भाटपारा पहुंचे बीजेपी के तीन MP, अहलूवालिया बोले- पुलिस ने गुंडों को डंडों से मारा, मासूम लोगों पर गोली चलाई

पूर्व केंद्रीय मंत्री और सांसद एसएस अहलूवालिया के नेतृत्व में तीन सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल शनिवार को भाटापाड़ा का दौरा करेगा और पार्टी अध्यक्ष और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को रिपोर्ट सौंपेगा.

News18Hindi
Updated: June 22, 2019, 3:46 PM IST
News18Hindi
Updated: June 22, 2019, 3:46 PM IST
पश्चिम बंगाल में राजनीतिक हिंसा का दौर थम नहीं रहा है. स्थानीय और भारतीय जनता पार्टी नेताओं ने निषेधाज्ञा का उल्लंघन करते हुए शुक्रवार को उन दो लोगों के शवों के साथ रैली निकाली जिनकी उत्तर 24 परगना जिले के भाटपाड़ा क्षेत्र में बदमाशों के दो गुटों के बीच झड़प के दौरान गोलीबारी में मौत हो गई थी. क्षेत्र के हालात तनावपूर्ण बने हुए हैं. इलाके में निषेधाज्ञा लागू है और भारी संख्या में पुलिस बल को तैनात किया गया है.

इस घटना के मद्देनजर बीजेपी की तरफ से एसएस अहलूवालिया, सत्यपाल सिंह और वीडी राम शनिवार को पश्चिम बंगाल के भाटपाड़ा पहुंचे. बीजेपी का यह 3 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को रिपोर्ट सौंपेगा. गृह मंत्रालय इससे पहले भी बंगाल की सरकार को राज्य में हो रही हिंसा पर चेता चुका है.

भाटपाड़ा पहुंच कर अहलूवालिया ने कहा, 'पुलिस ने उन्हें गोली मारी. पुलिस ने प्रेस कांफ्रेंस कर कहा कि उन्होंने हवाई फायरिंग की, लेकिन उन्होंने अगर ऐसा किया होता तो यह गोलियां लोगों के शरीर में कैसे घुस जाती? छोटे दुकानदारों का परिवार बर्बाद हो गया.'

17 साल के बच्चे को पुलिस ने मारी गोली- अहलूवालिया

अहलुवालिया ने कहा कि '17 साल का एक बच्चा जो दुकान पर कुछ खरीद रहा था, वह भी मारा गया. पुलिस ने उसे करीब से सिर में गोली मारी है. एक दुकानदार को गोली मारी गई और उसकी मौके पर ही मौत हो गई. तीसरा अस्पताल में है. सात लोगों को गोली मार गई. पुलिस ने गुंडों को डंडों से मारा और मासूम लोगों पर गोली चलाई.'



अब तक 16 अरेस्ट
Loading...

पुलिस अधिकारी ने कहा कि झड़पों के संबंध में 16 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है. तृणमूल कांग्रेस और बीजेपी से जुड़े बताए जा रहे दो समूहों के बीच गुरुवार को झड़प में दो लोगों की मौत हो गई और 11 लोग घायल हो गए.

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केसरीनाथ त्रिपाठी ने चिंता जताते हुए कहा 'न केवल भाटपाड़ा बल्कि पूरे राज्य में शांति बनाये रखने की आवश्यकता है.' भाटपाड़ा और जगद्दल क्षेत्रों में दुकानें और बाजार बंद रहे. इंटरनेट सेवाओं पर भी अस्थायी रूप से रोक लगा दी गई है. इलाके के भीतर और उसके आसपास धारा 144 लागू है.

यह भी पढ़ें:  पश्चिम बंगाल में 11 आईपीएस अधिकारियों का तबादला

बीजेपी ने प्रशासन पर लगाया आरोप
वहीं पूर्व केंद्रीय मंत्री और सांसद एसएस अहलूवालिया के नेतृत्व में तीन सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल शनिवार को भाटपाड़ा का दौरा करेगा और पार्टी अध्यक्ष और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को रिपोर्ट सौंपेगा.

हालांकि गुरुवार रात को किसी अप्रिय घटना की खबर नहीं मिली. कई लोगों ने आज सुबह कांकीनारा बाजार के निकट 'बम धमाके की आवाज' सुनाई देने की बात कही. हालांकि पुलिस ने अभी तक इस दावे की पुष्टि नहीं की है.

बीजेपी ने राज्य प्रशासन पर 'तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं' की तरह काम करने का आरोप लगाया. पार्टी के राष्ट्रीय सचिव राहुल सिन्हा ने भाटपारा आगजनी घटना की सीबीआई जांच कराने की मांग की. राज्य सरकार के सूत्रों ने कहा कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों को घटना में शामिल लोगों के खिलाफ 'उनकी राजनीतिक पहचान का ख्याल किये बिना' सख्त कार्रवाई का निर्देश दिया है.

यह भी पढ़ें:  क्या है 'हरमद' शब्द का मतलब जिसने बंगाल में छेड़ दी है बहस!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 22, 2019, 2:39 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...