लाइव टीवी

एचडी कुमार स्वामी ने पूछा, बजट वित्त मंत्रालय के अधिकारियों ने बनाया है या आरएसएस ने?

News18Hindi
Updated: February 1, 2019, 8:35 PM IST
एचडी कुमार स्वामी ने पूछा, बजट वित्त मंत्रालय के अधिकारियों ने बनाया है या आरएसएस ने?
एचडी कुमार स्वामी (फाइल फोटो)

इस बजट में, नरेन्द्र मोदी ने किसानों को कॉटन कैंडी (बुढ़िया के बाल नाम की एक मिठाई) दी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 1, 2019, 8:35 PM IST
  • Share this:
2019 के आम चुनावों से पूर्व शुक्रवार को पेश हुए अंतरिम बजट पर तमाम विपक्षी दलों की ओर से प्रतिक्रिया आई है. इसी बीच कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमार स्वामी ने इस बजट को आएएसएस का तैयार किया बजट बताया है.

कर्नाटक के मुख्यमंत्री कुमार स्वामी ने कहा, 'मैं पूछना चाहता हूं कि यह बजट वित्त मंत्रालय के अधिकारियों ने बनाया है या फिर आरएसएस ने? इस बजट में, नरेन्द्र मोदी ने किसानों को कॉटन कैंडी (बुढ़िया के बाल नाम की एक मिठाई) दी है. जब मैंने कर्ज माफी स्कीम की घोषणा की थी, प्रधानमंत्री ने लॉलीपॉप कहकर इसका मजाक उड़ाया था. बीजेपी के दोस्तों ने इस बजट को तैयार किया है.'

बता दें कि वित्त मंत्री पीयूष गोयल शुक्रवार को मोदी सरकार के वर्तमान कार्यकाल का आखिरी बजट पेश किया. इस बजट में सरकार ने इनकम टैक्स में कोई छूट नहीं दी है. हालांकि पीयूष गोयल ने प्रस्ताव दिया कि नई सरकार बनने के बाद पूर्ण बजट में 5 लाख तक की आय पर इनकम टैक्स में छूट का ऐलान किया जाएगा. गोयल ने कहा कि साढ़े चार सालों में बीजेपी ने भ्रष्टाचार मुक्त सरकार चलाई है. उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने कमरतोड़ महंगाई की कमर तोड़ दी.

गोयल ने कहा, 'भारत दुनिया की तेजी से बढ़ती इकोनॉमी है. सरकार ने कई बड़े आर्थिक सुधार किए न्यू इंडिया के लिए कई योजनाएं शुरू की. हमारा लक्ष्य 2022 तक न्यू इंडिया बनाने कहा है. PM मोदी के नेतृत्व में भ्रष्टाचार मुक्त सरकार भारत ग्रोथ के पथ पर अग्रसर है.'

बजट को लेकर इससे पहले उस समय भ्रम की स्थिति बन गई थी जब वाणिज्य मंत्रालय ने मीडिया को भेजे एक व्हॉट्सएप संदेश में, "2019-20 के बजट को अंतरिम बजट न बताकर इसे 2019-20 के आम बजट के तौर पर बताया.’’ हालांकि, गोयल ने अपने भाषण में अंतरिम बजट शब्द का इस्तेमाल किया.

यह भी पढ़ें: बजट पर बोले पीयूष गोयल, दिशा प्रधानमंत्री ने दिखाई, हमने बस उसे कागज और योजना में उतारा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 1, 2019, 5:53 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर