Assembly Banner 2021

Weather Alert : देश के कई राज्‍यों में पड़ेगी अधिक गर्मी, इन राज्‍यों को मिलेगी तपिश से राहत

दक्षिण एवं मध्य भारत को छोड़कर देशभर में सामान्य से अधिक गर्मी पड़ेगीः मौसम विभाग(सांकेतिक फोटो)

दक्षिण एवं मध्य भारत को छोड़कर देशभर में सामान्य से अधिक गर्मी पड़ेगीः मौसम विभाग(सांकेतिक फोटो)

Weather Alert : मार्च से मई तक उत्तर, पश्चिमोत्तर और पूर्वोत्तर भारत के अधिकतर उपसंभागों तथा मध्य भारत के पूर्वी एवं पश्चिमी भागों के कुछ उपसंभागों एवं उत्तरी प्रायद्वीप के तटीय उपसंभागों में अधिकतम तापमान सामान्य से अधिक रहने की संभावना है.

  • Share this:
नई दिल्ली. भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने सोमवार को मार्च से मई तक के अपने ग्रीष्मकालीन पूर्वानुमान में कहा कि उत्तर, पूर्वोत्तर भारत तथा पूर्व एवं पश्चिम भारत के कुछ हिस्सों में दिन का तापमान सामान्य से अधिक रहने की संभावना है. लेकिन उसने दक्षिण एवं उससे सटे मध्य भारत में दिन का तापमान सामान्य से कम रहने की संभावना व्यक्त की.

उसने कहा, 'आगामी ग्रीष्मकाल में (मार्च से मई तक) उत्तर, पश्चिमोत्तर और पूर्वोत्तर भारत के अधिकतर उपसंभागों तथा मध्य भारत के पूर्वी एवं पश्चिमी भागों के कुछ उपसंभागों एवं उत्तरी प्रायद्वीप के तटीय उपसंभागों में अधिकतम तापमान सामान्य से अधिक रहने की संभावना है.' उसने कहा, 'लेकिन दक्षिण प्रायद्वीप एवं समीपवर्ती मध्यभारत के अधिकतम उपसंभागों में अधिकतम तापमान सामान्य से कम रहने की संभावना है.'

बता दें कि इस साल कड़ाके की ठंड पड़ने के बाद राजधानी दिल्ली समेत कई राज्यों में फरवरी में ही तापमान तेजी से बढ़ा है. राजधानी दिल्ली में फरवरी में तो इतनी गर्मी पड़ी कि कई सालों का रिकॉर्ड ही टूट गया.



ये भी पढ़ें: IIT की स्टडी में चौंकाने वाला दावा, जलवायु परिर्वतन का भारत के मौसम पर होगा ये असर
ये भी पढ़ें: जानें, भारत की उस भाषा के बारे में जो 7 देशों में बोली जाती है

देश के कई राज्‍यों में अब मौसम अब करवट ले रहा है. अधिकांश राज्‍यों में तापमान बढ़ रहा है. जिसके कारण दिन में गर्मी का एहसास हो रहा है. वहीं, पहाड़ों पर बर्फबारी और बारिश के आसार लगातार बन रहे हैं. भारत मौसम विज्ञान विभाग ने पूर्वानुमान जताया था कि सोमवार को जम्‍मू-कश्‍मीर, लद्दाख, हिमाचल प्रदेश और उत्‍तराखंड समेत गिलगित, बाल्टिस्‍तान व मुजफ्फराबाद में बर्फबारी व बारिश हो सकती है. इससे मैदानी इलाकों के तापमान में कमी भी देखने को मिल सकती है.

आईएमडी के अनुसार पहाड़ी राज्‍यों में बारिश और बर्फबारी के आसार बनने का कारण एक बार फिर से पश्चिमी विक्षोभ है. पश्चिमी विक्षोभ के कारण मौसम करवट ले रहा है.

(Disclaimer: यह खबर सीधे सिंडीकेट फीड से पब्लिश हुई है. इसे News18Hindi टीम ने संपादित नहीं किया है.)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज