहत तीन साल की जेल और करीब 14 लाख रुपये के जुर्माने की सजा दी गई है. उन्हें इन्स्टाग्राम और टिकटॉक के जरिए अश्लीलता फैलाने के जुर्म में दोषी करार दिया गया है.

    मिस्र की एक अदालत ने समा-एल मासरी के सोशल मीडिया पोस्ट्स अश्लील करार देते हुए उन्हें व्यभिचार और अनैतिक आचरण ने मामले में दोषी पाया है. बता दें कि समा को अप्रैल में उनके सोशल मीडिया पोस्ट्स, फोटोज और वीडियो की जांच के बाद गिरफ्तार किया गया था. उनके कॉन्टेंट को उत्तेजक मानते हुए यह सजा सुनाई गई है. वहीं, समा का कहना है कि वह इस आदेश के खिलाफ अपील करेंगी. समा का टिक-टॉक अकाउंट भी था जो फ़िलहाल सस्पेंड है. हालांकि उनका इन्स्टाग्राम अकाउंट अभी भी चालू है जिस पर 3 मिलियन से ज्यादा फ़ॉलोवर्स हैं.

    कंटेंट चुराने का आरोप
    42 साल की डांसर समा-एल मासरी ने इन भी आरोपों का खंडन किया है. उनका कहना है कि जिस कॉन्टेंट के आधार पर उन्हें सजा सुनाई गई है वह उनके फोन से बिना उनकी इजाजत के चुराया गया है. काहिरा की एक अदालत ने शनिवार को कहा कि समा ने पारिवारिक और राष्ट्रीय मूल्यों का उल्लंघन किया है और सोशल मीडिया पर अकाउंट बनाकर उनका इस्तेमाल अनैतिक आचरण के लिए किया है. टिक-टॉक पर वीडियो अपलोड करने वाली समा और दूसरी महिलाओं के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए संसद के सदस्य जॉन तलात ने कहा कि आजादी और व्यभिचार के बीच में बहुत फर्क है.

    तलात ने कहा है कि समा और दूसरी महिला सोशल मीडिया इन्फ्लुएंसर पारिवारिक परंपराओं और मूल्यों को खत्म कर रही हैं, ऐसी गतिविधियों से जिन्हें कानून और संविधान ने बैन कर रखा है. बता दें कि बीते महीनों में कई महिलाओं को टिक-टॉक, यूट्यूब और इंस्टाग्राम का इस्तेमाल अश्लीलता फैलाने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है.

    View this post on Instagram

    وحوي يا وحوي

    A post shared by سما المصري (@samaelmasrii) on

    अदालत में इन पर व्यभिचार और देह व्यापर जैसे संगीन आरोप लगाए गए हैं. तलात ने कहा है कि उन सभी के खिलाफ ऐसी ही कार्रवाई होनी चाहिए जैसे समा के खिलाफ हुई है. साल 2018 में मिस्र में एक साइबर क्राइम कानून बनाया गया था जिसके बाद सरकार को इंटरनेट का कॉन्टेंट सेंसर करने और सर्विलांस बैठाने का पूरा अधिकार मिल गया था. इस कानून के तहत 3 साल की सजा और 14 लाख रुपये का जुर्माना हो सकता है.

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर