अपना शहर चुनें

States

हम 26 जनवरी को सिर्फ बॉर्डर पर रैली नहीं निकालेंगे, दिल्ली के अंदर भी जाएंगे: किसान नेता सतनाम सिंह पन्नू

किसान नेता सतनाम सिंह पन्नू ने ट्रैक्टर मार्च को लेकर कई बातें साफ की हैं. (picture source: facebook satnamsingh.pannu.758)
किसान नेता सतनाम सिंह पन्नू ने ट्रैक्टर मार्च को लेकर कई बातें साफ की हैं. (picture source: facebook satnamsingh.pannu.758)

सतनाम सिंह पन्नू (Satnam Singh Pannu) ने कहा है कि 26 जनवरी का ट्रैक्टर मार्च (Tractor Rally) व्यापक होगा. किसान-मजदूर संघर्ष कमेटी के अध्यक्ष सतनाम सिंह पन्नू ने न्यूज़18 से बातचीत में साफ किया है कि एक अन्य किसान नेता बलवीर सिंह राजेवाल ने किसानों के खुली चिट्ठी पर्सनल कैपेसिटी में लिखी है, इससे संयुक्त किसान मोर्चा का कोई लेना-देना नहीं है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 14, 2021, 11:44 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. नए कृषि कानूनों (New Farm Laws) के खिलाफ आंदोलन की अगुआई करने वाले नेताओं में शामिल सतनाम सिंह पन्नू (Satnam Singh Pannu) ने साफ किया है कि 26 जनवरी का ट्रैक्टर मार्च (Tractor Rally) व्यापक होगा. किसान-मजदूर संघर्ष कमेटी के अध्यक्ष सतनाम सिंह पन्नू ने न्यूज़18 से बातचीत में साफ किया है कि एक अन्य किसान नेता बलवीर सिंह राजेवाल (Balbir Singh Rajewal) ने किसानों के लिए खुली चिट्ठी पर्सनल कैपेसिटी में लिखी है, इससे संयुक्त किसान मोर्चा का कोई लेना-देना नहीं है. आइए जानते हैं सतनाम सिंह ने न्यूज़18 के सवालों के क्या जवाब दिए हैं...

सवाल- किसान नेता बलबीर सिंह राजेवाल ने किसानों को खुला खत लिखा है. इसमें उन्होंने कहा है कि आंदोलन शांतिपूर्ण हो. 26 जनवरी की रैली को लेकर अफवाह फैलाई जा रही है?

सतनाम सिंह- बलबीर सिंह की ये चिट्ठी पर्सनल कैपिसिटी में लिखी गई है, इसमे संयुक्त किसान मोर्चा को कोई लेना-देना नही है. लेकिन हमारा भी मानना है कि आंदोलन शांतिपूर्ण होना चाहिए. गणतंत्र दिवस मनाने का हक केवल सरकार को नहीं है. किसानों का भी है. इसको लेकर अफवाह न फैलाई जाए. जो दूसरी चिट्ठी राजेवाल की है कि 26 तारीख को केवल बॉर्डर पर ट्रैक्टर रैली निकाली जाएगी, ये गलत है. ये मोर्चे की बात नहीं है. हम अंदर जाएंगे. राजस्थान, पंजाब, हरियाणा हर जगह 26 जनवरी की तैयारी है. तिरंगा लेकर जाएंगे शांतिपूर्ण से. हां, अगर सरकार कुछ करे, तो अलग बात है.




सवाल- कल जो बैठक होनी थी उसको लेकर कृषि मंत्रालय लीगल अडवाइज ले रही है कि जब सुप्रीम कोर्ट ने कमेटी बना दी है तो ऐसे में बैठक करना कितना जायज होगा?

सतनाम सिंह- ये सरकार की बात है. वो जो चाहे लीगल एडवाइज ले. ये लीगल बात नहीं है. सुप्रीम कोर्ट और सरकार लीगल बनाना चाहते हैं इसको. हमको तो सरकार से बात करनी है. वैसे भी 15 तारीख को जो बैठक होनी थी, उससे कुछ निकलना भी नहीं है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज