अब सुरक्षा बलों से हथियार नहीं छीन सकेंगे आतंकवादी, J&K पुलिस ने उठाया ये बड़ा कदम

राज्य पुलिस ने अपने हथियार और गोला-बारूद की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए 4000 हथियार सुरक्षा प्रणाली वाहनों की खरीद के लिए हाल में टेंडर जारी किए हैं.

भाषा
Updated: July 30, 2019, 8:43 PM IST
अब सुरक्षा बलों से हथियार नहीं छीन सकेंगे आतंकवादी, J&K पुलिस ने उठाया ये बड़ा कदम
बायोमेट्रिक से चलेंगे उपकरण
भाषा
Updated: July 30, 2019, 8:43 PM IST
आतंकवादियों द्वारा हथियार छीनने की घटनाओं में बढ़ोतरी को लेकर चिंतित जम्मू कश्मीर पुलिस इससे निपटने के लिए 4000 हथियार सुरक्षा प्रणाली खरीदेगी जिन्हें स्मार्ट इलेक्ट्रॉनिक ट्रिगर लॉक वेपन ट्रैकिंग सिस्टम (एसईटीएलडब्ल्यूटीएस) कहा जाता है.

रिपोर्ट के अनुसार गत तीन वर्षों में राज्य में आतंकवादियों द्वारा एके-47 राइफल, सेल्फ लोडिंग राइफल (एसएलआर) और इंसास राइफलों सहित 200 से अधिक हथियारों के अलावा बड़ी संख्या में गोला-बारूद छीन लिया गया.

राज्य पुलिस ने उठाया ये कदम
राज्य पुलिस ने अपने हथियार और गोला-बारूद की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए 4000 हथियार सुरक्षा प्रणाली वाहनों की खरीद के लिए हाल में टेंडर जारी किये. सहायक पुलिस महानिरीक्षक (एआईजी) मुबस्सिर लतीफी ने कहा, ‘हथियार सुरक्षा प्रणाली(डब्ल्यूएसएस), स्मार्ट इलेक्ट्रॉनिक ट्रिगर लॉक वेपन ट्रैकिंग सिस्टम (एसईटीएलडब्ल्यूटीएस) की आपूर्ति के लिए निर्माताओं या उनके अधिकृत डीलरों से टेंडर आमंत्रित किये गए हैं.’

उन्होंने कहा कि डब्ल्यूएसएस में जीपीएस ट्रैकर के साथ ट्रिगर आधारित लॉकिंग यूनिट होनी चाहिए, ताकि उनका दुरुपयोग नहीं किया जा सके और उनका तेजी से पता लगाया जा सके.

बायोमेट्रिक से चलेंगे उपकरण
ऐसे उपकरण आग्नेयास्त्र के अनुकूल होने चाहिए और उन्हें केवल अधिकृत इस्तेमालकर्ता के बायोमेट्रिक से ही चलाया जा सके. जबर्दस्ती चलाने के किसी प्रयास से पूरी ट्रिगर प्रणाली बेकार हो जाएगी. पुलिस ने कश्मीर घाटी में हथियार छीनने की घटनाओं में बढ़ोतरी के लिए पुलिसकर्मियों द्वारा स्मार्टफोन के अधिक इस्तेमाल को जिम्मेदार ठहराते हुए गत वर्ष अपने संतरियों के ड्यूटी के समय इनके इस्तेमाल पर रोक लगा दी थी.
Loading...

 

इतनी हुई घटनाएं
सुरक्षा एजेंसियों के अनुमान के मुताबिक मई 2016 से 31 दिसम्बर 2016 तक सुरक्षाबलों से 36 एसएलआर, 58 एसएलआर मैगजीन और एसएलआर के 1000 कारतूसों के अलावा आठ एके-47 राइफल, उसकी 15 मैगजीन और 283 कारतूस छीन लिए गए.

इसके साथ ही इसी अवधि के दौरान आतंकवादियों द्वारा 39 इंसास राइफल, 119 इंसास मैगजीन, 380 इंसास कारतूस, चार कार्बाइन, कार्बाइन के 70 कारतूस, 303 बोर की एक राइफल और एक एलएमजी भी छीन ली गई.

यह भी पढ़ें: ट्रिपल तलाक का विरोध कर चर्चित हुए थे आरिफ मोहम्मद

ट्रिपल तलाक़ कानून के विरोध में विपक्ष, महबूबा बोलीं-ये मुस्लिमों को निशाना बनाने की चाल
First published: July 30, 2019, 8:40 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...