PM Narendra Modi Speech: पीएम मोदी बोले- केसर का रंग हो या कहवा का स्वाद, इनका प्रसार दुनियाभर में किए जाने की जरूरत

Watch PM Narendra Modi Live Speech in Hindi : जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 और अनुच्छेद 35 ए को हटाए जाने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र के नाम संदेश दिया.

News18Hindi
Updated: August 8, 2019, 10:18 PM IST
PM Narendra Modi Speech: पीएम मोदी बोले- केसर का रंग हो या कहवा का स्वाद, इनका प्रसार दुनियाभर में किए जाने की जरूरत
Watch PM Narendra Modi Live Speech in Hindi : जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 और अनुच्छेद 35 ए को हटाए जाने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र के नाम संदेश दिया.
News18Hindi
Updated: August 8, 2019, 10:18 PM IST
जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 (Article 370) और अनुच्छेद 35 ए (Article 35A) को हटाने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने देश को पहली बार संबोधित किया.

पढ़ें PM Narendra Modi ने राष्ट्र के नाम संदेश  में क्या कहा- 

  • -प्रधानमंत्री ने कहा कि आइए हम सब मिलकर नए भारत के साथ अब नए जम्मू-कश्मीर और नए लद्दाख का भी निर्माण करें.


  • -पीएम मोदी ने कहा, 'मैं जम्मू-कश्मीर के अपने भाइयों और बहनों से, लद्दाख के अपने भाइयों और बहनों से आह्वान करता हूं. आइए, हम सब मिलकर दुनिया को दिखा दें कि इस क्षेत्र के लोगों का सामर्थ्य कितना ज्यादा है, यहां के लोगों का हौसला, उनका जज्बा कितना ज्यादा है.'

  • -प्रधानमंत्री ने कहा कि ये फैसला जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के साथ ही पूरे भारत की आर्थिक प्रगति में सहयोग करेगा. जब दुनिया के इस महत्वपूर्ण भूभाग में शांति और खुशहाली आएगी, तो स्वभाविक रूप से विश्व शांति के प्रयासों को मजबूती मिलेगी.
    -प्रधानमंत्री ने कहा कि जम्मू-कश्मीर के लोगों की सुरक्षा में तैनात सुरक्षाबलों के साथियों का आभार व्यक्त करता हूं. प्रशासन से जुड़े लोग, राज्य के कर्मचारी और जम्मू-कश्मीर पुलिस जिस तरह से स्थितियों को संभाल रही है वो प्रशंसनीय है. आपके इस परिश्रम ने मेरा ये विश्वास और बढ़ाया है कि बदलाव हो सकता है.

  • Loading...

  • -पीएम ने कहा कि सरकार इस बात का ध्यान रख रही है कि जम्मू-कश्मीर में ईद मनाने में लोगों को कोई परेशानी न हो. हमारे जो साथी जम्मू-कश्मीर से बाहर रहते हैं और ईद पर अपने घर वापस जाना चाहते हैं, उनकी भी सरकार हर संभव मदद कर रही है.
    -पीएम मोदी ने कहा कि जम्मू-कश्मीर के साथियों को भरोसा देता हूं कि धीरे-धीरे हालात सामान्य हो जाएंगे और उनकी परेशानी भी कम होती चली जाएगी. ईद का मुबारक त्योहार भी नजदीक ही है. ईद के लिए मेरी ओर से सभी को बहुत-बहुत शुभकामनाएं.
    -पीएम मोदी ने कहा कि हमें ये भी नहीं भूलना चाहिए कि आतंकवाद और अलगाववाद को बढ़ावा देने की पाकिस्तानी साजिशों के विरोध में जम्मू-कश्मीर के ही देशभक्त लोग डटकर खड़े हुए हैं.
    -पीएम मोदी ने कहा कि अनुच्छेद 370 से मुक्ति एक सच्चाई है, लेकिन सच्चाई ये भी है कि इस समय एहतियात के तौर पर उठाए गए कदमों की वजह से जो परेशानी हो रही है, उसका मुकाबला भी वही लोग कर रहे है. कुछ मुट्ठी भर लोग जो वहां हालात बिगाड़ना चाहते हैं, उन्हें जवाब भी वहां के स्थानीय लोग दे रहे हैं.
    -पीएम मोदी ने कहा कि लद्दाख में स्पीरिचुअल टूरिज्म, एडवेंचर टूरिज्म और इको टूरिज्म का सबसे बड़ा केंद्र बनने की क्षमता है. सोलर पावर जेनरेशन का भी लद्दाख बहुत बड़ा केंद्र बन सकता है. अब वहां के सामर्थ्य का उचित इस्तेमाल होगा और बिना भेदभाव विकास के लिए नए अवसर बनेंगे.
    -पीएम मोदी ने कहा कि Union Territory बन जाने के बाद अब लद्दाख के लोगों का विकास, भारत सरकार की विशेष जिम्मेदारी है. स्थानीय प्रतिनिधियों, लद्दाख और कारगिल की डेवलपमेंट काउंसिल के सहयोग से केंद्र सरकार, विकास की तमाम योजनाओं का लाभ अब और तेजी से पहुंचाएगी.

  • -प्रधानमंत्री ने कहा कि मैं हर देशवासी को ये भी कहना चाहता हूं कि जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के लोगों की चिंता, हम सबकी चिंता है, उनके सुख-दुख, उनकी तकलीफ से हम अलग नहीं हैं.
    - प्रधानमंत्री ने कहा कि लेकिन मेरा उनसे आग्रह है कि वो देशहित को सर्वोपरि रखते हुए व्यवहार करें और जम्मू-कश्मीर-लद्दाख को नई दिशा देने में सरकार की मदद करें. संसद में किसने मतदान किया, किसने नहीं किया, इससे आगे बढ़कर अब हमें  जम्मू-कश्मीर-लद्दाख के हित में मिलकर, एकजुट होकर काम करना है.
    - पीएम ने कहा कि लोकतंत्र में ये भी बहुत स्वाभाविक है कि कुछ लोग इस फैसले के पक्ष में हैं और कुछ को इस पर मतभेद है. मैं उनके मतभेद का भी सम्मान करता हूं और उनकी आपत्तियों का भी. इस पर जो बहस हो रही है, उसका केंद्र सरकार जवाब भी दे रही है. ये हमारा लोकतांत्रिक दायित्व है.
    - पीएम मोदी ने कहा कि अब लद्दाख के नौजवानों की इनोवेटिव स्पिरिट को बढ़ावा मिलेगा, उन्हें अच्छी शिक्षा के लिए बेहतर संस्थान मिलेंगे, वहां के लोगों को अच्छे अस्पताल मिलेंगे, इंफ्रास्ट्रक्चर का और तेजी से आधुनिकीकरण होगा.

  • प्रधानमंत्री ने कहा कि मुझे पूरा विश्वास है कि जम्मू-कश्मीर की जनता, गुड गवर्नेंस और पारदर्शिता के वातावरण में, नए उत्साह के साथ अपने लक्ष्यों को प्राप्त करेगी.
    - पीएम मोदी ने कहा कि दशकों के परिवारवाद ने जम्मू-कश्मीर के युवाओं को नेतृत्व का अवसर ही नहीं दिया. अब मेरे युवा, जम्मू-कश्मीर के विकास का नेतृत्व करेंगे और उसे नई ऊंचाई पर ले जाएंगे. मैं नौजवानों, वहां की बहनों-बेटियों से आग्रह करूंगा कि अपने क्षेत्र के विकास की कमान खुद संभालिए.

  • -प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि जम्मू-कश्मीर के केसर का रंग हो या कहवा का स्वाद, सेब का मीठापन हो या खुबानी का रसीलापन, कश्मीरी शॉल हो या फिर कलाकृतियां, लद्दाख के ऑर्गैनिक प्रॉडक्ट्स हों या हर्बल मेडिसिन, इसका प्रसार दुनियाभर में किए जाने का जरूरत है.
    - पीएम मोदी ने कहा कि मुझे पूरा विश्वास है कि अब अनुच्छेद 370 हटने के बाद, जब इन पंचायत सदस्यों को नई व्यवस्था में काम करने का मौका मिलेगा तो वो कमाल कर देंगे. मुझे पूरा विश्वास है कि जम्मू-कश्मीर की जनता अलगाववाद को परास्त करके नई आशाओं के साथ आगे बढ़ेगी.
    - पीएम ने कहा कि मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि जैसे पंचायत के चुनाव पारदर्शिता के साथ संपन्न कराए गए, वैसे ही विधानसभा के भी चुनाव होंगे. मैं राज्य के गवर्नर से ये भी आग्रह करूंगा कि ब्लॉक डेवलपमेंट काउंसिल का गठन, जो पिछले दो-तीन दशकों से लंबित है, उसे पूरा करने का काम भी जल्द से जल्द किया जाए.

  • -प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हम सभी यही चाहते हैं कि आने वाले समय में जम्मू-कश्मीर विधानसभा के चुनाव हों, नई सरकार बने, मुख्यमंत्री बनें. मैं जम्मू-कश्मीर के लोगों को भरोसा देता हूं कि आपको बहुत ईमानदारी के साथ, पूरे पारदर्शी वातावरण में अपने प्रतिनिधि चुनने का अवसर मिलेगा.

  • -पीएम मोदी ने कहा कि केंद्र सरकार ने अनुच्छेद 370 हटाने के साथ कुछ कालखंड के लिए जम्मू-कश्मीर को सीधे केंद्र सरकार के शासन में रखने का फैसला बहुत सोच समझकर लिया है. जब से वहां गवर्नर शासन लगा है तब से वहां का प्रशासन सीधे केंद्र सरकार के संपर्क में है.

  • -पीएम ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में दशकों से, हजारों की संख्या में ऐसे लोग रहते हैं, जिन्हें लोकसभा के चुनाव में तो वोट डालने का अधिकार था. लेकिन वो विधानसभा और स्थानीय निकाय के चुनाव में मतदान नहीं कर सकते थे. ये वो लोग हैं जो बंटवारे के बाद पाकिस्तान से भारत आए थे.

  • -पीएम ने कहा कि हमने जम्मू-कश्मीर के प्रशासन में एक नई कार्यसंस्कृति और पारदर्शिता लाने का प्रयास किया है. इसी का नतीजा है कि IIT हो, IIM हो, AIIMS हों, तमाम इरिगेशन प्रोजेक्ट्स हो, पावर प्रोजेक्ट्स हों या फिर एंटी करप्शन ब्यूरो, इन सबके काम में तेजी आई है.

  • -पीएम मोदी ने कहा कि अब केंद्र सरकार ये सुनिश्चित करेगी कि राज्य के कर्मचारियों और जम्मू-कश्मीर पुलिस को भी दूसरे केंद्र शासित प्रदेश के कर्मचारियों और वहां की पुलिस के बराबर सुविधाएं मिलें.

  • -प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि जो पहले की सरकारें कानून बनाकर वाहवाही लूटती थीं, वो भी ये दावा नहीं कर पाती थीं कि उनका कानून जम्मू कश्मीर में भी लागू होगा.उन कानूनों के लाभ से जम्मू कश्मीर के लोग वंचित रह जाते थे. शिक्षा के अधिकार के लाभ से जम्मू कश्मीर के बच्चे अब तक वंचित थे.




  •  -पीएम मोदी ने कहा कि हमारे देश में कोई भी सरकार हो, वो संसद में कानून बनाकर देश की भलाई के लिए कार्य करती है. किसी भी दल या गठबंधन की सरकार हो, ये कार्य निरन्तर चलता रहता है.

  • -पीएम मोदी ने कहा कि कानून बनाते समय काफी बहस होती है उसकी आवश्यकता को लेकर गंभीर पक्ष रखे जाते हैं. इस प्रक्रिया से गुजरकर जो कानून बनता है, वो पूरे देश के लोगों का भला करता है. लेकिन कोई कल्पना नहीं कर सकता कि संसद इतनी बड़ी संख्या में कानून बनाए और वो देश के एक हिस्से में लागू ही नहीं हों.

  • -प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि जल्द ही केंद्रीय और राज्य के पदों को भरने की प्रक्रिया शुरू की जाएगी. इसके साथ ही युवाओं को रोजगार के नए अवसर मिलेंगे. इसके अलावा, सेना और अर्धसैनिक बलों द्वारा युवाओं को रोजगार के लिए रैलियों का आयोजन किया जाएगा.

  • -पीएम मोदी ने कहा कि एक देश और एक परिवार के तौर पर हमने ऐतिहासिक फैसला लिया है. एक सिस्टम जिसकी वजह से जम्मू, कश्मीर और लद्दाख के भाई और बहन कई अधिकारों से वंचित थे और यह उनके विकास में बाधक था.

  • -प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आर्टिकल 370 और 35ए ने जम्मू कश्मीर को अलगाववाद, आतंकवाद, परिवारवाद और व्यवस्थाओं में बड़े पैमाने में फैले भ्रष्टाचार के अलावा कुछ नहीं दिया. इन दोनों अनुच्छेद का देश के खिलाफ कुछ लोगों की भावनाएं भड़काने के लिए पाकिस्तान द्वारा एक शस्त्र की तरह उपयोग किया जा रहा था.

  • -पीएम मोदी ने कहा कि देश के अन्य राज्यों में बेटियों को सारे हक मिलते थे लेकिन जम्मू-कश्मीर में नहीं मिलते थे. सारे देश में सफाई कर्मचारियों से संबंधित एक्ट लागू है लेकिन जम्मू-कश्मीर में यह लागू नहीं है. देश के अन्य राज्यों में दलितों और अल्पसंख्यकों के हितों की रक्षा के लिए माइनॉरिटी और दलित एक्ट लागू है लेकिन जम्मू-कश्मीर में ऐसा नहीं था.

  • -पीएम मोदी ने कहा कि जो सपना सरदार पटेल का था, बाबा साहेब आंबेडकर का था, डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी का था, अटल जी और करोड़ों देशभक्तों का था, वो अब पूरा हुआ है. अब देश के सभी नागरिकों के हक़ और दायित्व समान हैं.

  • -प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि एक राष्ट्र के तौर पर, एक परिवार के तौर पर, आपने, हमने, पूरे देश ने एक ऐतिहासिक फैसला लिया है. एक ऐसी व्यवस्था, जिसकी वजह से जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के हमारे भाई-बहन अनेक अधिकारों से वंचित थे, जो उनके विकास में बड़ी बाधा थी, वो हम सबके प्रयासों से अब दूर हो गई है.

  • -पीएम मोदी ने कहा कि अनुच्छेद 370 के साथ यह मान लिया गया कि इसमें कुछ बदलेगा ही नहीं. उसके चलते जम्मू- कश्मीर और लद्दाख में हमारे भाई बहनों और बच्चों के हो रहे नुकसान की चर्चा ही नहीं हुई.पीएम मोदी ने कहा कि अनुच्छेद 370 और अनुच्छेद 35 ए का देश के खिलाफ इस्तेमाल किया गया.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 8, 2019, 8:41 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...