WB Narada Case Updates: MLA मदन मित्रा बोले- हम बुरे लोग, लेकिन रॉय और अधिकारी जैसे नहीं

 टीएमसी के वरिष्ठ नेता मदन मित्रा की फाइल फोटो.

टीएमसी के वरिष्ठ नेता मदन मित्रा की फाइल फोटो.

नारद स्टिंग मामले (Narada sting tape case) में केंद्रीय जांच एजेंसी ने फिरहाद हाकिम, सुब्रत मुखर्जी, मदन मित्रा और शोभन चटर्जी को गिरफ्तार किया है.

  • Share this:

कोलकाता. नारद स्टिंग मामले (Narada sting tape case) में गिरफ्तार किये गये चार नेताओं में से एक ने भारतीय जनता पार्टी के नेताओं पर निशाना साधा है. केंद्रीय जांच एजेंसी ने टीएमसी नेता फिरहाद हाकिम, सुब्रत मुखर्जी, विधायक मदन मित्रा, पूर्व टीएमसी नेता और  कोलकाता के पूर्व महापौर शोभन चटर्जी को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तारी के बाद हाकिम ने निजाम पैलेस के बाहर कहा, 'मुझे न्यायपालिका पर पूरा भरोसा है. भाजपा मुझे परेशान करने के लिए कुछ भी कर सकती है.'

कोलकाता नगर निगम के बोर्ड ऑफ एडमिनिस्ट्रेटर शोभन चटर्जी ने सुबकते हुए कहा कि वह महामारी के समय में शहर के लोगों की मदद नहीं कर पा रहे हैं. वहीं टीएमसी नेता मदन मित्रा ने कहा, 'हम सभी बुरे आदमी हैं लेकिन मुकुल (रॉय) और शुभेंदु (अधिकारी) नहीं हैं.'

Youtube Video

बीजेपी में हैं रॉय और अधिकारी
रॉय औरअधिकारी भी इस मामले में भी आरोपी थे.हालांकि उनको गिरफ्तार नहीं किया गया. जब स्टिंग ऑपरेशन किया गया था तब वे टीएमसी नेता थे लेकिन अब वे बीजेपी विधायक हैं. दूसरी ओर चटर्जी ने कहा, 'मैं डकैत नहीं हूं. मैंने कुछ भी गलत नहीं किया है कि सीबीआई मुझे गिरफ्तार करने के लिए मेरे बेडरूम में आ जाए.'

उधर, कलकत्ता हाईकोर्ट ने नारद स्टिंग टेप मामले में सीबीआई द्वारा गिरफ्तार किए गए और आरोप पत्र दाखिल करने वाले चारों को जमानत देने के सीबीआई की विशेष अदालत के फैसले पर सोमवार रात रोक लगा दी. खंडपीठ ने कहा कि उसने विशेष अदालत के आदेश पर रोक लगाना उचित समझा और निर्देश दिया कि 'आरोपी व्यक्ति को अगले आदेश तक न्यायिक हिरासत में माना जाएगा.'




केंद्रीय जांच एजेंसी के सूत्रों ने बताया कि नारद स्टिंग टेप मामले में सीबीआई द्वारा गिरफ्तार किए गए तृणमूल कांग्रेस के दो मंत्रियों, एक विधायक और पार्टी के एक पूर्व नेता को सोमवार देर रात कोलकाता में प्रेसीडेंसी करेक्शनल होम ले जाया गया. मुखर्जी और हाकिम, मित्रा और पूर्व नेता चटर्जी को मेडिकल टेस्ट के बाद कड़ी सुरक्षा के बीच निज़ाम पैलेस से जेल ले जाया गया. जब उन्हें अंदर ले जाया गया तो चारों के परिवार के सदस्य करेक्शनल होम के बाहर मौजूद थे.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज