फारूक अब्दुल्ला बोले- हम BJP के दुश्मन, महात्मा गांधी के भारत में हमारा अटूट विश्वास

फाइल फोटोः पीपुल्स एलायंस के नेता
फाइल फोटोः पीपुल्स एलायंस के नेता

नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्ला (Farooq Abdullah) ने कहा कि गुपकार डिक्लरेशन के तहत पार्टियां साझे रूप से चुनाव लड़ेंगी. लेकिन, चुनाव निशान सभी पार्टियों का अपना ही होगा. उम्मीदवार साझा होगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 10, 2020, 1:14 AM IST
  • Share this:
श्रीनगर. पीपुल्स एलायंस फॉर गुपकार डिक्लरेशन (Peoples Alliance for Gupkar Declaration) और नेशनल कॉन्फ्रेंस के प्रेसिडेंट फारूक अब्दुल्ला (Farooq Abdullah) ने सोमवार को कहा कि हम देश के नहीं, बीजेपी (BJP) के दुश्मन हैं. वे लोग हिंदू, मुस्लिम, सिख और ईसाई को एक-दूसरे से अलग करना चाहते हैं. हम महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) के भारत में विश्वास करते हैं, जहां सब एक दूसरे के बराबर हैं.

बता दें कि पीपुल्स एलायंस फॉर गुपकार डिक्लरेशन ने राज्य में 28 नवंबर से होने वाले आगामी डीडीसी (जिला विकास परिषद) चुनाव लड़ने का ऐलान किया है. इस बारे में बोलते हुए फारूक अब्दुल्ला ने कहा, 'हम गैंग नहीं हैं, बल्कि पार्टियों का गठबंधन हैं. जो लोग हमें गैंग बुलाते हैं, वे सबसे बड़े डकैत हैं और सबको गैंग के रूप में देखते हैं.' फारूक ने कहा कि हम एक दूसरे के साथ सहयोगी के रूप में चुनाव लड़ेंगे. लेकिन, एलायंस की सभी पार्टियों को एक चुनाव चिह्न नहीं मिल सकता, इसलिए सभी पार्टियां अपने-अपने निशान पर चुनाव लड़ेंगी और साझा उम्मीदवार खड़ी करेंगी.





पंचायत के उपचुनाव के लिए पहली अधिसूचना जारी की
केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर ने पिछले हफ्ते राज्य में जिला विकास परिषद चुनाव के साथ पंचायत और नगरपालिका उपचुनाव का ऐलान किया है. ये चुनाव राज्य में आठ चरणों में कराए जाएंगे. उधर, केंद्र शासित प्रदेश जम्मू और कश्मीर के राज्य प्रशासन के मुख्य कार्यालय सिविल सचिवालय ने सोमवार को जम्मू से काम करना शुरू कर दिया. जम्मू-कश्मीर राज्य चुनाव आयुक्त केके शर्मा ने बीते गुरुवार को 20 जिलों में जिला विकास परिषदों (डीडीसी) के लिए चुनाव और पंचायतों के उपचुनाव के लिए पहली अधिसूचना जारी की. डीडीसी चुनाव 28 नवंबर से 22 दिसंबर तक आठ चरणों में होंगे.

मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) हरदेश कुमार ने नगर निकायों के लिए आठ चरण के उपचुनाव के लिए पहली अधिसूचना जारी की. अधिसूचना के अनुसार, नामांकन जमा करने की अंतिम तिथि अगला गुरुवार है, एक दिन बाद आवेदन पत्रों की जांच की जाएगी और 16 नवंबर तक उम्मीदवारी वापस ली जा सकेगी. मतदान 28 नवंबर को सुबह नौ बजे से दोपहर एक बजे तक होगा. पंचायत उपचुनाव की मतगणना उसी दिन होगी. डीडीसी चुनाव की काउंटिंग 22 दिसंबर को होगी.

ये भी पढ़ें: दिल्ली में मस्जिदों के इमाम को 5 महीने से नहीं मिली सैलरी, मुस्लिम विधवा महिलाओं की पेंशन भी है बंद

ये भी पढ़ें: अब जम्मू से चलेगा प्रशासन, दरबार स्थानांतरण के तहत कड़ी सुरक्षा के बीच खुला सिविल सचिवालय

राज्य चुनाव अधिकारी के मुताबिक प्रत्येक जिलों में 14 डीडीसी निर्वाचन क्षेत्रों के साथ पूरे केंद्र शासित प्रदेश में 280 डीडीसी की पहचान की गई है. डीडीसी का कार्यकाल पांच साल के लिए होगा. पश्चिम पाकिस्तान के शरणार्थियों (डब्ल्यूपीआर) को भी इन चुनावों में वोट करने का अधिकार होगा.

उन्होंने कहा कि 12,153 सरपंचों और पंचों का चुनाव करने के लिए पंचायतों के आठ चरण के उपचुनाव होंगे. चुनाव कश्मीर घाटी के 10 जिलों में फैले 24 प्रखंडों और जम्मू संभाग के छह जिलों के 53 प्रखंडों के लिए भी होंगे.

जम्मू-कश्मीर की बड़ी पार्टियों के गुपकार डिक्लरेशन के तहत बने पीपुल्स एलायंस ने साझे रूप से चुनाव लड़ने का ऐलान किया है. अनुच्छेद 370 की समाप्ति के बाद ये राज्य में पहली बड़ी सियासी गतिविधि है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज