Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    क्या वाकई पाकिस्तान की संसद में लगे थे 'मोदी-मोदी' के नारे? झूठा है सोशल मीडिया का दावा

    पाकिस्तान संसद के डिप्टी स्पीकर कासिम सूरी. वायरल वीडियो में कासिम वोटिंग कहते सुनाई दे रहे हैं (फोटो: Youtube)
    पाकिस्तान संसद के डिप्टी स्पीकर कासिम सूरी. वायरल वीडियो में कासिम वोटिंग कहते सुनाई दे रहे हैं (फोटो: Youtube)

    दावा किया गया था कि पाकिस्तान की संसद (Pakistan Parliament) में मोदी समर्थन (Pro Modi Slogans) के नारे लगाए गए हैं. हालांकि, जब मामले की जांच की गई तो दावा झूठा साबित हुआ. पाक संसद में मौजूद सदस्य विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी (Shah Mahmood Qureshi) की बात का विरोध कर रहे थे.

    • News18Hindi
    • Last Updated: October 30, 2020, 2:08 PM IST
    • Share this:
    नई दिल्ली. पाकिस्तान की संसद में पाकिस्तान मुस्लिम लीग-एन के नेता सरदार अयाज सादिक (Sardar Ayaz Sadique) के बयान के वीडियो की शेयरिंग जारी है. ऐसे में सोशल मीडिया पर एक और वीडियो शेयर किया जा रहा है, जिसमें दावा किया जा रहा है कि पाकिस्तान की संसद में 'मोदी-मोदी' (Modi-Modi) के नारे लगाए गए. इतना ही नहीं कई न्यूज वेबसाइट और पत्रकारों ने इस वीडियो को शेयर किया. हालांकि, जब मामले की पड़ताल हुई तो दावा गलत साबित हुआ.

    क्या था मामला
    सोमवार को कई प्रतिष्ठित मीडिया संस्थानों ने पाकिस्तान की संसद का एक वीडियो शेयर किया था. इन सभी वीडियो में दावा किया गया था कि संसद में मौजूद लोग भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) के नाम के नारे लगा रहे हैं.







    गलत निकला दावा
    जब मामले की जांच की गई तो सोशल मीडिया पर पत्रकारों का दावा गलत साबित हुआ. शेयर किए जा रहे वीडियो में पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी नजर आ रहे हैं. हमने जब वीडियो होस्टिंग यूट्यूब पर कीवर्ड्स 'shah mehmood qureshi speech in parliament' के जरिए सर्च किया तो प्लेटफॉर्म 24 न्यूज एचडी का 26 अक्टूबर को पोस्ट किया हुआ एक वीडियो मिला.



    वीडियों में संसद में हंगामा सुनाई दे रहा है और पाकिस्तान संसद के डिप्टी स्पीकर कासिम सूरी बार-बार यह कहते हुए सुनाई दे रहे हैं 'वोटिंग सब कुछ होगा सब कुछ होगा सब्र रखें.' इससे यह साफ हो रहा है कि संसद में 'वोटिंग' का जिक्र हो रहा था. जब हमने ऑडियो को ध्यान से सुना तो पता चला कि विपक्ष के नेता 'वोटिंग-वोटिंग' का नारा लगा रहे हैं.

    इसके अलावा फैक्ट चैक वेबसाइट बूम लाइव से बातचीत में पाकिस्तान के अखबार डॉन के संपादक मोहम्मद उमर हयात ने भी इस दावे को खारिज किया है. उन्होंने कहा, 'विपक्ष के सदस्य वोटिंग वोटिंग का नारा लगा रहे थे.' उन्होंने बताया, 'पाकिस्तान संसद में किसी से भी मोदी समर्थन के नारों की उम्मीद करना अवास्तविक है. यह उनकी खुद की राजनीति के खिलाफ है.'
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज