Home /News /nation /

we ask pm modi to get back katchatheevu island from sri lanka tamil nadu cm stalin demand from pm

क्या है कच्चातिवु द्वीप? जिसे श्रीलंका से वापस लेने की तमिलनाडु सीएम ने पीएम मोदी से लगाई गुहार

पीए नरेंद्र मोदी ने चेन्नई में स्पेशल ट्रेन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया. (ANI)

पीए नरेंद्र मोदी ने चेन्नई में स्पेशल ट्रेन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया. (ANI)

Tamil Nadu CM demand from PM Modi: तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन ने एक बार फिर कच्चातिवु द्वीप को श्रीलंका से वापस लेने की मांग कर दी है. उन्होंने प्रधानमंत्री के सामने उनसे अपील की कि वे इस द्वीप को श्रीलंका से वापस लाएं. सीएम स्टालिन ने इसके साथ ही नीट परीक्षा की अनिवार्यता में छूट देने की भी मांग की और तमिल को हिन्दी की तरह आधिकारिक भाषा का दर्जा देने की भी मांग की.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन ने आज चेन्नई में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उपस्थिति में कई मांगें रखी. उन्होंने प्रधानमंत्री से कहा, प्रधानमंत्री जी कृप्या कच्चातिवु द्वीप को श्रीलंका से वापस लाएं. गौरतलब है कि भारत ने 1974 में कच्चातिवु द्वीप श्रीलंका को गिफ्ट में दे दिया था. एमके स्टालिन ने इसके अलावा कई और मांगे भी कीं. स्टालिन ने कहा, अब जबकि पीएम तमिलनाडु आए हुए हैं, मैं प्रधानमंत्री से अपील करना चाहूंगा कि कच्चातिवु द्वीप (Katchatheevu) को श्रीलंका से वापस लीजिए ताकि हमारे मछुआरे स्वतंत्र रूप से सुमुद्र में मछली मार सके. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज चेन्नई में कई विकास परियोजनाओं का उद्घाटन किया. उन्होंने तांबरम से चेंगालपट्टु और मदुरैई से थेनी के बीच स्पेशल ट्रेन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया. इस कार्यक्रम में तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन भी मौजूद थे.

तमिल को भी आधिकारिक भाषा बनाएं
सीएम स्टालिन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नीट के बारे में भी पीएम मोदी से मांग की. उन्होंने कहा कि नीट का हम विरोध करते हैं. इसके लिए हमने विधानसभा में भी बिल पास किया है. मैं पीएम से अपील करता हूं कि वे तमिलनाडु के नीट की अनिवार्यता से छूट प्रदान करें. इसके अलावा स्टालिन ने पीएम के सामने केंद्र से बकाए जीएसटी की भी मांग की. उन्होंने कहा कि मैं सरकार से अनुरोध करता हूं कि केंद्रीय जीएसटी से 14,006 करोड़ का राज्य का बकाया वापस करें. इसके अलावा पीएम से यह भी अपील करना चाहूंगा कि वे तमिल को तमिलनाडु हाईकोर्ट की आधिकारिक भाषा बनाने की घोषणा करें. उन्होंने कहा कि जिस तरह हिन्दी आधिकारिक भाषा है, उसी तरह तमिल को भी आधिकारिक भाषा बनाया जाए.

इस मौके पर पीएम मोदी ने कहा, तमिल भाषा शास्वत और सनातन भाषा है. आज तमिल संस्कृति ग्लोबल है. उन्होंने कहा कि चेन्नई से कनाडा तक, मदुरैई से मलेशिया तक, नामक्कल से न्यूयॉर्क तक और सलेम से साउथ अफ्रीका तक पोंगल और पुथांडू त्योहार का जश्न एक साथ मनाया जाता है. उन्होंने कहा कि तमिलनाडु के लोग, संस्कृति और भाषा बेमिसाल है. हर क्षेत्र में तमिलनाडु बेहतरीन काम कर रहा है. डीफ ओलंपिक में कुल 16 मेडल में से 6 मेडल ने तमिलनाडु के युवाओं ने जीता है.

क्या है कच्चातिवु विवाद
कच्चातिवु द्वीप रामेश्वरम से महज 25-30 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है. यह द्वीप 14वीं सदी में ज्वालामुखी विस्फोट से बना है. इस द्वीप पर तभी से रामेश्वरम के आसपास के मछुआरे मछली पकड़ते रहे हैं. साथ द्वीप एक सालाना उत्सव में भाग लेते रहे हैं. लेकिन 1921 में श्रीलंका ने इस पर दावा कर दिया और इसे विवादित क्षेत्र बना दिया. 1974 में तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी और श्रीलंका की तत्कालीन प्रधानमंत्री श्रीमाओ भंडारनायके के बीच हुए समझौते में यह द्वीप ने भारत ने श्रीलंका को गिफ्ट में दे दिया. हालांकि इसके बावजूद पारंपरिक रूप से श्रीलंका के तमिलों और तमिलनाडु के मछुआरे इसका इस्तेमाल करते रहे हैं लेकिन पिछले कुछ साल से श्रीलंका यहां भारतीय मछुआरों को न सिर्फ परेशान करता है बल्कि उसे गिरफ्तार भी कर लेता है.

इस मामले को लेकर तमिलनाडु में भारी विरोध होता रहा है और भारत सरकार से इसे वापस लेने की मांग करता रहा है. 1991 से ही तमिलनाडु सरकार इसे वापस लेने की मांग कर रही है. जयललिता सरकार ने भारत सरकार के फैसले को असंवैधानिक करार दिलवाने के लिए इस मामले को सुप्रीम कोर्ट ले गया और मामला अब तक विचाराधीन है.

Tags: MK Stalin, Narendra modi, NEET, Sri lanka, Tamil nadu

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर