Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    Viral Video: कृषि बिल का विरोध करने वाले कपिल सिब्बल, पहले इसके समर्थन में क्या कह रहे थे!

    लोकसभा में कपिल सिब्बल के एक भाषण का विडियो वायरल हो रहा है. (फाइल फोटो)
    लोकसभा में कपिल सिब्बल के एक भाषण का विडियो वायरल हो रहा है. (फाइल फोटो)

    यूपीए सरकार (UPA Government) में मंत्री रहे कपिल सिब्बल (Kapil Sibal) का एक वीडियो वायरल (Viral Video) हो रहा है. इस वीडियो को बीजेपी सांसद राजीव चंद्रशेखर ने भी अपनी ट्विटर वॉल पर शेयर किया है. हालांकि न्यूज18 इस वीडियो की सत्यता की पुष्टि नहीं करता है.

    • News18Hindi
    • Last Updated: September 21, 2020, 7:50 PM IST
    • Share this:
    नई दिल्ली. कृषि बिल (Farm Bills) को लेकर विरोध के बीच कांग्रेस (Congress) अपने ही पुराने दावों और वादों की वजह से घिर रही है. अब यूपीए सरकार  (UPA Government) में मंत्री रहे कपिल सिब्बल (Kapil Sibal) का एक वीडियो वायरल हो रहा है. इस वीडियो को बीजेपी सांसद राजीव चंद्रशेखर ने भी अपनी ट्विटर वॉल पर शेयर किया है. हालांकि इस वीडियो में यह स्पष्ट नहीं हो रहा है कि कपिल सिब्बल किस संबंध में बात कर रहे हैं लेकिन वो किसानों की समस्या को लेकर चर्चा कर रहे हैं. और करीब वैसे ही तर्क दे रहे हैं जैसे बीजेपी द्वारा पास कराए गए कृषि बिल में हैं. हालांकि न्यूज18 इस वीडियो की सत्यता की पुष्टि नहीं करता है.

    इस वीडियो में कपिल सिब्बल कहते नजर आ रहे हैं- 'जब किसान बोता है और फसल बेचने जाता है तो उसके पास कोई मार्केट नहीं होता. उसको मालूम नहीं कि किस मार्केट जाना है. अगर मंडी जाता है तो 35 से 40 प्रतिशत सामान खराब हो जाता है. और इसी बीच में 8 लोग कमीशन एजेंट होते हैं. जो माल मार्केट में बिकता है, उसका केवल 15 से 17 प्रतिशत किसान तक पहुंचता है.' इसके बाद भी कपिल सिब्बल बिचौलिए के खिलाफ कई तर्क देखे जा सकते हैं.


    गौरतलब है कि कृषि विधेयक को लेकर बीजेपी को घेरने की कोशिश में जुटी कांग्रेस खुद अपने ही मेनिफेस्टो को लेकर घिर गई है. सबसे पहले तो खुद कांग्रेस के ही निष्कासित नेता संजय झा ने ट्वीट कर पार्टी को घेरा है. झा ने ट्वीट किया है- 'दोस्तों, 2019 लोकसभा इलेक्शन के मेनिफेस्टो में हमने (कांग्रेस) खुद APMC Act खत्म करने और खाद्य उपज को प्रतिबंधों से मुक्त करने की बात की थी. मोदी सरकार ने कृषि विधेयक में कुछ ऐसा ही किया है. इस जगह पर कांग्रेस और बीजेपी की सोच एक जैसी ही है.' अगर यूपीए 2 की सरकार की तरफ देखें तो पी चिदंबरम और जयराम रमेश जैसे कई नेता फ्री मार्केट के आइडिया को लेकर खुले हुए थे.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज