Home /News /nation /

Weather Update: बारिश दिलाएगी दिल्ली को जहरीली हवा से राहत? बंगाल-ओडिशा पर साइक्लोन का खतरा

Weather Update: बारिश दिलाएगी दिल्ली को जहरीली हवा से राहत? बंगाल-ओडिशा पर साइक्लोन का खतरा

मौसम विभाग ने कई राज्यों में बारिश का अलर्ट जारी किया है. फाइल फोटो

मौसम विभाग ने कई राज्यों में बारिश का अलर्ट जारी किया है. फाइल फोटो

Weather Forecast Today: दो दिसंबर को मौसम विभाग की ओर से जम्‍मू कश्‍मीर, उत्‍तराखंड, हिमाचल प्रदेश, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्‍ली, उत्‍तर प्रदेश, राजस्‍थान, मध्‍य प्रदेश, आंध्र प्रदेश, ओडिशा, अंडमान निकोबार समेत कुछ अन्‍य राज्‍यों में मौसम खराब रहने और बारिश होने की संभावना जताई गई है. दिल्‍ली में उत्तर पश्चिम भारत को प्रभावित करने वाले पश्चिमी विक्षोभ के परिणामस्वरूप में गुरुवार को आंशिक तौर पर बादल छाए रहेंगे और बूंदाबांदी होगी.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्‍ली. देश के विभिन्‍न हिस्‍सों में सर्दियों (Winter 2021) का दौर शुरू हो गया है. इसके चलते न्‍यूनतम तापमान में गिरावट दर्ज की जा रही है. इस बीच अरब सागर में निम्न दबाव का क्षेत्र बनने और पश्चिमी विक्षोभ उत्‍पन्‍न होने की वजह से महाराष्‍ट्र, गुजरात, मध्‍य प्रदेश, ओडिशा, आंध्र प्रदेश समेत कई राज्‍यों के लिए गुरुवार को बारिश (Rain Alert) और तूफान (Thunderstorm) का अलर्ट जारी किया गया है. मौसम विभाग (IMD) का कहना है कि इन राज्‍यों में हल्‍की से तेज बारिश (Rain) हो सकती है. वहीं दिल्‍ली में वायु प्रदूषण (Delhi Air Pollution) का स्‍तर गुरुवार को बढ़ सकता है.

    दो दिसंबर को मौसम विभाग की ओर से जम्‍मू कश्‍मीर, उत्‍तराखंड, हिमाचल प्रदेश, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्‍ली, उत्‍तर प्रदेश, राजस्‍थान, मध्‍य प्रदेश, आंध्र प्रदेश, ओडिशा, अंडमान निकोबार समेत कुछ अन्‍य राज्‍यों में मौसम खराब रहने और बारिश होने की संभावना जताई गई है. दिल्‍ली में उत्तर पश्चिम भारत को प्रभावित करने वाले पश्चिमी विक्षोभ के परिणामस्वरूप में गुरुवार को आंशिक बादल छाए रहेंगे और बूंदाबादी होगी. राजधानी में अधिकतम तापमान करीब 25 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया जा सकता है. पश्चिमी विक्षोभ के कारण हवा की गति धीमी होने के चलते प्रदूषण तत्व जमा होंगे जिससे वायु प्रदूषण का स्तर बढ़ सकता है.

    महाराष्‍ट्र, गुजरात में बारिश
    वहीं अरब सागर में बने निम्न दबाव के क्षेत्र और पश्चिमी विक्षोभ की वजह से मुंबई, इसके उपनगरीय इलाकों और उत्तरी और मध्य महाराष्ट्र तथा गुजरात के दक्षिणी हिस्से में बुधवार को बारिश हुई. आईएमडी ने बताया है कि दो दिसंबर तक बारिश का यह दौर जारी रहने का अनुमान है. आईएमडी के मुंबई के क्षेत्रीय मौसम विज्ञान केंद्र के प्रमुख जयंत सरकार ने बताया कि पालघर, ठाणे, रायगढ़, मुंबई, नासिक, धुले, नंदुरबार में भी बुधवार को बारिश हुई.

    यह भी पढ़ें: खुशखबरी! इस दिन किसानों के खाते में क्रेडिट हो जाएंगे 4000 रुपये, तुरंत चेक करें स्टेटस

    नवंबर-दिसंबर में महाराष्ट्र में सामान्य तौर पर बारिश नहीं होती है, लेकिन, दक्षिण पूर्व और पूर्व मध्य अरब सागर के ऊपर बनी चक्रवाती हवाओं की वजह से बारिश हुई है. आईएमडी के राष्ट्रीय मौसम पूर्वानुमान केंद्र की प्रमुख सती देवी ने बताया कि पश्चिमी विक्षोभ के संपर्क से भूमध्यसागरीय क्षेत्र में एक चक्रवाती प्रवाह उत्पन्न होता है. इस वजह से उत्तर भारत में बारिश और बर्फबारी होती है. इन दो मौसमी प्रणालियों के कारण बुधवार को गुजरात, उत्तर मध्य महाराष्ट्र और उत्तरी कोंकण में भारी से बहुत भारी वर्षा के साथ अत्‍यधिक बारिश होने की संभावना है. बारिश दो दिसंबर को भी जारी रहने का अनुमान है.

    पश्चिमोत्तर और मध्य भारत के आस पास के क्षेत्रों में पश्चिमी विक्षोभ के चलते गुजरात के कुछ हिस्सों में दो दिसंबर तक तेज बारिश हो सकती है. मौसम विभाग ने इस अवधि में मछुआरों को अरब सागर में मछलियां पकड़ने के लिए नहीं जाने तथा किसानों को कटी हुई फसल सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने और कृषि से जुड़ी गतिविधियां नहीं करने की सलाह दी है.

    आईएमडी ने कहा है कि गुरुवार को बनासकांठा, साबरकांठा, छोटा उदयपुर, अरावली,दाहोद और महिसागर, वडोदरा, नर्मदा, भडूच, तापी, अमरेली और भावनगर जिले में दूर दराज के स्थानों में भारी से बेहद भारी बारिश हो सकती है. दो दिसंबर को खराब मौसम और दक्षिण गुजरात तट और उससे सटे उत्तर-पश्चिम अरब सागर तक 45-55 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से आने वाली हवा की संभावना के मद्देनजर मछुआरों को इन दो दिनों तक इन स्थानों पर नहीं जाने की सलाह दी गई है.

    आईएमडी ने गुजरात में किसानों को रबी की फसल की बुवाई नहीं करने और अनाज को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने की सलाह दी है. साथ ही प्रभावित जिलों के किसानों को पानी की निकासी की व्यवस्था दुरुस्त रखने को कहा गया है, ताकि खेतों में पानी नहीं भर पाए. पशुओं को भी सुरक्षित स्थानों पर रखने की सलाह किसानों को दी गई है.

    ओडिशा में 3 दिसंबर से चलेंगी तेज हवाएं
    मौसम विभाग ने कहा कि एक चक्रवाती तूफान के शनिवार की सुबह आंध्र प्रदेश और ओडिशा के तटवर्ती क्षेत्रों में पहुंचने का अनुमान है. कम दबाव के क्षेत्र के पश्चिम-उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ने और दो दिसंबर तक दक्षिण-पूर्व तथा पास के बंगाल की खाड़ी के मध्य भाग में उसके अवदाब में बदलने की संभावना है. उसके अगले 24 घंटों में इसके बंगाल की खाड़ी के मध्य भाग में चक्रवाती तूफान का रूप लेने की आशंका है. उसके बाद इसके उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ने, और सघन होने और चार दिसंबर, शनिवार की सुबह उत्तरी आंध्र प्रदेश-ओडिशा के तटवर्ती क्षेत्रों में पहुंचने की संभावना है.

    ओडिशा के तटवर्ती क्षेत्रों में भारी से बहुत भारी और अति भारी बारिश होने का अनुमान है और ओडिशा में आसपास के जिलों, पश्चिम बंगाल के तटवर्ती जिलों और आंध्र प्रदेश के उत्तरी तटवर्ती क्षेत्रों में भारी से बहुत भारी बारिश होने का अनुमान है. 3 दिसंबर से ओडिशा तट पर 40-50 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलने की संभावना है और धीरे-धीरे इसकी गति बढ़ेगी. चक्रवाती तूफान के दौरान इसके 60-90 किमी प्रति घंटे के आसपास रहने की संभावना है.

    मौसम विभाग ने कहा है कि संभावना है कि उत्तरी-पूर्वी राज्यों में 5-6 दिसंबर को भारी बारिश हो सकती है. ओडिशा में कम दबाव क्षेत्र की की गति और इसके प्रभाव के बारे में विस्तार से बताते हुए आईएमडी के डीजी मृत्युंजय महापात्र ने कहा कि हालांकि यह 4 दिसंबर की सुबह ओडिशा और उत्तरी आंध्र प्रदेश के तट के पास होगा, लेकिन यह तुरंट तट से नहीं टकराएगा. यह धीरे-धीरे उत्तर-उत्तर पूर्व दिशा में आगे बढ़ेगा.

    Tags: Delhi air pollution, IMD alert, Weather forecast

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर