हंदवाड़ा में शहीद हुए पांचों सुरक्षा कर्मियों पर गर्व, छोटी सोच दिखा रहा है पाक: सेना प्रमुख

सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे
सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे

भारत के सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे (Indian Army Chief Naravane) ने कहा, "मैं हमारी सेना (Army) और जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) के जबरदस्त बहादुरों के प्रति अपनी हार्दिक संवेदना और आभार व्यक्त करना चाहता हूं."

  • Share this:
नई दिल्ली. भारत के सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे (Indian Army Chief Naravane) ने कहा है कि उन्हें हंदवाड़ा (Handwara) में आतंकियों (Terrorists) से नागरिकों (Civilians) की जान बचाने के दौरान जीवन का बलिदान कर देने वाले पांचों सुरक्षा कर्मियों (Security Personnel) पर देश को गर्व है. उन्होंने कर्नल आशुतोष शर्मा की तारीफ करते हुए कहा कि वे सामने से गए ताकि नागरिकों को नुकसान न हो.

उन्होंने यह भी कहा, "मैं हमारी सेना (Army) और जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) के जबरदस्त बहादुरों के प्रति अपनी हार्दिक संवेदना और आभार व्यक्त करना चाहता हूं."

जब तक पाक नहीं छोड़ेगा आतंक की नीति, उसी के हिसाब से देंगे जवाब
सेना प्रमुख जनरल नरवणे ने कहा, "भारतीय सेना, संघर्ष विराम (Ceasefire) के उल्लंघन और आतंकवाद के समर्थन में किए सभी कार्यों का उसी के हिसाब से जवाब देगी."
सेना प्रमुख ने कहा कि इलाके में शांति लाने का दायित्व पाकिस्तान (Pakistan) पर है. जब तक पाकिस्तान अपनी राज्य प्रायोजित आतंकवाद को नीति को नहीं छोड़ देता, हम इसका लगातार उसी के हिसाब से और सटीक जवाब देते रहेंगे.



COVID-19 से लड़ने के लिए गंभीर नहीं है पाकिस्तान
सेना प्रमुख ने यह भी बताया कि घुसपैठ के प्रयास यह दिखाते हैं कि पाकिस्तान COVID-19 से लड़ने को लेकर गंभीर नहीं है. पाकिस्तान अब भी भारत में आतंकवादी घुसाने के अपने अदूरदर्शी और सीमित एजेंडे पर चल रहा है.

पाकिस्तान ने अपनी छोटी सोच का प्रदर्शन तभी कर दिया था, जब इसने SAARC का प्रयोग कश्मीर में नागरिक अधिकारों के हनन की शिकायत के लिए किया था, जो कि झूठ था.

युद्धविराम की घटनाएं दिखातीं, पाक एक वैश्विक खतरा
जम्मू-कश्मीर में LoC पार पाकिस्तान की ओर से लगातार बढ़ती युद्धविराम उल्लंघन की घटनाएं दिखाती हैं कि यह एक वैश्विक खतरा है.

आतंकियों पर निगरानी रखने वाली लिस्ट से पाकिस्तान का खतरनाक आतंकियों के नाम हटाने का कदम यह साबित करता है कि यह आतंकवाद (Terrorism) को राज्य नीति के तत्व के तौर पर इस्तेमाल करता है.

पाकिस्तान की ओर से FATF सुझावों पर उठाए कदमों के बारे में सेना प्रमुख ने कहा, "पाकिस्तान ने सतही बदलाव करके वैश्विक समुदाय को धोखा देने की कोशिश की है."

आजादी के किस्से पर यकीन करवाने के लिए आतंकी बनाते कश्मीरी नागरिकों को निशाना
सेना प्रमुख नरवणे ने कहा कि भारत में ही नहीं बल्कि अफगानिस्तान (Afghanistan) में भी आतंक फैलाने के लिए पाकिस्तान लगातार आतंकी भेजता है. सेना प्रमुख ने यह भी कहा कि आजादी के किस्से को अपनाने के लिए मजबूर करने के लिए पाक समर्थित आतंकी कश्मीर में नागरिकों को निशाना बना रहे हैं.

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान, कश्मीरियों का दोस्त होने का दावा करता है, हम पूछना चाहते हैं कि किस तरह के दोस्त (Friend) हत्या का सहारा लेते हैं और आतंक फैलाते हैं.

यह भी पढ़ें: Covid-19 Lockdown- पूरी कश्मीर घाटी को किया रेड जोन में शामिल
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज