Home /News /nation /

Corona Vaccine: क्या आप पर असर कर रही है कोरोना वैक्सीन? अब इस ट्रैकर से चलेगा पता

Corona Vaccine: क्या आप पर असर कर रही है कोरोना वैक्सीन? अब इस ट्रैकर से चलेगा पता

18 अप्रैल से 15 अगस्त के बीच डेटा के अध्ययन करने पर पाया गया कि देश में दी जा रही दोनों कोविड वैक्सीन संक्रमण से बचाव और मृत्यु दर रोकने में काफी कारगर है.

18 अप्रैल से 15 अगस्त के बीच डेटा के अध्ययन करने पर पाया गया कि देश में दी जा रही दोनों कोविड वैक्सीन संक्रमण से बचाव और मृत्यु दर रोकने में काफी कारगर है.

Coronavirus Vaccine: आइसीएमआर के मुताबिक, कोरोना वैक्सीन की एक भी डोज संक्रमण को गंभीर होने से रोकता है साथ ही मृत्यु दर को रोकने में भी प्रभावशाली है.

  • News18Hindi
  • Last Updated :

    हिमानी चंदन

    कोरोना वायरस से सुरक्षित करने वाला का टीका कितना प्रभावी है इसे पता करने के लिए आइसीएमआर ने कोविड वैक्सीन ट्रैकर तैयार किया है जिसे वैक्सीन के प्रभाव और उसके असर का पता चल सके. ये कोविड वैक्सीन ट्रैकर नेशनल हेल्थ मिशन CoWin, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की कोविड इंडिया पोर्टल और आइसीएमआर टेस्टिंग डेटाबेस से डेटा लेकर उसे एनालिसिस करेगा. गुरुवार को भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (ICMR) के महानिदेशक डॉ बलराम भार्गव ने कहा, “ट्रैकर कुछ ही दिनों में स्वास्थ्य मंत्रालय की वेबसाइट पर आ जाएगा.”

    डॉ. भार्गव ने कहा कोविड वैक्सीन ट्रैकर तीन प्लेटफार्मों से डेटा का उपयोग करेगा – CoWIN (कोविड -19 वैक्सीन की बुकिंग के लिए इस्तेमाल की जाने वाली वेबसाइट), ICMR का राष्ट्रीय कोविड परीक्षण डेटाबेस और कोविड -19 इंडिया पोर्टल (स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय पर) वेबसाइट पर उपलब्ध है. उन्होंने कहा कि इस ट्रैकर के जरिए सभी आयु समूहों के बीच टीकों की प्रभावशीलता को ट्रैक किया जा सकता हैय यह कोविड -19 के कारण मृत्यु दर को खंडों में विभाजित करेगा जैसा कि गैर-टीकाकरण, एक खुराक का टीका लेने वाले लोग और दोनों डोज लेने वाले लोग.

    डॉ. भार्गव ने कहा कि वर्तमान में इस ट्रैकर पर 18 अप्रैल से 15 अगस्त तक सीमित डेटा के साथ दिखाया गया है. इससे हमें पता चला है कि 9 मई को, 28.89 प्रतिशत लोगों की मृत्यु ग्रुप के लोगों की हुई, जिनका वैक्सीनेशन नहीं हुआ है. वहीं वैक्सीन का पहला डोज लेने वाले 1.87 प्रतिशत लोगों की मौत हुई, जबकि 1.1 प्रतिशत लोगों की मृत्यु उन लोगों के समूह में हुई, जिन्हें पूरी तरह से टीका लगाया गया था.

    आइसीएमआर के कोविड वैक्सीन ट्रैकर के एनालिसिस के मुताबिक

    1- कोरोना संक्रमण से मौत के खिलाफ टीकों का सुरक्षात्मक प्रभाव है.

    2- एक डोज मृत्यु दर को रोकने में 96.6% प्रभावशाली है.
    3- वहीं वैक्सीन की दोनों डोज मृत्यु दर को रोकने में 97.5% प्रभावशाली है.
    4- वैक्सीन हर आयुवर्ग में प्रभावी पाई गई है.

    Tags: Corona vaccine, Corona Vaccine in India, Corona vaccine news, Corona Vaccine Update, Coronavirus vaccine

    अगली ख़बर