• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • जानलेवा बुखार! यूपी से बंगाल तक डेंगू और वायरल का कहर, 100 से ज्यादा बच्चों की मौत

जानलेवा बुखार! यूपी से बंगाल तक डेंगू और वायरल का कहर, 100 से ज्यादा बच्चों की मौत

हरियाणा के पलवल जिले के चिल्ली गांव में पिछले एक पखवाड़े के दौरान बुखार और अन्य बीमारी से छह बच्चों की मौत हो ग(प्रतीकात्मक तस्वीर)

हरियाणा के पलवल जिले के चिल्ली गांव में पिछले एक पखवाड़े के दौरान बुखार और अन्य बीमारी से छह बच्चों की मौत हो ग(प्रतीकात्मक तस्वीर)

Viral Fever: पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद मेडिकल कॉलेज और अस्पताल में भी फिलहाल 94 बच्चे भर्ती हैं. उधर हरियाणा के पलवल जिले के चिल्ली गांव में पिछले एक पखवाड़े के दौरान बुखार और अन्य बीमारियों से छह बच्चों की मौत हो गई.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    नई दिल्ली. कोरोना के साथ-साथ देश को इस वक्त दूसरी बीमारियों का भी कहर झेलना पड़ रहा है. चिंता की बात ये है कि बड़ी संख्या में बच्चे वायरल बुखार (Viral Fever) का शिकार हो रहे हैं. उत्तर प्रदेश से लेकर बिहार, पश्चिम बंगाल और हरियाणा हर जगह बड़ी संख्या में बच्चों को बुखार के चलते अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा रहा है. इन सारे राज्यों में कुल मिलाकर अब तक सौ से ज्यादा बच्चों की मौत हो गई है. वायरल और डेंगू की मौत के आंकड़े ने लखनऊ से लेकर दिल्ली तक के स्वास्थ्य विभाग को हिला कर रख दिया है.

    फिरोजाबाद में लगातार बढ़ रहे हैं मामले
    लखनऊ स्वास्थ्य विभाग की ओर से फिरोजाबाद के लिए मेरठ और गाजियाबाद सहित कई जिलों से डॉक्टरों की 5 टीमें पहुंचेंगी. फिरोजाबाद में वायरल और डेंगू से मौतों का आंकड़ा थमने का नाम नहीं ले रहा. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मौतों का संज्ञान लेते हुए खुद फिरोजाबाद आए और मृतक बच्चों के परिजनों के साथ मेडिकल कॉलेज में भर्ती बच्चों से मिलकर उनका हाल जाना. हालांकि मुख्यमंत्री के जाने के बाद फिरोजाबाद की मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) को लापरवाही के आरोप में तत्काल हटा दिया गया. वही अधिकारियों ने नगर निगम की भारी लापरवाही होने के बाद भी उस पर कोई एक्शन नहीं नहीं लिया.

    बच्चे हो रहे हैं शिकार
    मरने वालों में सबसे ज्यादा संख्या 0 से 5 वर्ष तक की बच्चियों की है, जिनकी संख्या 10 है. वही 10 से 15 वर्ष के 10 नाबालिग बच्चों की मौत हो चुकी है. साथ ही वयस्कों में एक पुरुष और 6 महिलाओं की मौत ने जनपद को हिला कर रख दिया है . मेडिकल कॉलेज के 100 बेड वाले अस्पताल का आलम है कि यहां 425 बच्चे अभी भी भर्ती हैं और वयस्क मरीजों की संख्या लगभग 200 बताई जा रही है.

    ये भी पढ़ें:- दिल्‍ली के नजफगढ़ में फाइनेंसर की दौड़ा-दौड़ा कर हत्‍या, 7-8 गोली मारकर किया छलनी, जानें पूरा मामला

    पश्चिम बंगाल में अज्ञात बुखार का कहर
    उधर पश्चिम बंगाल के अलग-अलग हिस्सों में लगातार अज्ञात बुखार के मामले सामने आ रहे हैं. इसी क्रम में पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद मेडिकल कॉलेज और अस्पताल में भी फिलहाल 94 बच्चे भर्ती हैं. मुर्शिदाबाद मेडिकल कॉलेज के एमएसवीपी ओमियो कुमार बेरा ने बताया कि 2 दिन पहले भर्ती हुए बच्चों की संख्या ज्यादा थी लेकिन धीरे-धीरे इनकी संख्या कम हो रही और फिलहाल 94 बच्चे अस्पताल में भर्ती हैं.

    हरियाणा में बुखार का कहर
    हरियाणा के पलवल जिले के चिल्ली गांव में पिछले एक पखवाड़े के दौरान बुखार और अन्य बीमारियों से छह बच्चों की मौत हो गई. अधिकारियों ने यह जानकारी देते हुए बताया कि किसी भी बच्चे की मौत डेंगू या कोविड-19 से नहीं हुई है. एक अधिकारी ने बताया कि इनके अलावा एक बच्चे की ‘दूध’ नहीं मिलने की वजह से घर में मौत हो गई और इस मौत का बीमारी से कोई लेना-देना नहीं है.’ पलवल के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर ब्रह्मदीप ने बताया कि जिन छह बच्चों की मौत हुई है, उनकी उम्र 10 साल से कम है. अधिकारी ने बुधवार को गांव का निरीक्षण किया था.

    बिहार में भी डेंगू  के मामले
    बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि प्रदेश में डेंगू के अब तक 10 मामले सामने आए हैं. जनता दरबार में मुख्यमंत्री कार्यक्रम के बाद पत्रकारों से मुख्यमंत्री कुमार ने कहा कि डेंगू के संबंध में दो दिन पहले उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के साथ समीक्षा बैठक की है. सारण में एक और गोपालगंज में डेंगू के नौ मामले सामने आए हैं. उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस से बचाव को लेकर सभी कार्य किये जा रहे हैं. वायरल बुखार से बच्चों के प्रभावित होने को लेकर स्वास्थ्य विभाग के साथ समीक्षा कर अधिकारियों को आवश्यक कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज