कश्मीरी नेताओं संग बैठक में बोले PM मोदी-'दिल्ली और दिल की दूरी खत्म करना चाहता हूं'

बैठक के बाद कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने बताया कि जम्मू-कश्मीर में परिसीमन, चुनाव, पूर्ण राज्य के दर्जा की बहाली, कश्मीरी पंडितों के पुनर्वास और डोमिसाइल जैसे मुद्दों पर खुली चर्चा हुई.

पीएम ने सभी नेताओं की बात सुनी और कहा की उन्हें खुशी है कि सभी ने अपनी बात बेबाक तरीके से बिना डरे कही. ये एक खुली चर्चा थी जो कश्मीर के बेहतर भविष्य के लिए थी. पीएम ने आगे कहा कि बैठक का मुख्य मुद्दा था कश्मीर में लोकतांत्रिक प्रक्रिया की बहाली था.

  • Share this:
    नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में जम्मू-कश्मीर को लेकर बुधवार को एक बैठक (PM Modi Meeting with Jammu Kashmir Leaders) हुई. पीएम मोदी की अगुवाई में करीब 4 घंटे तक चली इस बैठक में जम्मू कश्मीर के 14 राजनेताओं ने हिस्सा लिया. सर्वदलीय बैठक में प्रधानमंत्री मोदी (PM Modi) ने कहा कि वो दिल्ली की दूरी और दिल की दूरी भी मिटाना चाहते हैं. पीएम ने सभी नेताओं की बात सुनी और कहा की उन्हें खुशी है कि सभी ने अपनी बात बेबाक तरीके से बिना डरे कही. ये एक खुली चर्चा थी जो कश्मीर के बेहतर भविष्य के लिए थी. पीएम ने आगे कहा कि बैठक का मुख्य मुद्दा था कश्मीर में लोकतांत्रिक प्रक्रिया की बहाली था.

    जम्मू कश्मीर के नेताओं के साथ बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कहा कि पहली प्राथमिकता है कि डीडीसी चुनावों की तरह विधानसभा चुनाव कराना है. ये चुनाव तभी संभव हैं जब परिसिमन लागू हो जाएगा. सभी दलों इस पर सहमति दे दी. पीएम ने कहा, मैं जम्मू कश्मीर में लोकतंत्र की जड़ों को मजबूत करना चाहता हूं, ताकि राज्य के लोगों का उत्थान हो सके.



    सुरक्षा का माहौल सुनिश्चित करने की जरूरत
    पीएम मोदी ने कहा कि राजनीतिक मतभेद होंगे लेकिन सभी को राष्ट्रहित में काम करना चाहिए ताकि जम्मू-कश्मीर के लोगों को फायदा हो. उन्होंने जोर देकर कहा कि जम्मू-कश्मीर में सभी के लिए सुरक्षा और सुरक्षा का माहौल सुनिश्चित करने की जरूरत है.

    सभी पार्टियों ने की अनुच्छेद 370 पर खुली चर्चा
    बैठक के बाद कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने बताया कि जम्मू-कश्मीर में परिसीमन, चुनाव, पूर्ण राज्य के दर्जा की बहाली, कश्मीरी पंडितों के पुनर्वास और डोमिसाइल जैसे मुद्दों पर खुली चर्चा हुई. गुलाम नबी आजाद ने कहा कि लगभग 80% पार्टियों ने अनुच्छेद 370 पर बात की लेकिन मामला अदालत में विचाराधीन है. उन्होंने कहा कि हमारी मांगों में शीघ्र पूर्ण राज्य का दर्जा, लोकतंत्र बहाल करने के लिए चुनाव, कश्मीरी पंडितों का पुनर्वास, सभी राजनीतिक बंदियों को रिहा किया जाना और भूमि, रोजगार की गारंटी शामिल है.

    ये भी पढ़ेंः- चुनाव, परिसीमन... जानिए जम्मू-कश्मीर के नेताओं संग PM की बैठक में क्या-क्या हुई बात

    बैठक के बाद जम्मू-कश्मीर अपनी पार्टी के प्रमुख अल्ताफ बुखारी ने बताया कि बातचीत बहुत ही अच्छे माहौल में हुई. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने सभी नेताओं के सभी मुद्दों को सुना. पीएम ने कहा कि परिसीमन की प्रक्रिया पूरी होने के बाद चुनाव की प्रक्रिया शुरू होगी.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.