असम में भारी बारिश बनी आफत, डूमदूमा में पुल टूटा, डिब्रूगढ़ में जलभराव

असम में भारी बारिश की वजह से पुल टूटा
असम में भारी बारिश की वजह से पुल टूटा

उप पुलिस अधीक्षक (DSP) ने कहा, 'असम (Assam) में भारी बारिश से अभी तक किसी के घायल या हताहत होने की सूचना नहीं है, लेकिन यह बागवान में तेल की कमी को नियंत्रित करने के लिए ऑपरेशन को प्रभावित करेगा.'

  • Share this:
डिब्रूगढ़. दक्षिण भारत के कई राज्यों में इस साल मानसून (Monsoon) ने समय से पहले ही दस्तक दे दी है. असम (Assam) के कुछ जिलों में कई दिनों से भारी बारिश हो रही है. जिसकी वजह से डूमडोमा-बागजान मार्ग पर एक पुल ढह गया है. वहीं भारी बारिश (Rain) के चलते डिब्रूगढ़ के कुछ हिस्सों में पानी जमा हुआ है. मौसम विभाग ने कई राज्यों में अलर्ट जारी किया है.

उप पुलिस अधीक्षक (DSP) बिटुल चेतिया ने कहा, 'अभी तक किसी के घायल या हताहत होने की सूचना नहीं है, लेकिन यह बागवान में तेल की कमी को नियंत्रित करने के लिए ऑपरेशन को प्रभावित करेगा.' भारतीय मौसम विभाग (IMD) के अनुसार गुजरात के कच्छ और मध्य प्रदेश में इस साल के मानसून की आज पहली बारिश होने के आसार हैं.


हिमाचल पहुंचा मानसून
वहीं, दक्षिण पश्चिमी मानसून बुधवार को हिमाचल प्रदेश पहुंचा जिसके कारण राज्य के ज्यादातर क्षेत्रों में बारिश हुई. मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक मनमोहन सिंह ने कहा कि कांगड़ा और मंडी जिले में कुछ स्थानों पर भारी बारिश हुई. उन्होंने बताया कि कांगड़ा जिले के पालमपुर में पिछले 24 घंटे के दौरान सर्वाधिक 110 मिलीमीटर बारिश हुई. सिंह ने कहा कि जोगिंदरनगर में 96 मिलीमीटर, बैजनाथ में 93 मिलीमीटर, धर्मशाला में 92 मिलीमीटर, गग्गल में 87 मिलीमीटर, सहारन और कुमारसेन में 33-33 मिलीमीटर, डलहौजी में 25 मिलीमीटर और मंडी में 16 मिलीमीटर बारिश हुई.



उन्होंने कहा कि शिमला में 13 मिलीमीटर बारिश हुई. मौसम विज्ञान केंद्र ने कहा कि राज्य में 30 जून तक बारिश होने का अनुमान है. केंद्र ने कुछ स्थानों और मध्यम ऊंचाई वाली पहाड़ियों पर बृहस्पतिवार को तेज हवाओं और बिजली कड़कने के साथ भारी बारिश होने की चेतावनी जारी की है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज