अपना शहर चुनें

States

Weather Updates: उत्तर-पश्चिमी भारत में कल भी हो सकती है बारिश, इन राज्‍यों के लिए शीतलहर का अलर्ट

मौसम विभाग के मुताबिक देश के कई हिस्सों में आने वाले दिनों में शीतलहर का प्रकोप रहेगा (फाइल फोटो)
मौसम विभाग के मुताबिक देश के कई हिस्सों में आने वाले दिनों में शीतलहर का प्रकोप रहेगा (फाइल फोटो)

Weather Updates: आठ जनवरी 2006 को दिल्ली में न्यूनतम तापमान 0.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था राजधानी में अभी तक का सबसे कम तापमान जनवरी 1935 में 0.6 डिग्री से. दर्ज किया गया था.

  • Share this:
नई दिल्ली. उत्तर भारत (North India) में पांच जनवरी तक भारी बारिश जारी रहने का अनुमान है. इसके साथ ही अलग-अलग स्थानों पर बारिश के अलावा ओलावृष्टि का भी पूर्वानुमान है. भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने रविवार को यह जानकारी दी. आईएमडी के मुताबिक, इस तरह की मौसमी गतिविधियां मैदानी इलाकों (पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, पश्चिमी उत्तर प्रदेश और उत्तरी राजस्थान) में रविवार और सोमवार को जबकि सोमवार से पश्चिमी हिमालयी क्षेत्र (जम्मू-कश्मीर, लद्दाख, गिलगित-बाल्टिस्तान और मुजफ्फराबाद, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड) में चरम पर रहेंगी.

विभाग ने कहा कि बारिश के बाद उत्तर-पश्चिम भारत (North-West India) के मैदानी भागों में उत्तरी-उत्तरी पश्चिमी हवाओं के चलने का अनुमान है, जिसके चलते सात जनवरी से पंजाब, हरियाणा और उत्तरी राजस्थान के दूर-दराज के स्थानों पर जबरदस्त शीतलहर चलने की संभावना है. राष्ट्रीय राजधानी के कई हिस्सों में सोमवार सुबह घना कोहरा छाया रहा और आसमान में बादल छाए रहने के कारण न्यूनतम तापमान बढ़कर 11.4 डिग्री सेल्सियस हो गया. भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने यह जानकारी दी. विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि कोहरे के कारण दृश्यता कम हो गई. सुबह करीब साढ़े सात बजे सफदरजंग वेधशाला में दृश्यता 50 मीटर तथा पालम में 150 मीटर दर्ज की गई.

आईएमडी के अनुसार शून्य से 50 मीटर के बीच दृश्यता होने पर कोहरा ‘बेहद घना’ , 50 से 200 मीटर के बीच ‘घना’, 201 से 500 के मीटर के बीच ‘मध्यम’ और 501 से 1,000 मीटर के बीच दृश्यता होने पर कोहरे को ‘हल्का’ माना जाता है. सफदरजंग वेधशाला में न्यूनतम तापमान 11.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो बीते 22 दिन में सबसे अधिक है. तापमान में वृद्धि आसमान में बाद छाए रहने के कारण हुई है.



ये भी पढ़ें- दिल्‍ली-NCR में फिर बारिश, शीतलहर का अलर्ट; जानें कब ठंड से मिलेगी राहत
मंगलवार को भी हो सकती है बारिश
उत्तरपश्चिमी भारत को प्रभावित करने वाले पश्चिम विक्षोभ के कारण रविवार को यहां तेज बारिश हुई. सफदरजंग वेधशाला में शनिवार सुबह साढ़े आठ बजे से लेकर रविवार दोपहर ढाई बजे तक 39.9 मिली बारिश दर्ज की गई. मौसम विभाग ने कहा कि सोमवार तथा मंगलवार को भी बारिश हो सकती है. एक अधिकारी ने बताया कि पश्चिमी विक्षोभ के कारण पहाड़ों में बर्फबारी हो रही है. इसके बंद होने के बाद तापमान फिर गिरकर चार से पांच डिग्री सेल्सियस के आसपास आ जाएगा. शुक्रवार को दिल्ली में न्यूनतम तापमान 1.1 डिग्री सेल्सियस हो गया था जो बीते 15 वर्षों में सबसे कम था. बेहद घने कोहरे के कारण दृश्यता गिरकर ‘शून्य’ मीटर हो गई थी.

इससे पहले आठ जनवरी 2006 को दिल्ली में न्यूनतम तापमान 0.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था राजधानी में अभी तक का सबसे कम तापमान जनवरी 1935 में 0.6 डिग्री से. दर्ज किया गया था.

वहीं पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव के कारण राजस्थान के कुछ हिस्सों में पिछले 24 घंटों के दौरान कहीं हल्की और कहीं तेज बारिश हुई. मौसम विभाग के अनुसार पिछले 24 घंटों के दौरान सवाई माधोपुर में 43 मिलीमीटर, कोटा में 15.7 मिलीमीटर, बूंदी में 14.7 मिलीमीटर, जयपुर में चार मिलीमीटर बारिश हुई. मौसम विभाग के अनुसार राज्य के अधिकतर हिस्सों में रात के तापमान में मामूली बढ़ोतरी दर्ज की गई. राज्य में पिलानी सबसे ठंडा स्थान रहा, जहां न्यूनतम तापमान 4.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

ये भी पढ़ें- कई शहरों के बीच उड़ान भरेंगे सी-प्लेन! देखें लिस्‍ट में आपका शहर है या नहीं

मौसम विभाग ने बताया कि जैसलमेर में 7.4 डिग्री सेल्सियस, बीकानेर में 9.4 डिग्री, बाड़मेर में 9.8 डिग्री और राज्य के अन्य हिस्सों में न्यूनतम तापमान 10 डिग्री सेल्सियस से अधिक दर्ज किया गया. मौसम विभाग ने आगामी 24 घंटों के दौरान राज्य के कुछ हिस्सों में हल्की बारिश के साथ तेज हवाएं चलने का अनुमान जताया है.

पंजाब-हरियाणा में न्यूनतम तापमान सामान्य से अधिक
वहीं हरियाणा और पंजाब के अधिकतर हिस्सों में न्यूनतम तापमान सामान्य से अधिक दर्ज किया गया. मौसम विज्ञान विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि दोनों राज्यों की संयुक्त राजधानी चंडीगढ़ में न्यूनतम तापमान सामान्य से सात डिग्री अधिक 12.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

हरियाणा के अंबाला, हिसार और करनाल में न्यूनतम तापमान क्रमश: 11.2 , 9.4 और 10.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. वहीं, नारलौल, रोहतक, भिवानी और सिरसा में न्यूनतम तापमान क्रमश: 9.4, 12.6, 6.5 और 10.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. पंजाब के अमृतसर, लुधियाना और पटियाला में न्यूनतम तापमान सामान्य से आठ डिग्री अधिक क्रमश: 11, 13.4 और 12.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

वहीं, पठानकोट में न्यूनतम तापमान 13 डिग्री सेल्सियस, आदमपुर में 13.5 डिग्री सेल्सियस, हलवारा में 14.2 डिग्री सेल्सियस, बठिंडा में 5.6 डिग्री सेल्सियस, फरीदकोट में 11.5 डिग्री सेल्सियस और गुरदासपुर में छह डिग्री सेल्सियस रहा. पंजाब में कई स्थानों पर बारिश भी हुई. अमृतसर में 2.2 मिमी, लुधियाना में 1.7 मिमी, पठानकोट में 1.6 मिमी, आदमपुर में 0.8 मिमी और गुरदासपुर में 6.7 मिमी बारिश दर्ज की गई.

ये भी पढ़ें- शुरुआत में महंगी हो सकती है कोवैक्सीन, फिर उत्‍पादन पर निर्भर करेगी कीमत- भारत बायोटेक

दूसरे दिन भी श्रीनगर में विमानों की आवाजाही बंद
उधर जम्मू कश्मीर के श्रीनगर में हिमपात की वजह से खराब दृश्यता के कारण सोमवार को लगातार दूसरे दिन विमानों का आवागमन रद्द कर दिया गया. भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण के एक अधिकारी ने पीटीआई भाषा को बताया, ‘‘रनवे पर जमी बर्फ को साफ कर दिया गया है लेकिन खराब दृश्यता के कारण विमानों का परिचालन रद्द करना पड़ा.’’



अधिकारी ने बताया कि अगर मौसम अनुकूल हुआ और दृश्यता ठीक रही तो विमानों का परिचालन मंगलवार को ही होगा.

गौरतलब है कि घाटी में हिमपात के कारण रविवार को भी विमानों का परिचालन रद्द करना पड़ा था.

मौसम विभाग ने सोमवार से अगले दो दिन तक मध्यम से तेज और कहीं-कहीं भारी हिमपात की आशंका जतायी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज