लाइव टीवी

CJI को कोई और कंट्रोल कर रहा था, इसलिए करनी पड़ी प्रेस कॉन्फ्रेंस: पूर्व जस्टिस कुरियन

News18Hindi
Updated: December 3, 2018, 10:52 AM IST
CJI को कोई और कंट्रोल कर रहा था, इसलिए करनी पड़ी प्रेस कॉन्फ्रेंस: पूर्व जस्टिस कुरियन
पूर्व सीजेआई दीपक मिश्रा के साथ पूर्व जस्टिस कुरियन जोसेफ (फाइल फोटो)

पूर्व जस्टिस कुरियन जोसेफ ने अंग्रेजी अखबार 'Times Of India'को दिए गए एक इंटरव्यू में 12 जनवरी को हुए सुप्रीम कोर्ट के चार जजों की प्रेस कॉन्फ्रेंस पर बेबाकी से अपनी राय रखी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 3, 2018, 10:52 AM IST
  • Share this:
सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस कुरियन जोसेफ हाल ही में रिटायर हुए हैं. उन्होंने शीर्ष अदालत में कामकाज को लेकर की गई चार जजों की प्रेस कॉन्फ्रेंस पर एक और बयान दिया है. रविवार को पूर्व जस्टिस कुरियन ने कहा, 'सीजेआई को कोई और कंट्रोल कर रहा था. इसलिए जजों को प्रेस कॉन्फ्रेंस करनी पड़ी. ताकि सुप्रीम कोर्ट में क्या हो रहा है, इसकी खबर जनता को मिल सके. लोकतंत्र की रक्षा के लिए ऐसा करना जरूरी था.'

जस्टिस कुरियन जोसेफ ने अंग्रेजी अखबार 'Times Of India' को दिए गए एक इंटरव्यू में 12 जनवरी को हुए सुप्रीम कोर्ट के चार जजों की प्रेस कॉन्फ्रेंस पर बेबाकी से अपनी राय रखी. रिपोर्ट के मुताबिक, जस्टिस कुरियन ने कहा, 'हमें ऐसा महसूस हो रहा था कि तत्कालीन सीजेआई दीपक मिश्रा को कोई बाहर से मैनेज कर रहा है. इसलिए लोकतंत्र की रक्षा के खातिर हमें आगे आना पड़ा. प्रेस कॉन्फ्रेंस का मुझे कोई अफसोस नहीं है.'

SC पर 4 जजों की प्रेस कॉन्फ्रेंस का कोई पछतावा नहीं, हो रहा है बदलाव: जस्टिस जोसेफ

जस्टिस कुरियन ने कहा कि जहां तक शीर्ष अदालत की बात है, तो उच्चतर न्यायपालिका में नियुक्तियों और स्थानान्तरण से जुड़े ‘मैमोरेंडम ऑफ प्रोसीजर’ (एमओपी) अंतिम रूप में है. ये कॉलेजियम मसौदे के अनुसार काम कर रहा है

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस कुरियन जोसेफ, जस्टिस जे. चेलमेश्वर, जस्टिस लोकुर और जस्टिस रंजन गोगोई ने 12 जनवरी को प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी. इस दौरान उन्होंने कहा था कि सुप्रीम कोर्ट की आज़ादी खतरे में हैं. चारों जजों ने तत्कालीन सीजेआई दीपक मिश्रा के कामकाज पर भी सवाल उठाए थे. इन जजों ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में सीबीआई स्पेशल जज बीएच लोया की मौत का मामला भी उठाया था. इनमें से जस्टिस रंजन गोगोई अब सीजेआई बन चुके हैं.

सुप्रीम कोर्ट ने पुस्तक 'गॉडमैन टू टाइकून' मामले में बाबा रामदेव को भेजा नोटिस

इसके पहले एक कार्यक्रम में जस्टिस कुरियन ने कहा था, 'मुझे प्रेस कॉन्फ्रेंस का कोई पछतावा नहीं है. मैंने बहुत सोच समझकर ऐसा किया, क्योंकि कोई और रास्ता नहीं बचा था. मैं नहीं कह सकता कि संकट खत्म हो गया है. यह एक सांस्थानिक संकट था और सिस्मट को बदलने में समय लगता है. हालांकि, यह बदल रहा है और यह आगे भी जारी रहेगा.'

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 3, 2018, 10:25 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर