होम /न्यूज /राष्ट्र /मौसम अपडेट: दक्षिण भारत में आज भी दिखेगा चक्रवात 'मैंडूस' का असर, मैदानी राज्यों में बढ़ेगी ठंड और शीतलहर

मौसम अपडेट: दक्षिण भारत में आज भी दिखेगा चक्रवात 'मैंडूस' का असर, मैदानी राज्यों में बढ़ेगी ठंड और शीतलहर

उत्तरी तमिलनाडु-दक्षिण आंध्र प्रदेश के तटों पर चक्रवात मैंडूस के आने की भविष्यवाणी से पहले चेन्नई के पट्टिनपक्कम समुद्र तट पर लहरों के बीच अपनी नाव चलाते मछुआरे। (AFP)

उत्तरी तमिलनाडु-दक्षिण आंध्र प्रदेश के तटों पर चक्रवात मैंडूस के आने की भविष्यवाणी से पहले चेन्नई के पट्टिनपक्कम समुद्र तट पर लहरों के बीच अपनी नाव चलाते मछुआरे। (AFP)

तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह सहित कई इलाकों में बीते 12 घंटे के दौरान हल्की से भारी बारिश हुई ह ...अधिक पढ़ें

नई दिल्ली: पहाड़ों पर बारिश और बर्फबारी के बीच हिमालय से चल रही बर्फीली हवाओं के कारण उत्तर भारत के मैदानी इलाकों में पिछले कुछ दिनों से तापमान में लगातार गिरावट देखी जा रही है. जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, मध्य प्रदेश, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, बिहार और झारखंड समेत कई राज्यों में पारा लगातार गिर रहा है. कई इलाकों में कड़ाके की ठंड पड़ रही है. पश्चिमी विक्षोभ के कारण पिछले कई दिनों से जम्मू, कश्मीर, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड के पहाड़ों पर बर्फबारी और बारिश हो रही है. इस बीच, पश्चिमी विक्षोभ के उत्तरी पाकिस्तान और उससे सटे इलाकों से आगे बढ़ने की संभावना के बीच अगले तीन से चार दिनों में मौसम के मिजाज में बदलाव हो सकता है. मौसम विभाग (IMD) के मुताबिक, अगले कुछ दिनों तक गिलगित, बाल्टिस्तान, मुजफ्फराबाद, लद्दाख, जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड के पहाड़ों में बर्फबारी के साथ बारिश होने के आसार हैं.

Bengal की खाड़ी में उठे चक्रवाती तूफान और उत्तर भारत में हो रही बर्फबारी का अब JHarkhand में दिखा असर

दिल्ली-एनसीआर (Delhi NCR Weather) में ठंड का असर धीरे-धीरे दिखने लगा है. हालांकि अभी भी उतनी ठंड नहीं है, जितनी आमतौर पर दिसंबर के महीने में पड़ती है. मौसम विभाग (IMD) के मुताबिक दिल्लीवासियों को कड़ाके की ठंड के लिए अभी और इंतजार करना होगा. इस बीच मैदानी इलाकों में सुबह-शाम कोहरा और पहाड़ों पर सुबह पाला पड़ने की संभावना है. कई जगहों पर कोहरा अभी से पड़ना शुरू हो गया है. सुबह कई इलाकों में कोहरे के कारण दृश्यता बहुत कम हो जाती है, जिससे यातायात काफी प्रभावित हो रहा है. कोहरे की सबसे ज्यादा मार लंबी दूरी की ट्रेनों पर भी पड़ रही है. ट्रेनें भी लेट हो रही हैं, इससे यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा. दक्षिण भारत के राज्यों में आज भी बारिश का अनुमान है. दरअसल, बंगाल की खाड़ी के ऊपर बना कम दबाव का क्षेत्र अब गहरे दबाव वाले चक्रवाती तूफान ‘मैंडूस’ में बदल गया है.

चेन्नई क्षेत्रीय मौसम केंद्र ने बताया कि चक्रवाती तूफान मैंडूस (Cyclone Mandous) ने ममल्लापुरम के करीब तट को पार कर लिया है और आज मामल्लापुरम के उत्तर-पश्चिम में, चेन्नई से लगभग 30 किमी दक्षिण-दक्षिण पश्चिम में 12.7 ° N / 80.1 ° E के पास केंद्रित है. चक्रवात गहरे अवसाद में तब्दील हो चुका है और इसकी ताकत कमजोर पड़ रही है. तमिलनाडु के उत्तर-पश्चिम क्षेत्रों में 55-65 किमी प्रति घंटे की तेज हवाएं चलेंगी, जो शाम तक 30-40 किमी प्रति घंटे तक कम हो जाएंगी. चक्रवात का पिछला क्षेत्र जमीन की ओर बढ़ रहा है, इसलिए इसकी लैंडफॉल प्रक्रिया अगले कुछ घंटे में पूरी हो जाएगी. इसके चलते तमिलनाडु के रानीपेट्टई, वेल्लोर, विलुप्पुरम, तिरुवन्नामलाई, सलेम, कल्लाकुरिची, तिरुपट्टूर जिलों और पुडुचेरी में कुछ स्थानों पर गरज चमक के साथ मध्यम से भारी बारिश होने की संभावना है.

Cyclone ‘मैंडूस’ की दहशत! आज से 3 दिनों तक यहां बारिश, बर्फबारी से गिरेगा पारा

तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह सहित कई इलाकों में बीते 12 घंटे के दौरान हल्की से भारी बारिश हुई है. क्योंकि चक्रवात मैंडूस कमजोर पड़ गया था और कराईकल, पुडुचेरी से लगभग 180 किमी उत्तर पूर्व में केंद्रित था और तमिलनाडु से पश्चिम उत्तर पश्चिम की ओर बढ़ रहा है. मौसम विभाग (IMD) के अनुसार, अगले कुछ दिनों तक मैंडूस के प्रभाव के कारण कर्नाटक, तमिलनाडु, केरल, अंडमान और निकोबार जैसे दक्षिणी राज्यों में हल्की से भारी बारिश जारी रहने की संभावना है. निजी मौसम पूर्वानुमान एजेंसी स्काईमेट वेदर के अनुसार, एक ताजा पश्चिमी विक्षोभ आज से 11 दिसंबर के बीच गिलगित-बाल्टिस्तान, मुजफ्फराबाद, लद्दाख, जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में हल्की से मध्यम बारिश और हिमपात ला सकता है.

Tags: IMD forecast, Weather Alert, Weather Update

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें