• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • पटेल न होते तो अपने देश में ही घूमने के लिए वीज़ा-पासपोर्ट की जरूरत होती: राजनाथ सिंह

पटेल न होते तो अपने देश में ही घूमने के लिए वीज़ा-पासपोर्ट की जरूरत होती: राजनाथ सिंह

दिल्ली में राजनाथ सिंह ने 'रन फॉर यूनिटी’को हरी झंडी दिखा कर रवाना किया

दिल्ली में राजनाथ सिंह ने 'रन फॉर यूनिटी’को हरी झंडी दिखा कर रवाना किया

राजनाथ सिंह ने पटेल की 143 वीं जयंती के अवसर पर ‘रन फॉर यूनिटी’ को हरी झंडी दिखा कर रवाना करने के दौरान ये बातें कही

  • Share this:
    गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने बुधवार को कहा कि भारत अपनी विविधताओं के लिए जाना जाता है और लौह पुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल ने ये सुनिश्चित किया था कि देश अपनी इसी विशेषता के साथ एक सूत्र में बंधा रहे.

    पीएम ने पटेल की प्रतिमा राष्ट्र को समर्पित की, बोले- यह देश की इंजीनियरिंग का उदाहरण

    सिंह ने पटेल की 143 वीं जयंती के अवसर पर ‘रन फॉर यूनिटी’ को हरी झंडी दिखा कर रवाना करने के दौरान कहा कि प्रधानमंत्री मजबूत भारत बनाने और इसे एकजुट रखने के देश के पहले गृह मंत्री के उद्देश्य को पूरा करने के लिए लगातार काम कर रहे हैं.

    उन्होंने कहा, ‘‘सरदार पटेल भारत की एकता के प्रतीक हैं. उन्होंने देश की 562 रियासतों को देश में मिलाने का काम सिर्फ 70 दिन की छोटी सी अवधि में और वो भी बिना किसी खूनखराबे के किया.’’

    पटेल की खूबियों का जिक्र करते हुए गृह मंत्री ने कहा कि पटेल को ये सफलता उनके राजनीतिक कुशाग्रता, अतुलनीय उत्साह और दूरदृष्टि के कारण मिली वरना हमें इन स्थानों पर वीजा और पासपोर्ट के साथ जाना पड़ता.

    Ease of Doing Rating: भारत की रेटिंग में जबरदस्त उछाल, 100 नंबर से चढ़कर अब 77वें पायदान पर

    सिंह ने कहा वो पटेल ही थे जिन्होंने ये सुनिश्चित किया कि देश विभिन्न धर्मों, भाषाओं और संस्कृति जैसी अपनी विशेषताओं के साथ एकता के सूत्र के बंधा रहे. उन्होंने कहा कि देश के प्रथम गृह मंत्री ने भारत भर में राष्ट्रवाद की भावना जगाई और वो सबको साथ लेकर प्रगति के रास्ते पर चलने में विश्वास करते थे.

    सिंह ने कहा, ‘‘पटेल ने ऐसे भारत का सपना देखा था जो हमेशा ताकतवर और एकजुट रहे. हमारे प्रधानमंत्री सब को साथ लेकर उसी दिशा में काम कर रहे हैं.’’

    गृह मंत्री ने अपने संबोधन में गुजरात में सरदार वल्लभ भाई पटेल की 182 मीटर ऊंची प्रतिमा ‘स्टैच्यू ऑफ यूनिटी’ का भी जिक्र किया जिसे प्रधानमंत्री ने आज राष्ट्र को समर्पित किया.

    दौड़ शुरू करने के पहले सिंह ने राष्ट्रीय एकता की शपथ दिलाई. इसमें हजारों लोगों ने हिस्सा लिया. दिल्ली के मेजर ध्यान चंद स्टेडियम में आयोजित कार्यक्रम में केन्द्रीय मंत्री हर्षवर्धन, आर के सिंह, राजवर्धन सिंह राठौर, हरदीप पुरी, दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल, केन्द्रीय गृह सचिव राजीव गौबा के साथ अन्य लोग मौजूद रहे.

    ये भी पढ़ें:

    सुप्रीम कोर्ट ने पूछी राफेल विमान की कीमत, जवाब के लिए केंद्र को दिया 10 दिन का वक्त

    जानें, कैसे सरदार पटेल के आगे बौनी पड़ीं दुनियाभर की सारी प्रतिमाएं

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज