Assembly Banner 2021

फेसबुक विवाद: अमेरिकी अखबार का एक और खुलासा, आंखी दास ने पार्टी के समर्थन में लिखा था मैसेज

 फेसबुक की इंडिया पब्लिक पॉलिसी हेड अंखी दास (फोटो- Linkedin)

फेसबुक की इंडिया पब्लिक पॉलिसी हेड अंखी दास (फोटो- Linkedin)

Facebook Controversy: 30 अगस्त को प्रकाशित एक लेख में, वॉल स्ट्रीट जर्नल ने आंखी दास के उन पोस्ट की ओर इशारा किया, जो हर बार आंतरिक रूप से एक खास पार्टी के लिए लिखे गए थे

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 31, 2020, 5:00 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारत में फेसबुक विवाद (Facebook Controversy) पर लगातार नए खुलासे हो रहे हैं. अब अमेरिकी अखबार वॉल स्ट्रीट जर्नल ने दावा किया है कि फेसबुक की इंडिया पब्लिक पॉलिसी हेड आंखी दास (Ankhi Das) ने साल 2014 में पीएम मोदी की जीत के बाद उनकी तारीफों में कई मैसेज किए थे. अखबार ने ये भी दावा किया है कि साल 2012 से लेकर 2014 के बीच उनकी तरफ से एक खास पार्टी के लिए ढेर सारे मैसेज किए गए थे. इस रिपोर्ट में बताया गया है कि आंखी दास ने चुनाव में कांग्रेस की हार को तीस साल की जमीनी मेहनत के बाद मुक्ति बताते हुए एक अलग अंदाज में पीएम नरेंद्र मोदी की तारीफ की थी.

और क्या लिखा है अखबार में
30 अगस्त को प्रकाशित एक लेख में, वॉल स्ट्रीट जर्नल ने आंखी दास के उन पोस्ट की ओर इशारा किया, जो हर बार आंतरिक रूप से बीजेपी के लिए लिखे गए थे, इससे विशेष तौर पर मोदी ने चुनावी फायदा उठाया. 2012 के अक्टूबर में, आंखी दास ने लिखा, 'हमारे गुजरात कैंपेन में कामयाबी.' फेसबुक पर एक मिलियन फॉलोअर्स होने वाले हैं. वॉल स्ट्रीट जर्नल में आगे लिखा गया है, 'इस सफलता के तुरंत बाद, मोदी को एक राष्ट्रीय नेता के रूप में पेश किया गया और पूरे देश में राष्ट्रीय कार्यालय के लिए एक अभियान शुरू किया गया. फेसबुक ने एक बार फिर प्रशिक्षण और सहायता की पेशकश की.'

ये भी पढ़ें:- CBI के लिए रिया चक्रवर्ती को गिरफ्तार करना आसान नहीं, जानें क्या है कारण
Youtube Video




आंखी दास की शिकायत
बता दें कि पिछले दिनों आंखी दास ने अपनी जान का खतरा जताते हुए दिल्ली पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है. उन्होंने अपनी शिकायत में पांच लोगों का नाम लिया है. दक्षिण और मध्य एशिया में फेसबुक की पॉलिसी डायरेक्टर आंखी दास ने यह शिकायत दर्ज कराई है. इस मामले पर पर दक्षिणी दिल्ली के डीसीपी ने कहा कि मामला साइबर सेल को सौंप दिया गया है. वहीं, फेसबुक पर सांप्रदायिक भावनाओं को भड़काने के आरोप में आंखी दास के खिलाफ छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में एक एफआईआर दर्ज की गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज