अपना शहर चुनें

States

27 जनवरी को जेल से बाहर आएंगी शशिकला, पलानीस्वामी ने पार्टी में एंट्री से किया इंकार

आय से अधिक संपत्ति मामले में शशिकला को चार साल की जेल हुई थी. (फाइल फोटो)
आय से अधिक संपत्ति मामले में शशिकला को चार साल की जेल हुई थी. (फाइल फोटो)

शशिकला (V.K. Sasikala) आय से अधिक संपत्ति मामले में चार साल की सजा काटकर जेल से बाहर निकल रही हैं. इस बीच तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ई. पलानीस्वामी ने शशिकला की पार्टी में वापसी से इंकार किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 19, 2021, 11:46 PM IST
  • Share this:
चेन्नई. तमिलनाडु की पूर्व दिवंगत मुख्यमंत्री जयललिता की नजदीकी (J Jayalalithaa's aide) रहीं वीके शशिकला (V.K. Sasikala) 27 जनवरी को अपनी सजा पूरी कर बाहर आ रही हैं. वो आय से अधिक संपत्ति मामले (disproportionate assets) में चार साल की सजा काटकर जेल से रिहा हो रही हैं. इस बीच तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ई. पलानीस्वामी ने शशिकला की AIDMK (अन्नाद्रमुक) में वापसी से इंकार किया है. मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बैठक के बाद पलानीस्वामी ने पार्टी की पूर्व जनरल सेक्रेटरी शशिकला की पार्टी में वापसी से पूरी तरह इंकार कर दिया.

क्या बोले सीएम पलानीस्वामी
हिंदुस्तान टाइम्स पर प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक उन्होंने कहा- 'उन्हें (शशिकला) पार्टी में लेने का सवाल ही नहीं उठता. वो अन्नाद्रमुक पार्टी नहीं हैं.' उन्होंने इस बात से भी इंकार किया कि बीजेपी चाहती है कि शशिकला पार्टी में दोबारा वापसी करें. उन्होंने कहा कि शशिकला के समर्थक उनके भतीजे टीटीवी दिनाकरण की पार्टी AMMK के साथ हैं.

'तमिलनाडु की जनता हमारे साथ'
उन्होंने कहा-शशिकला के नाम पर कोई चर्चा नहीं है. तमिलनाडु में ज्यादातर जनता का समर्थन अन्नाद्रमुक के साथ है. कुछ लोग उनके (दिनाकरण) के साथ हैं. अम्मा (जयललिता) ने लंबे समय तक उन्हें (दिनाकरण) सत्ता से दूर रखा था.



2017 में हुई थी सजा
वहीं शशिकला के वकील राजा सेंथूर ने मंगलवार को बताया कि उन्हें बेंगलुरु जेल से आधिकारिक पत्र मिला है जिसके मुताबिक 27 जनवरी को शशिकला को रिहा कर दिया जाएगा. गौरतलब है कि शशिकला ने कभी सीधे चुनाव नहीं लड़ा लेकिन वो अन्नाद्रमुक में खासा प्रभाव रखती थीं. जयललिता की मौत के बाद कुछ समय तक पार्टी की कमान उनके हाथों में थी और वो मुख्यमंत्री बनने की तैयारी भी कर रही थीं. लेकिन फिर बाद में उन्हें पार्टी से निकाल दिया गया था. उन्हें 2017 में आय से अधिक संपत्ति मामले में सजा हुई थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज