West Bengal Assembly Election 2021: बंगाल पर EC की नजर, रैलियों में नियमों का पालन करने पर चुनाव आयोग का जोर

चुनाव आयोग (सांकेतिक तस्वीर)

चुनाव आयोग (सांकेतिक तस्वीर)

West Bengal Assembly Election 2021: चुनाव आयोग (Election Commission) ने राजनीतिक दलों द्वारा कोविड प्रोटोकॉल का पालन ना किये जाने पर चिंता जाहिर की है

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 16, 2021, 5:24 PM IST
  • Share this:
कोलकाता. भारत निर्वाचन आयोग (Election Commission) ने पश्चिम बंगाल चुनाव  (West Bengal Assembly Election 2021)में राजनीतिक दलों द्वारा कोविड प्रोटोकॉल का पालन ना किये जाने पर चिंता जाहिर की है. आयोग के वरिष्ठ सूत्रों ने कहा है कि बंगाल में राजनीतिक दल कोरोना की गाइडलाइन्स का पालन करें. साथ ही कहा गया कि राजनीतिक रैलियों और चुनाव प्रचार पर कुछ पाबंदी की जरूरत है. आयोग की ओर से पाबंदियों का पालन किये जाने के निर्देश कांग्रेस प्रत्याशी रेजाउल हक की निधन के बाद आए.

मुर्शिदाबाद जिले की शमशेरगंज विधानसभा सीट से उम्मीदवार, हक को बुधवार को शुरुआत में जांगीपुर के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था. लेकिन रात में हालत बिगड़ने के बाद उन्हें कोलकाता के अस्पताल में रेफर कर दिया गया. सूत्रों ने बताया कि सुबह पांच बजे के आस-पास उन्होंने दम तोड़ दिया.

Youtube Video


News18 संवाददाता नीरज कुमार ने बताया कि आयोग के उच्च सूत्रों ने कहा है कि राजनीतिक दलों की रैलियों में कोरोना नियमों का सख्ती से पालन करने किया जाए. चुनाव आयोग ने अब तक कोई फैसला नहीं लिया है. हालांकि गुरुवार शाम तक एक बैठक हो सकती है.
पश्चिम बंगाल के मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने सर्वदलीय बैठक बुलायी

पश्चिम बंगाल के मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) आरिज आफताब ने 16 अप्रैल को सर्वदलीय बैठक बुलायी है. इससे पहले कलकत्ता हाईकोर्ट ने सीईओ और राज्य में सभी जिलाधिकारियों को चुनाव के बाकी चार चरणों में प्रचार के दौरान कोविड-19 के निर्देशों का पालन सुनिश्चित करने का निर्देश दिया था.

निर्वाचन आयोग के एक अधिकारी ने बताया कि राज्य में सभी राजनीतिक दलों से बैठक के लिए केवल एक प्रतिनिधि भेजने को कहा गया है. बैठक में बाकी चार चरणों के लिए चुनाव प्रचार से संबंधित मुद्दों पर चर्चा की जाएगी. उन्होंने कहा कि सामाजिक दूरी और कोविड-19 से जुड़े विभिन्न नियमों के पालन को लेकर चर्चा की जाएगी.



अधिकारी ने कहा कि राज्य के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून-व्यवस्था) जग मोहन और राज्य के स्वास्थ्य सचिव एन एस निगम भी बैठक में मौजूद रहेंगे. कलकत्ता हाईकोर्ट ने मंगलवार को निर्देश दिया था कि कोरोना वायरस के मामलों में बढ़ोतरी के मद्देनजर विधानसभा चुनाव के लिए राजनीतिक दलों के प्रचार के संबंध में स्वास्थ्य संबंधी सभी निर्देशों का कड़ाई से पालन होना चाहिए.

मुख्य न्यायाधीश टी बी एन राधाकृष्णन की पीठ ने दो जनहित याचिकाओं पर सुनवाई करते हुए सभी जिलाधिकारियों को आदेश दिया था कि वे निर्वाचन आयोग और मुख्य निर्वाचन अधिकारी द्वारा जारी निर्देशों का कड़ाई से पालन सुनिश्चित करें.

बंगाल में कोविड-19 के 5892 नए मामले, 24 लोगों की मौत

पश्चिम बंगाल में बुधवार को कोविड-19 के अब तक के सर्वाधिक 5892 नए मामले आने से संक्रमितों की संख्या 6,30,116 हो गयी. स्वास्थ्य विभाग के बुलेटिन में बताया गया कि राज्य के विभिन्न भागों में संक्रमण से 24 और लोगों की मौत हो जाने से मृतकों की संख्या 10,458 हो गयी है. बुलेटिन के मुताबिक पिछले 24 घंटे में राज्य में 2297 संक्रमित मरीज ठीक हो गए. राज्य में उपचाराधीन मरीजों की संख्या बढ़कर 32,621 हो गयी है.



बुलेटिन में बताया गया कि राज्य में मंगलवार को 43,463 नमूनों की जांच की गयी और कुल मिलाकर 96,32,841 नमूनों की जांच हो चुकी है. कोरोना वायरस के मामलों में बढ़ोतरी राज्य के लिए चिंता का विषय है जहां वर्तमान में चुनाव चल रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज