राहुल गांधी बोले- अर्थव्यवस्था के बारे में सच बताने पर BJP और मीडिया ने उड़ाया था मेरा मज़ाक

राहुल गांधी बोले- अर्थव्यवस्था के बारे में सच बताने पर BJP और मीडिया ने उड़ाया था मेरा मज़ाक
राहुल गांधी (PTI)

राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने ट्वीट करके ये बातें कही. उन्होंने लिखा- 'सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योग बर्बाद हो गई हैं. बड़ी कंपनियां दबाव में हैं. बैंक भी फाइनेंशियल क्राइसेस से जुझ रहे हैं. मैंने एक महीने पहले ही आर्थिक सुनामी को लेकर चेतावनी दी थी. तब बीजेपी वालों ने मेरा मजाक उड़ाया. मीडिया ने भी सच बोलने के लिए मेरी हंसी उड़ाई थी.'

  • Share this:
नई दिल्ली. देश पहले से ही कोरोना वायरस (Coronavirus) से जंग लड़ रहा है. अब गिरती अर्थव्यवस्था बड़ी चुनौती बनती जा रही है. लॉकडाउन के कारण अर्थव्यवस्था का पहिया थम गया है. केंद्र सरकार अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए कई कदम उठा रही है. इस बीच कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने अर्थव्यवस्था को लेकर मोदी सरकार पर निशाना साधा है. राहुल ने कहा- 'जब मैंने देश की आर्थिक सुनामी को लेकर चेताया था, तो बीजेपी ने सच बोलने के लिए मेरा मजाक उड़ाया था. मीडिया में भी इसे तवज्जो नहीं दी गई थी.'

केरल के वायानाड से सांसद राहुल गांधी ने ट्वीट करके ये बातें कही. उन्होंने लिखा- 'सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योग बर्बाद हो गई हैं. बड़ी कंपनियां दबाव में हैं. बैंक भी फाइनेंशियल क्राइसेस से जुझ रहे हैं. मैंने एक महीने पहले ही आर्थिक सुनामी को लेकर चेतावनी दी थी. तब बीजेपी वालों ने मेरा मजाक उड़ाया. मीडिया ने भी सच बोलने के लिए मेरी हंसी उड़ाई थी.'


राहुल गांधी का बयान ऐसे वक्त में आया है, जब भारतीय अर्थव्यवस्था तेजी से गिर रही है. देश का राजकोषीय घाटा बढ़कर 3.5 फीसदी हो गया है.



ये भी पढ़ें:- 15 जुलाई से देश में बिजनेस करना होगा आसान, शुरू होगी ये नई सुविधा

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने मौजूदा वित्त वर्ष में अर्थव्यवस्था में भारी गिरावट के अनुमानों को लेकर मंगलवार को दावा किया कि सरकार का आर्थिक कुप्रबंधन लाखों परिवारों को बबार्द करने वाला है, जिसे अब स्वीकार नहीं किया जाएगा. उन्होंने देश की आर्थिक विकास दर में गिरावट के पूर्वानुमान से जुड़ी कुछ खबरें शेयर करते हुए ट्वीट किया, 'भारत का आर्थिक कुप्रबंधन एक त्रासदी है जो लाखों परिवारों को बर्बाद करने वाला है. इसे अब मौन रहकर स्वीकार नहीं किया जाएगा.'

अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) की जून में जारी रिपोर्ट के अनुसार, भारत की वृद्धि दर शून्य से नीचे 4.5 प्रतिशत रहने का अनुमान जताया गया है. यह अप्रैल, 2020 में जारी IMF के अनुमान के मुकाबले 6.4 प्रतिशत अंक कम है.

ये भी पढ़ें:- कांग्रेस नेताओं की बढ़ सकती है मुश्किल, राजीव गांधी फाउंडेशन सहित तीन ट्रस्ट की होगी जांच

उधर, सरकार ने सोमवार को कहा कि अर्थव्यवस्था के विभिन्न क्षेत्रों में सुधार के संकेत दिखने लगे हैं. कोरोना वायरस संकट से प्रभावित अर्थव्यवस्था को पुनरुद्धार एवं वृद्धि के रास्ते पर लाने के लिए अनुकूल नीतिगत उपायों के साथ आने वाले समय में और तेजी से पुनरुद्धार की उम्मीद है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading