होली से पहले बदलेगा मौसम, पहाड़ों पर होगी बर्फबारी, कई राज्‍यों में होगी जमकर बारिश

होली से पहले बदलेगा मौसम का मिजाज (File photo)

होली से पहले बदलेगा मौसम का मिजाज (File photo)

जम्मू-कश्मीर से लेकर उत्तराखंड तक के सभी पहाड़ी राज्यों में 22 से 24 मार्च के बीच बर्फबारी और ओलावृष्टि के साथ तेज गरज और बारिश हो सकती है. यह मौसमी बदलाव वेस्‍टर्न डिस्‍टर्बेंस के चलते देखने को मिलेगा. यह मार्च का अंतिम सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ हो सकता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 22, 2021, 8:42 AM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली : होली (Holi 2021) से पहले उत्‍तर भारत (North India) के मौसम में अच्‍छा खासा बदलाव देखने को मिल सकता है. मौसम विज्ञानियों का अनुमान है कि जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) से लेकर उत्तराखंड (Uttarakhand) तक के सभी पहाड़ी राज्यों में बर्फबारी (Snowfall) और ओलावृष्टि के साथ तेज गरज और बारिश हो सकती है. साथ ही पंजाब से लेकर राजस्‍थान एवं दिल्‍ली एनसीआर से मध्‍य प्रदेश तक गरज के साथ बारिश हो सकती है. यह सबकुछ ताजा पश्चिमी विक्षोभ के चलते होगा, जिससे जम्मू और कश्मीर, गिलगित बाल्टिस्तान, मुजफ्फराबाद, लद्दाख और हिमाचल प्रदेश के कुछ हिस्सों में अच्छी बारिश और बर्फबारी होगी.

वरिष्‍ठ मौसम विज्ञानी महेश पालावत ने बताया कि जम्मू-कश्मीर से लेकर उत्तराखंड तक के सभी पहाड़ी राज्यों में 22 से 24 मार्च के बीच बर्फबारी और ओलावृष्टि के साथ तेज गरज और बारिश हो सकती है. यह मौसमी बदलाव वेस्‍टर्न डिस्‍टर्बेंस के चलते देखने को मिलेगा. यह मार्च का अंतिम सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ हो सकता है.

पालावत कहते हैं कि पहाड़ी राज्‍यों में बर्फबारी और ओलावृष्टि का असर मैदानी राज्‍यों में भी देखने को मिलेगा. पंजाब, हरियाणा और राजस्थान के कुछ हिस्सों में हल्की बारिश और आंधी चलने के आसार हैं. आज इसकी तीव्रता और प्रसार बढ़ने के पूरे आसार हैं.

वहीं, दिल्ली और मध्य प्रदेश के पश्चिमी हिस्सों में भी 22 और 23 मार्च को अच्छी गरज के साथ बारिश हो सकती है. 22 मार्च को और 23 को उत्तर-पश्चिमी भारत में तेज हवाओं के साथ ओले पड़ सकते हैं. इन्‍हें प्री-मानसून गतिविधियां कहा जा सकता है.
उनका कहना है कि तेज हवाएं, मध्यम वर्षा और ओलावृष्टि उन फसलों को नुकसान पहुंचा सकती हैं, जो कटाई के लिए तैयार हैं. वहीं, पश्चिमी विक्षोभ 25 मार्च तक पूर्व की ओर खिसक जाएगा और साफ हो जाएगा. उत्तर की ओर से चलने वाली ठंडी हवाएं 27 मार्च तक तापमान को कम कर सकती हैं. इसके बाद दिन और रात के तापमान में क्रमिक वृद्धि का अनुमान है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज