Home /News /nation /

विशाखापट्टम में मछुआरों के जाल में फंसी दुनिया की सबसे बड़ी मछली, वन विभाग ने ऐसे बचाया

विशाखापट्टम में मछुआरों के जाल में फंसी दुनिया की सबसे बड़ी मछली, वन विभाग ने ऐसे बचाया

DFO ने बताया कि वन विभाग के अधिकारियों, मछुआरों और वन्यजीवों के संरक्षण में काम करने वालों ने शार्क को समुद्र तक वापस पहुंचाया. (प्रतीकात्मक तस्वीर-shutterstock.com)

DFO ने बताया कि वन विभाग के अधिकारियों, मछुआरों और वन्यजीवों के संरक्षण में काम करने वालों ने शार्क को समुद्र तक वापस पहुंचाया. (प्रतीकात्मक तस्वीर-shutterstock.com)

Shark in Fish Net: अधिकारी ने कहा, 'अब पहचान के लिए शार्क की तस्वीरें मालदीव के व्हेल शार्क रिसर्च प्रोग्राम के साथ साझा की जा रही हैं. यह हमें इनकी गतिविधियों और क्षेत्रों को समझने में मदद करेंगी.' उन्होंने कहा, 'ऐसे स्थिति होने पर बचाव औऱ सुरक्षित वापसी के लिए वन विभाग तक पहुंचने की सलाह दी गई है. क्योंकि इस तरह के ऑपरेशन्स में समय जरूरी होता है. अगर व्हेल शार्क मछली पकड़ने के जाल में फंस जाती हैं, तो मछुआरों को मछली पकड़ने के जाल में नुकसान होने मुआवजा दिया जाएगा.'

अधिक पढ़ें ...

    विशाखापट्टनम. आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh) के विशाखापट्टनम (Visakhapatnam) स्थित तंताड़ी बीच पर एक विशाल व्हेल शार्क (Whale Shark) मछली पकड़ने के जाल में फंस गई. इसके बाद स्थानीय मछुआरों ने ‘दुनिया की सबसे बड़ी मछली’ को बचाया. इस बात की जानकारी जिला वन अधिकारी अनंत शंकर ने दी है. उन्होंने बताया कि यह एक व्हेल शार्क है औऱ इनकी प्रजाती लुप्त होती जा रही है. DFO ने बताया कि वन विभाग के अधिकारियों, मछुआरों और वन्यजीवों के संरक्षण में काम करने वालों ने शार्क को समुद्र तक वापस पहुंचाया.

    उन्होंने बताया, ‘DFO की तरफ से निर्देश साफ थे. खर्च औऱ प्रयासों की चिंता की बगैर व्हेल शार्क को सुरक्षित वापस पहुंचाया जाए. इस 2 टन वजनी मछली को समुद्र में जिंदा वापस पहुंचाने में वन विभाग, मछुआरों और वन्यजीव संरक्षणवादियों के बीच गजब के समन्वय और सहयोग के साथ जो हुआ वह शारीरिक और मानिसक प्रयास थे. और यह सफल रहा. व्हेल शार्क सफलतापूर्वक समुद्र की गहराई में तैरकर चली गई.’

    अधिकारी ने कहा, ‘अब पहचान के लिए शार्क की तस्वीरें मालदीव के व्हेल शार्क रिसर्च प्रोग्राम के साथ साझा की जा रही हैं. यह हमें इनकी गतिविधियों और क्षेत्रों को समझने में मदद करेंगी.’ उन्होंने कहा, ‘ऐसे स्थिति होने पर बचाव औऱ सुरक्षित वापसी के लिए वन विभाग तक पहुंचने की सलाह दी गई है. क्योंकि इस तरह के ऑपरेशन्स में समय जरूरी होता है. अगर व्हेल शार्क मछली पकड़ने के जाल में फंस जाती हैं, तो मछुआरों को मछली पकड़ने के जाल में नुकसान होने मुआवजा दिया जाएगा.’

    Tags: Visakhapatnam, Whale shark

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर