अपना शहर चुनें

States

West Bengal Election 2021: बंगाल में आज रथ यात्रा शुरू करेंगे जेपी नड्डा, यहां जानें क्या है बीजेपी का चुनावी प्लान

west bengal election 2021 को लेकर बीजेपी आक्रामक तैयारी कर रही है.
west bengal election 2021 को लेकर बीजेपी आक्रामक तैयारी कर रही है.

पश्चिम बंगाल चुनाव 2021 (West Bengal Election 2021) के लिए भारतीय जनता पार्टी, आक्रामक तैयारी कर रही है. पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा शनिवार को रथ यात्रा शुरू करेंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 6, 2021, 10:55 AM IST
  • Share this:
कोलकाता. पश्चिम बंगाल (West Bengal) में आगामी विधानसभा चुनाव (West Bengal Assembly election 2021) से पहले जन समर्थन अपने पक्ष में करने के उद्देश्य से भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा (JP Nadda)  शनिवार को राज्य में पार्टी की ‘रथयात्रा’ की शुरुआत करेंगे. प्रशासन ने शनिवार को इसकी अनुमति दे दी. नड्डा की नदिया जिले में 15वीं सदी के संत चैतन्य महाप्रभु के जन्मस्थान नवद्वीप से ‘परिवर्तन यात्रा’ शुरू करने की योजना है. केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के भी इस महीने शुरू होने वाली पांच प्रस्तावित यात्राओं में से दो के उद्घाटन करने की संभावना है.

नड्डा पहले मालदा में रोड शो और जिले में दो अन्य कार्यक्रमों में भाग लेने के लिए जाएंगे. दोपहर में वह नबद्वीप रथ यात्रा शुरु करेंगे, जिसे परिवर्तन यात्रा नाम दिया गया है. महीने भर चलने वाले इस कार्यक्रम में भाजपा के कई वरिष्ठ नेता पहुंच सकते हैं. पार्टी का इरादा 6 फरवरी से 11 फरवरी के बीच बीरभूम के कूचबिहार, दक्षिण 24 परगना, झारग्राम और तारापीठ में ऐसी यात्राएं शुरू करना है. राज्य सरकार ने भाजपा से कहा है कि वह यात्रा शुरू करने से पहले स्थानीय प्रशासन से अनुमति लें.

लोकसभा चुनाव से पहले भी बीजेपी ने बनाई थी योजना
द वायर की एक रिपोर्ट के मुताबिक साल 2019 में लोकसभा चुनाव से ठीक एक महीने पहले बीजेपी ने बंगाल में इसी तरह की रथ यात्रा की योजना बनाई थी. राज्य सरकार ने तब अनुमति देने से इनकार कर दिया था. सरकार ने कहा था कि ऐसी रैली से लॉ एंड ऑर्डर की दिक्कतें आ सकती हैं. जिसके बाद भाजपा ने कलकत्ता हाईकोर्ट में एक याचिका दायर की और सिंगल जज की बेंच ने उनके पक्ष में फैसला सुनाया. लेकिन बाद में हाईकोर्ट की डिविजन बेंचने सिंगल जज बेंच के फैसले पर रोक लगा दी थी.
बीजेपी ने सुप्रीम कोर्ट में अपील की, लेकिन शीर्ष अदालत ने डिवीजन बेंच के आदेश को बरकरार रखा. तत्कालीन CJI रंजन गोगोई की अगुवाई वाली सुप्रीम कोर्ट की बेंच ने कहा था, 'हिंसा का डर निराधार नहीं था.' रिपोर्ट में टीएमसी सांसद सौगत राय के हवाले से कहा गया है कि वह भाजपा की रथ यात्रा को ज्यादा महत्व देने से सावधान थे. राय ने कहा 'वे (भाजपा) हमेशा धर्म को राजनीति के साथ मिलाते हैं, यह कोई नई बात नहीं है. वे हताश हैं क्योंकि वे जानते हैं कि वे चुनाव में हारने वाले हैं. उन्हें अपनी सांप्रदायिक राजनीति करने दें, बंगाल के लोग इस चक्कर में कभी नहीं आएंगे.'



बता दें भाजपा की पहली रथयात्रा 6 फरवरी को नबद्वीप से शुरू होगी और बैरकपुर में समाप्त होगी. अगले दो दिन बाद 8 फरवरी को उत्तर बंगाल के कूच बिहार और दक्षिण बंगाल के ककद्वीप से रथ यात्रा शुरू की जाएगी. आखिरी दो रथ यात्राओं को 9 फरवरी को दक्षिण बंगाल के झारग्राम और तारापीठ से शुरू किया जाएगा.

दूसरी ओर हिन्दुस्तान टाइम्स की एक रिपोर्ट के अनुसार बीजेपी के एक वरिष्ठ नेता ने कहा, 'हर रथयात्रा के साथ, विधानसभा चुनाव से पहले अभियान को आगे बढ़ाने और पार्टी कार्यकर्ताओं और समर्थकों का मनोबल बढ़ाने के लिए कई पदयात्राएं आयोजित की जाएंगी. यह एक बड़ा कार्यक्रम होगा.'

बता दें चुनाव आयोग अधिकारियों के मुताबिक इस साल मार्च-अप्रैल में चुनाव हो सकते हैं और फरवरी में किसी भी समय मतदान की तारीखों की घोषणा की जा सकती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज