Weather Update: दिल्‍ली में अगले तीन दिन तक होगी बारिश, करेल में मानसून के दो दिन देर से पहुंचने का अनुमान

दिल्ली में अधिकतम तापमान इस हफ्ते सामान्य से ज़्यादा नहीं होने का अनुमान है.

दिल्ली में अधिकतम तापमान इस हफ्ते सामान्य से ज़्यादा नहीं होने का अनुमान है.

Weather Forecast Today: मौसम विभाग (IMD) के मुताबिक इस साल मासून (Monsoon) के केरल पहुंचने में थोड़ा देरी हो सकती है. वैज्ञानिकों के मुताबिक दक्षिण पश्चिम मानसून के केरल में आगमन में दो दिन की देरी हो सकती है और राज्य में अब इसके 3 जून तक पहुंचने का अनुमान है.

  • Share this:

Today'S Weather Update: पश्चिम बंगाल की खाड़ी से उठा चक्रवाती तूफान यास (Yaas Cyclone) बंगाल, ओडिशा और झारखंड होते हुए बिहार तो पहुंचा पर अब यह कमोजर पड़ गया है. यास के कारणदेश के कई इलाकों में अभी भी मौसम (Weather) में बदलाव देखने को मिल रहा है. भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने जहां दिल्‍ली में अगली तीन दिन बारिश (Rain) का अनुमान जताया है वहीं यूपी के भी कुछ हिस्‍सों में बारिश हो सकती है. मौसम विभाग के मुताबिक इस साल मासून के केरल पहुंचने में थोड़ा देरी हो सकती है. वैज्ञानिकों के मुताबिक दक्षिण पश्चिम मानसून के केरल में आगमन में दो दिन की देरी हो सकती है और राज्य में अब इसके 3 जून तक पहुंचने का अनुमान है.

मौसम में हो रहे बदलाव का असर दिल्‍ली में अगले कुछ दिन तक देखने को मिल सकता है. दिल्‍ली के लोगों को बढ़ते तापमान से राहत मिलने के आसार दिखाई दे रहे हैं. भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने दिल्‍ली और उसके आसपास के इलाकों में सोमवार से हल्‍की बारिश या गरज के साथ बारिश का अनुमान जताया है. राजधानी और उसके आसपास के इलाकों में अगले बुधवार तक बादल छाए रहेंगे. मौसम विभाग के एक अधिकारी ने बताया एक ताजा पश्चिमी विक्षोभ का असर क्षेत्र पर पड़ने का अनुमान है जिससे बुधवार तक हल्‍की बारिश होने की संभावना है. आज और कल ज्‍यादा बारिश का अनुमान है.


वहीं, दक्षिण-पश्चिम मानसून के केरल पहुंचने में दो दिन की देरी हो सकती है और राज्य में अब इसके 3 जून तक पहुंचने का अनुमान है. हालांकि मौसम से जुड़ी जानकारी देने वाली निजी पूर्वानमुमान एजेंसी ‘स्काईमेट वेदर’ ने कहा कि मानसून केरल में दस्तक दे चुका है. ‘स्काईमेट वेदर’ के अध्यक्ष (मौसम विज्ञान) जी पी शर्मा ने कहा कि इस वर्ष मॉनसून की शुरुआत बहुत कमजोर है. ‘स्काईमेट वेदर’ ने इससे पहले पूर्वानुमान जताया था कि मॉनसून केरल में 30 मई को दस्तक देगा.
इसे भी पढ़ें :- कोरोना काल में कमोडिटी मार्केट से हो सकती है मोटी कमाई, जानिए वजह

मौसम विभाग के महानिदेशक एम महापात्रा ने कहा कि कर्नाटक तटीय इलाके में चक्रवातीय परिसंचरण से दक्षिण-पश्चिम मानसून का आगे बढ़ना बाधित हुआ है. विभाग ने कहा, एक जून से दक्षिण-पश्चिमी हवाएं धीरे-धीरे जोर पकड़ सकती हैं, जिसके चलते केरल में वर्षा संबंधी गतिविधि में तेजी आ सकती है. लिहाजा केरल में तीन जून के आसपास मानसून की शुरुआत होने की उम्मीद है.




इसे भी पढ़ें :-अरब सागर में इस हफ्ते बन सकता है 2021 का पहला चक्रवात, इन राज्यों में होगी बारिश

बिहार में आंधी, बारिश के साथ वज्रपात की आशंका

चक्रवाती तूफान यास बिहार से गुजरकर पूर्वी व मध्य उत्तर प्रदेश की सीमा में अपना असर दिखा रहा है. मौसम विज्ञान केंद्र ने प्रदेश में येलो अलर्ट जारी करते हुए लोगों से सावधान रहने की सलाह दी है. वातावरण में मौजूद नमी के कारण कई जिलों में आंधी, बारिश के साथ वज्रपात की आशंका है. पटना मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार प्रदेश में भारी बारिश होने से वातावरण नमी से भरा है. ऐसे में धूप निकलने पर कहीं भी बादल बन सकते हैं और आंधी के साथ बारिश हो सकती है.

इसे भी पढ़ें :- बिहार: संभलकर रहें! 'यास' के असर से इन क्षेत्रों में आंधी, बारिश और वज्रपात की आशंका

सामान्‍य रूप से 1 जून को दस्‍तक देता है मानसून

विभाग के अनुसार निम्न स्तरीय दक्षिण-पश्चिमी हवाओं के जोर पकड़ने के चलते वर्षा संबंधी गतिविधियां तेज होंगी. इसके साथ ही अगले पांच दिन के दौरान उत्तरपूर्वी राज्यों में कुछ स्थानों में भारी बारिश होने का अनुमान है. केरल में सामान्य रूप से एक जून को मॉनसून दस्तक दे देता है. इसके साथ ही देश में चार महीने तक चलने वाली वर्षा ऋतु शुरुआत हो जाती है. मौसम विभाग ने इस महीने की शुरुआत में केरल में 31 मई को मानसून के दस्तक देने का अनुमान जताया था. इसमें चार दिन आगे पीछे होने का अनुमान था.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज