WB Election 2021: क्या शोभनदेव बचा पाएंगे ममता बनर्जी का गढ़ भबानीपुर ?

कॉन्सेप्ट इमेज.

कॉन्सेप्ट इमेज.

2016 में भबानीपुर (Bhabanipur) में कुल 67 प्रतिशत वोट पड़े. 2016 में ऑल इंडिया तृणमूल कांग्रेस (TMC) से ममता बनर्जी ने इंडियन नेशनल कांग्रेस के दीपा दासमुंशी को 25301 वोटों के मार्जिन से हराया था.

  • Share this:
कोलकाता. चार राज्यों और एक केंद्र शासित प्रदेश में चुनावी बिगुल बज चुका है. इनमें ही पश्चिम बंगाल भी है जहां पर विधानसभा चुनाव होने हैं. भबानीपुर (Bhabanipur) विधानसभा सीट पश्चिम बंगाल के पूरो मेदिनीपुर जिले में आती है. 2016 में भबानीपुर में कुल 67 प्रतिशत वोट पड़े. 2016 में ऑल इंडिया तृणमूल कांग्रेस (TMC) से ममता बनर्जी ने इंडियन नेशनल कांग्रेस के दीपा दासमुंशी को 25301 वोटों के मार्जिन से हराया था.

पश्चिम बंगाल चुनाव में हाल में जिस खबर ने सबसे ज्यादा सुर्खियां बटोरी वह थी मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का अपनी भबानीपुर विधानसभा सीट छोड़कर नंदीग्राम से चुनाव लड़ना. ममता बनर्जी के भबानीपुर सीट छोड़ने के बाद सबकी नजर इस बात पर थी कि ममता बनर्जी की इस सीट से टीएमसी किसे उम्मीदवार बनाएगी. टीएमसी के सभी 294 सीटों के उम्मीदवारों का ऐलान होने के साथ ही यहां की तस्वीर भी साफ हो गई है. टीएमसी ने भबानीपुर सीट से पार्टी के पुराने नेता शोभनदेव चट्टोपाध्याय को मैदान में उतारा है.

पहले ये खबर आ रही थी कि ममता बनर्जी भबानीपुर और नंदीग्राम दो जगह से चुनाव लड़ेंगी लेकिन ममता ने खुद ही साफ कर दिया कि वह एक ही सीट नंदीग्राम से लड़ेंगी. लगातार 2 बार ममता बनर्जी के विधायक रहने के चलते भबानीपुर सीट भी खास बन चुकी है ऐसे में पार्टी यहां पर लड़ाई में किसी तरह की कसर नहीं छोड़ना चाहती. पार्टी ने यहां से ममता बनर्जी के पुराने सहयोगी शोभनदेव को उम्मीदवार बनाया है.

Youtube Video

बता दें, साल 2021 के सियासी रण का ऐलान हो चुका है. इस बार के सबसे ज्यादा चर्चित राज्य पश्चिम बंगाल में 8 चरणों में चुनाव पूरे किए जाएंगे. 294 सीटों पर जनता राज्य की सत्ता के लिए पहला मतदान 27 मार्च को होगा. वहीं, अंतिम चरण 29 अप्रैल को होगा. खास बात है कि मतगणना 2 मई को होगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज