• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • Vizag Gas Leak: सुब्रह्मण्यम स्वामी ने जताई आशंका- कहीं ये साजिश तो नहीं

Vizag Gas Leak: सुब्रह्मण्यम स्वामी ने जताई आशंका- कहीं ये साजिश तो नहीं

सुब्रमण्यम स्वामी ने सुशांत केस की सीबीआई जांच की मांग की.

सुब्रमण्यम स्वामी ने सुशांत केस की सीबीआई जांच की मांग की.

Vizag Gas Leak: सुब्रह्मण्यम स्वामी (Subramanian Swamy) ने ट्वीट किया, 'विशाखापट्टनम गैस लीक मामले की सभी एंगल से जांच होनी चाहिए.'

  • Share this:
    नई दिल्‍ली. आंध्र प्रदेश के विशाखापट्टनम में पॉलिमर इंडस्ट्री (LG Polymers Industry) में जहरीली गैस का रिसाव होने से अब तक 11 लोगों की मौत हो चुकी है. जबकि कई लोग गंभीर हालत में वेंटिलेटर पर हैं. आस-पड़ोस के गांवों को खाली कराया गया है. इस घटना पर राज्‍यसभा सांसद सुब्रह्मण्यम स्वामी (Subramanian Swamy) ने आशंका जताई कि कहीं ये साजिश तो नहीं है.

    सुब्रह्मण्यम स्वामी ने ट्वीट किया, 'विशाखापट्टनम गैस लीक मामले की सभी एंगल से जांच होनी चाहिए.' उन्‍होंने नौसेना की परमाणु पनडुब्बियों का गायब होना और वायुसेना के विमानों का दुर्घटनाग्रस्‍त होने जैसी कुछ रहस्‍यमयी घटनाओं का जिक्र करते हुए कहा कि कुछ लोग भारत को अस्थिर करने की कोशिश कर रहे हैं.



    11 लोगों की मौत, कई अभी भी गंभीर
    बता दें कि गुरुवार सुबह एलजी पॉलीमर फैक्ट्री से स्टाइरीन गैस का रिसाव हुआ. जिसका असर का असर आसपास के लगभग 5 किलोमीटर के दायरे में आने वाले गांवों में हुआ. इस हादसे में 11 लोगों की मौत हुई जबकि 20 से 25 लोग गंभीर हालत में वेंटिलेटर पर बताए जा रहे हैं. जबकि लगभग 5000 लोग इससे प्रभावित हैं. आंध्र प्रदेश के विशाखापत्तनम में एलजी पॉलीमर फैक्ट्री से रिसी स्टाइरीन गैस के असर को खत्म करने या उसे निष्प्रभावी बनाने के लिए गुजरात के वापी शहर से तुरंत एक विशेष रसायन पीटीबीसी मौके पर रवाना किया जा रहा है.

    जिस फैक्ट्री में हुआ गैस रिसाव, वहां होता था इस चीज का निर्माण
    विशाखापत्तनम में जानलेवा स्टिरीन गैस का रिसाव जिस एलजी पॉलिमर इंडिया के कारखाने से हुआ वह दक्षिण कोरिया की रसायन कंपनी एलजी केम की अनुषंगी कंपनी है. एलजी केम ने एक स्थानीय कंपनी का अधिग्रहण कर 1997 में भारत में इस क्षेत्र में कारोबार शुरू किया था.

    कंपनी के इस वाइजैग संयंत्र में पॉलीस्टिरीन (पीएस) का विनिर्माण किया जाता है, जिसका खानपान सेवा उद्योग में काफी इस्तेमाल होता है. इस रसायन का इस्तेमाल प्लास्टिक के एकबारगी इस्तेमाल वाले ट्रे और कंटेनर, बर्तन, फोम्ड कप, प्लेट और कटोरे आदि बनाने में होता है. इन्हें एक बार इस्तेमाल करने के बाद फेंक दिया जाता है.

    लॉकडाउन के बाद फैक्ट्री खोलने की हो रही थी तैयारी
    जानकार सूत्रों के अनुसार एलजी पॉलिमर इंडिया प्राइवेट लिमिटेड की विशाखापत्तनम फैक्ट्री को लॉकडाउन के बाद फिर से खोलने के लिए गुरुवार को तैयार किया जा रहा था, तभी यह दुर्घटना हुई. कंपनी के कर्मचारी परिचालन को फिर से शुरू करने की तैयारी कर रहे थे, तभी शुरुआती घंटों में गैस का रिसाव होने लगा. कहा जा रहा है कि जब रिसाव हुआ तब भंडारण टेंक में 1,800 टन स्टिरीन गैस थी. ठहराव और तापमान में बदलाव के कारण, स्टिरीन का स्वत: पॉलीमराइजेशन हो सकता है, जिसके कारण वाष्पीकरण हो सकता है.

    ये भी पढ़ें:

    Vizag Gas Leak: जिस फैक्ट्री में हुआ गैस रिसाव, वहां होता था इस चीज का निर्माण

    Vizag गैस लीक: रेफ्रिजरेटर यूनिट में तकनीकी खामी से हुआ हादसा, कंपनी पर केस

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन