Assembly Banner 2021

बंगाल में चुनाव जीतने के लिए बीजेपी साम्प्रदायिक संघर्ष पैदा कर रही: ममता

ममता बनर्जी ने कहा, ‘‘आप (मोदी) अपने आप को क्या समझते हैं, क्या आप भगवान या महामानव हैं? फाइल फोटो

ममता बनर्जी ने कहा, ‘‘आप (मोदी) अपने आप को क्या समझते हैं, क्या आप भगवान या महामानव हैं? फाइल फोटो

West Bengal Election 2021: ममता ने कहा, ‘‘मैं एक हिंदू हूं जो हर दिन घर से निकलने से पहले चंडी मंत्र का जाप करती है, लेकिन मैं हर धर्म को सम्मान देने की अपनी परंपरा में विश्वास रखती हूं.’’

  • Share this:
नई दिल्ली. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने बीजेपी पर विधानसभा चुनाव (Bengal Assembly Election 2021) जीतने के लिए राज्य में साम्प्रदायिक संघर्ष पैदा करने का शनिवार को आरोप लगाया. तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ने दक्षिण 24 परगना जिले के रैदिघी में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए मुस्लिमों से हैदराबाद की बीजेपी के समर्थन वाली पार्टी और उसकी बंगाल की सहयोगी पार्टियों के जाल में न फंसने का भी आह्वान किया, जो मतों का ध्रुवीकरण करने आयी हैं. उन्होंने असदुद्दीन ओवैसी के नेतृत्व वाली एआईएमआईएम और अब्बास सिद्दीकी की आईएसएफ पर निशाना साधते हुए यह टिप्पणी की. ओवैसी और सिद्दीकी दोनों ने पहले तृणमूल कांग्रेस के आरोपों को खारिज कर दिया था. आईएसएफ माकपा और कांग्रेस के गठबंधन के साथ चुनाव लड़ रही है.

बनर्जी ने अपनी हिंदू पहचान पर जोर देते हुए कहा, ‘‘मैं एक हिंदू हूं जो हर दिन घर से निकलने से पहले चंडी मंत्र का जाप करती है, लेकिन मैं हर धर्म को सम्मान देने की अपनी परंपरा में विश्वास रखती हूं.’’ दलितों के घर में भोजन खाने पर बीजेपी नेताओं पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा, ‘‘मैं एक ब्राह्मण महिला हूं, लेकिन मेरी करीबी सहयोगी एक अनुसूचित जाति की महिला है, जो मेरी हर जरूरत का ध्यान रखती है. वह मेरे लिए भोजन भी पकाती है.’’ बनर्जी ने कहा, ‘‘मुझे इसका प्रचार करने की जरूरत नहीं है, क्योंकि जो दलित के आंगन में खाना खाने के लिए पांच सितारा होटल से भोजन मंगवा कर खा रहे हैं, वे दलित विरोधी, पिछड़ा वर्ग विरोधी और अल्पसंख्यक विरोधी हैं.’’

'बीजेपी लागू करेगी CAA, NRC'
उन्होंने दावा किया कि अगर बीजेपी पश्चिम बंगाल में सत्ता में आयी तो वह संशोधित नागरिकता कानून और राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) लागू करेगी जिससे ‘‘कई नागरिकों को यहां से जाना पड़ेगा.’’ उन्होंने कहा, ‘‘वे पश्चिम बंगाल और उसके लोगों को विभाजित करेंगे. याद कीजिए कि कैसे उन्होंने असम में एनआरसी में 14 लाख बंगालियों और दो लाख बिहारियों के नाम हटा दिए.’’ बनर्जी ने आरोप लगाया कि केंद्रीय बल मतदान से 48 घंटे पहले हर घर के लोगों को डरा-धमका रहे हैं और उनसे बीजेपी के लिए वोट करने को कह रहे हैं.
शुभेंदु और ममता में मुकाबला


उन्होंने कहा, ‘‘डरो मत. माताओं और बहनों उन्हें चुनौती दो. हमें कोई दिक्कत नहीं है, अगर केंद्रीय बल निष्पक्ष चुनाव सुनिश्चित कराने के लिए निष्पक्ष रूप से काम करें लेकिन यदि वे किसी खास राजनीतिक पार्टी की तरफ से काम करेंगे तो हम विरोध करेंगे.’’ मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया कि पूर्व मेदिनीपुर जिले में नंदीग्राम निर्वाचन क्षेत्र में ‘‘बाहरियों’’ ने चुनावों में धांधली करने की कोशिश की. बनर्जी ने नंदीग्राम में बीजेपी उम्मीदवार शुभेंदु अधिकारी के खिलाफ चुनाव लड़ा है.

देबाश्री रॉय बीजेपी में शामिल
टीएमसी नेता ने कहा, ‘‘बाहरी लोगों ने मतदान से पहले हर घर में जाकर नंदीग्राम में चुनावों में धांधली करने की कोशिश की. इसके बावजूद मैं इस सीट से आसानी से जीत जाऊंगी.’’ तृणमूल कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल होने वाले नेताओं पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि रैदिघी से मौजूदा विधायक और अभिनेत्री देबाश्री रॉय इस सीट से टिकट न मिलने के बाद बीजेपी में शामिल हो गईं. उन्होंने कहा, ‘‘हम ऐसे अवसरवादियों को अपनी पार्टी में नहीं चाहते.’’

बनर्जी ने कहा कि तृणमूल कांग्रेस विकास के मोर्चे पर चुनाव लड़ रही है. उन्होंने कहा, ‘‘सुंदरबन में ढांचागत विकास किया गया. राज्य सरकार ने पांच रुपये में अंडायुक्त भोजन मुहैया कराने की पहल की और क्षेत्र में स्वयं सहायता समूहों में भागीदार महिलाएं इस पहल में शामिल हैं.’
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज