Home /News /nation /

Delhi Riots Chargesheet: क्या योगेंद्र यादव और सीताराम येचुरी ने भी रची थी दिल्ली दंगों की साजिश? पुलिस ने दी ये सफाई

Delhi Riots Chargesheet: क्या योगेंद्र यादव और सीताराम येचुरी ने भी रची थी दिल्ली दंगों की साजिश? पुलिस ने दी ये सफाई

सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी और स्वराज अभियान के नेता योगेंद्र यादव

सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी और स्वराज अभियान के नेता योगेंद्र यादव

Delhi Riots: दिल्ली के उत्तर पूर्वी जिले में 23 से 26 फरवरी के बीच दंगे हुए थे. आरोप-पत्र में दावा किया गया है कि दंगों में 53 लोगों की मौत हुई थी और 581 लोग घायल हो गए थे, जिनमें से 97 लोग गोली लगने से घायल हुए थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
    नई दिल्ली. दिल्ली दंगों (Delhi Riots) की सप्लिमेंट्री चार्जशीट में सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी (Sitaram Yechury) और स्वराज अभियान के नेता योगेंद्र यादव (Yogendra Yadav) समेत कुछ अन्य जानीमानी हस्तियों का नाम सह-षड्यंत्रकर्ताओं (Co-conspirators) के तौर पर दर्ज किए जाने की खबरों की दिल्ली पुलिस (Delhi police) ने खंडन किया है. इस मामले में दिल्ली पुलिस ने बयान जारी कर कहा कि इन नेताओं का नाम नाम एंटी-सीएए प्रदर्शनों को आयोजित करने और उसका हिस्सा रहने वाले एक आरोपी ने अपने बयान में लिया था. पुलिस का कहना है सिर्फ किसी के बयान से कोई आरोपी नहीं हो जाता है. पुलिस ने ये भी कहा है कि किसी के बयान के आधार पर सबूत मिलने के बाद ही कोई कानूनी कार्रवाई की जाती हैऔर फिलहाल इस मामले में जांच चल रही है.

    कई नेताओं पर आरोप लगने का दावा
    बता दें कि समाचार एजेंसी पीटीआई ने रविवार देर शाम दावा किया था कि इस साल फरवरी में हुए दंगों के मामले में दिल्ली पुलिस ने कई बड़े नेता और एक्टिविस्ट को भी सह-षड्यंत्रकर्ता बनाया है. इस लिस्ट में माकपा महासचिव सीताराम येचुरी, स्वराज अभियान के नेता योगेंद्र यादव, अर्थशास्त्री जयती घोष, दिल्ली विश्वविद्यालय के प्रोफेसर और कार्यकर्ता अपूर्वानंद और डॉक्यूमेंटरी फिल्मकार राहुल रॉय के नाम होने का दावा किया गया था. पीटीआई ने दावा किया था कि इन लोगों ने सीएए का विरोध कर रहे प्रदर्शनकारियों को किसी भी हद तक जाने को कहा. साथ ही सीएए-एनआरसी को मुस्लिम विरोधी बताकर समुदाय में नाराजगी बढ़ाई और भारत सरकार की छवि खराब करने के लिए प्रदर्शन आयोजित करवाए.



    सीताराम येचुरी का हमला
    इस खबर के आने के बाद सीताराम येचुरी ने एक के बाद एक ट्वीट कर सरकार पर कई तरह आरोप लगाए. उन्होंने लिखा, 'दिल्ली पुलिस भाजपा की केंद्र सरकार और गृह मंत्रालय के नीचे काम करती है. उसकी ये अवैध और ग़ैरक़ानूनी हरकतें भाजपा के शीर्ष राजनीतिक नेत्रत्व के चरित्र को दर्शाती हैं. वो विपक्ष के सवालों और शांतिपूर्ण प्रदर्शन से डरते हैं, और सत्ता का दुरुपयोग कर हमें रोकना चाहते हैं.'



    23 से 26 फरवरी के बीच हुए थे दंगे
    दिल्ली के उत्तर पूर्वी जिले में 23 से 26 फरवरी के बीच दंगे हुए थे. आरोप-पत्र में दावा किया गया है कि दंगों में 53 लोगों की मौत हुई थी और 581 लोग घायल हो गए थे, जिनमें से 97 लोग गोली लगने से घायल हुए थे. दिल्ली पुलिस की चार्जशीट के आधार पर कोर्ट ने कहा था कि आम आदमी पार्टी से बर्खास्त पार्षद ताहिर हुसैन ने भीड़ को हिंसा के लिए उकसाया. बता दें कि ताहिर पर इंटेलिजेंस ब्यूरो के स्टाफ अंकित शर्मा की हत्या का भी आरोप है. कोर्ट ने कहा कि ताहिर हुसैन के कथित उकसावे पर मुस्लिम हिंसक हो गए और हिंदू समुदाय पर पथराव शुरू कर दिया था.

    Tags: Delhi riots, Sitaram Yechury, Yogendra yadav

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर