WB Election 2021: चौरंगी में क्या TMC का जलवा रहेगा बरकरार, या होगा कुछ और

कॉन्सेप्ट इमेज.

कॉन्सेप्ट इमेज.

टीएमसी (TMC) की नयना बंद्योपाध्याय ने साल 2016 के विधानसभा चुनाव में अपने निकटम प्रतिद्वंदी कांग्रेस (Congress) प्रत्याशी सोमेंद्रनाथ मित्रा को भारी अंतर से हराया था.

  • Share this:
चौरंगी. चौरंगी (Chowrangee) विधानसभा सीट पश्चिम बंगाल जिले से आती है यह राज्य की प्रमुख विधानसभा सीटों में से एक है. टीएमसी (TMC) की नयना बंद्योपाध्याय ने साल 2016 के विधानसभा चुनाव में अपने निकटम प्रतिद्वंदी कांग्रेस प्रत्याशी सोमेंद्रनाथ मित्रा को भारी अंतर से हराया था. आपको बता दें कि साल 2016 में हुए चौरंगी विधानसभा चुनाव में इस सीट पर कुल दो लाख सात हजार चार सौ (207400) मतदाता थे. साल 2016 के विधानसभा चुनाव में चौरंगी विधानसभा सीट से कुल एक लाख सोलह हजार पांच सौ छियासठ (116566) मतदाताओं ने अपने मत का प्रयोग किया था. पश्चिम बंगाल की इस विधानसभा सीट पर 61.08 फीसदी पुरुष मतदाता हैं, जबकि 38.92 फीसदी महिला मतदाता हैं.

चौरंगी विधानसभा सीट मौजूदा समय सत्तारूढ़ दल टीएमसी के हाथों में है. नयना बंद्योपाध्याय ने पिछले विधानसभा चुनाव में बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए चौरंगी विधानसभा सीट से अपने निकटम प्रतिद्वंदी कांग्रेस प्रत्याशी सोमेंद्रनाथ मित्रा को 13,260 मतों से करारी शिकस्त दी थी, वहीं इस चुनाव में तीसरे नंबर पर 15,707 वोटों के साथ बीजेपी उम्मीदवार रीतेश तिवारी थे, जबकि यहां पर भी 2,183 वोटों के साथ चौथे स्थान पर नोटा रहा.

Youtube Video


साल 2016 में ऐसी रही वोटिंग
चौरंगी विधानसभा सीट पर साल 2016 में में कुल 56 फीसदी मतदान हुआ था. साल 2016 में ऑल इंडिया तृणमूल कांग्रेस की नयना बंद्योपाध्याय ने इंडियन नेशनल कांग्रेस के सोमेंद्रनाथ मित्रा को 13,260 वोटों के बड़े अंतर से हराया था. चौरंगी विधानसभा सीट कोलकाता उत्तर के अंतर्गत आती है. इस संसदीय क्षेत्र से सांसद हैं सुदीप बंद्योपाध्याय, जो ऑल इंडिया तृणमूल कांग्रेस से हैं. उन्होंने साल 2019 के लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी राहुल सिन्हा को 127095 से हराया था.

बता दें, साल 2021 के सियासी रण का ऐलान हो चुका है. इस बार के सबसे ज्यादा चर्चित राज्य पश्चिम बंगाल में 8 चरणों में चुनाव पूरे किए जाएंगे. 294 सीटों पर जनता राज्य की सत्ता के लिए पहला मतदान 27 मार्च को होगा. वहीं, अंतिम चरण 29 अप्रैल को होगा. खास बात है कि मतगणना 2 मई को होगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज