Assembly Banner 2021

West Bengal Election 2021: 26 दिनों में 46 रैलियां और 14 रोड शो करेंगे अभिषेक बनर्जी, जानें TMC के स्टार कैंपेनर का महत्व

अभिषेक बनर्जी की फाइल फोटो

अभिषेक बनर्जी की फाइल फोटो

पश्चिम बंगाल चुनाव (West Bengal Election 2021) में सीएम ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) के बाद अगर किसी की सबसे ज्यादा चर्चा है तो वह हैं अभिषेक बनर्जी.

  • Share this:
कोलकाता. पश्चिम बंगाल के विधानसभा चुनाव (West Bengal Election 2021) में टीएमसी प्रमुख और सीएम ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) के बाद अगर किसी की सबसे ज्यादा चर्चा है तो वह हैं अभिषेक बनर्जी ( Abhishek Banerjee). ममता के बाद वह पार्टी में सबसे ज्यादा व्यस्त नजर आ रहे हैं. 60 सार्वजनिक कार्यक्रम. 46 रैलियां और 14 रोड शो. 60 विधानसभाओं और 10 जिलों को कवर करने वाला टीएमसी सांसद का यह कार्यक्रम 26 दिनों तक चलेगा. इस चुनाव में बनर्जी, भाजपा के निशाने पर हैं. सीएम के भतीजे बनर्जी पर आरोप है कि वह 'कमीशन' लेते हैं. भाजपा के कई वरिष्ठ नेता बनर्जी को 'तोलेबाज भतीजा' कह रहे हैं.

News18 के पास बनर्जी के 8 अप्रैल तक के कार्यक्रमों की रूपरेखा है. 8 अप्रैल तक राज्य में 4 चरणों के प्रचार समाप्त हो जाएंगे. बनर्जी के प्रचार अभियान का शेड्यूल देखें तो यह भाजपा के किसी सीनियर लीडर के कार्यक्रम की तरह व्यापक है और मुख्यमंत्री के बराबर के कार्यक्रमों से थोड़ा कम है.

Youtube Video




भाजपा के हमलों का खास असर नहीं
भाजपा द्वारा लगाए जा रहे भ्रष्टाचार के आरोपों के बावजूद बनर्जी के प्रचार में कोई कमी नहीं है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तक उन पर जुबानी हमला कर चुके हैं. एक रैली में  मोदी ने आरोप लगाया, 'औद्योगिक इकाइयां बंद हो रही हैं. आपको पता है कि उद्योगों को जल्दी मंजूरी देने के लिए एक सिंगल विंडो सिस्टम बनाया गया है. खड़गपुर में एक रैली को संबोधित करते हुए पीएम ने दावा किया था कि सांसद अभिषेक बनर्जी राज्य में 'सिंगल विंडो’ हैं और जिसे पार किए बिना कोई काम नहीं होता है. लेकिन टीएमसी इन आरोपों से बेपरवाह है. उन्हें भी रैलियों के लिए ममता की तरह हेलीकॉप्टर अलॉट किया गया है.

उदाहरण के तौर पर अभिषेक बनर्जी ने पहले चरण  (27 मार्च) के लिए 14 मार्च को अपना अभियान शुरू किया. 31 मार्च तक, उन्होंने राज्य के पश्चिमी हिस्सों, झारग्राम, पुरुलिया, बांकुरा पूर्व और पश्चिम दक्षिण बंगाल में मेदिनीपुर जैसे जिलों में जाकर 39 रैलियां और रोड शो किए.

मतदान के दिन गतिविधियों पर निगरानी रखने वाले अहम किरदार हैं अभिषेक
31 मार्च को, उन्होंने उत्तर बंगाल में कूच बिहार और अलीपुरद्वार की तीन रैलियों की यात्रा की. 2 अप्रैल से 8 अप्रैल तक 21 और सार्वजनिक कार्यक्रमों के साथ  दक्षिण 24-परगना  पर ध्यान देंगे. उनकी लोकसभा सीट, डायमंड हार्बर, इस जिले में आती है. वह अगले एक सप्ताह में दक्षिण 24-परगना में 11 सार्वजनिक कार्यक्रमों में भाग लेंगे, क्योंकि यहां अधिक से अधिक सीटें जीतना प्रतिष्ठा का विषय है. इसके अलावा वह हावड़ा और हुगली के प्रमुख जिलों में भी प्रचार करेंगे.

अभिषेक बनर्जी मतदान के दिनों में गतिविधियों पर निगरानी रखने वाले अहम किरदार हैं. उन्होंने अब तक दो दिन (27 मार्च और 1 अप्रैल) को चुनाव प्रचार नहीं किया है. हालांकि, वह दक्षिण 24-परगना में 6 अप्रैल (तीसरे चरण) के चुनाव प्रचार के लिए निकलेंगे, लेकिन शाम 5 बजे के बाद - जब मतदान प्रक्रिया काफी हद तक समाप्त हो जाएगी.

TMC के अंदरूनी सूत्रों ने News18 को बताया कि ममता बनर्जी और अभिषेक बनर्जी को स्टार कैंपेनेर बनाने के पीछे की वजह है 'सभी विधानसभा क्षेत्रों को कवर' करना है.'

(यह पूरी खबर अंग्रेजी में है. इसे पढ़ने के लिए क्लिक करें -- 60 Rallies, 10 Districts, 26 Days: Importance of Abhishek Banerjee, TMC's Star Campaigner)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज