• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • देशभर में बुखार का प्रकोप, जानें केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने उठाए हैं क्या कदम?

देशभर में बुखार का प्रकोप, जानें केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने उठाए हैं क्या कदम?

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि कोरोना के बीच लोगों को इन बीमारियों से भी बचाना है. (सांकेतिक तस्वीर-AP)

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि कोरोना के बीच लोगों को इन बीमारियों से भी बचाना है. (सांकेतिक तस्वीर-AP)

स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण (Rajesh Bhushan) ने कहा है कि जब भी बरसात होती है पानी ठहर जाता है. ऐसी स्थिति में डेंगू फैलता है. हर साल राज्यों में ऐसी शिकायतें आती हैं. भारत सरकार की ओर से भी समय-समय गाइडलाइंस जारी की जाती हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

नई दिल्ली. कोरोना महामारी की तीसरी लहर (Covid-19 Third Wave) के खतरे के बीच इस वक्त देश में वायरल बुखार (Viral Fever) और मौसमी बीमारियों का प्रकोप फैला हुआ है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने इस पर प्रतिक्रिया दी है. स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने कहा है कि जब भी बरसात होती है पानी ठहर जाता है. ऐसी स्थिति में डेंगू फैलता है. हर साल राज्यों में ऐसी शिकायतें आती हैं. भारत सरकार की ओर से भी समय-समय गाइडलाइंस जारी की जाती हैं.

राजेश भूषण ने कहा है कि देश को कोविड महामारी से संभालना है और इन बीमारियों से भी बचाना है. उन्होंने कहा- ‘राज्यों से नेशनल वेक्टर बॉर्न डिजीज कंट्रोल रूम के लिए डेटा कलेक्ट किया जाता है और उनका आकलन किया जाता है. हर साल की तरह इस साल भी जून और अगस्त में राज्यों का ध्यान आकर्षित किया गया है. दिल्ली, यूपी, असम, बंगाल में ये शिकायतें आई हैं. इन बीमारियों का लक्षणों के आधार पर इलाज किया जाता है. हमें कोविड और इस समस्या दोनों को लेकर काम करना होगा.’

मिजोरम में कोरोना की स्थिति चिंताजनक, देश के लिए अगले दो तीन महीने महत्वपूर्ण
वहीं कोरोना को लेकर कोविड टास्क फोर्ड के हेड वीके पॉल ने कहा- ‘देशभर में कोविड की स्थिति अब स्थिर हो रही है लेकिन मिजोरम चिंता का विषय बन गया है. आने वाले तीन महीने बहुत जरूरी हैं, जब त्योहार का मौसम आएगा. विशेष तौर पर अक्टूबर और नवंबर. अभी स्थिति स्थिर है तो इसे बरकरार रखना होगा. लोगों को भीड़ वाली जगहों पर जाने से बचना चाहिए और राज्यों को आपात स्थिति के लिए तैयार रहना चाहिए.’

केरल में देश के 68 फीसदी एक्टिव केस
वहीं वैक्सीनेशन के बारे में जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि 62 प्रतिशत वयस्क आबादी को कम के कम पहला डोज लगाया जा चुका है. अगर कोरोना मामलों की बात करें तो इस वक्त पूरे देश के एक्टिव केस में 68 फीसदी हिस्सा केरल का है. राज्य में इस वक्त 1.99 लाख एक्टिव केस हैं. वहीं मिजोरम, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, तमिलनाडु, महाराष्ट्र में 10 हजार से ज्यादा एक्टिव केस हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज