Assembly Banner 2021

WB Election 2021: क्या मनिकचक में फिर आएगी कांग्रेस, या होगा कुछ और

कॉन्सेप्ट इमेज.

कॉन्सेप्ट इमेज.

मनिकचक के 2016 में हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस (Congress) उम्मीदवार के रूप में मोहम्मद मोत्ताकिन आलम ने तृणमूल कांग्रेस (TMC) की प्रत्याशी साबित्री मित्रा को हराया था.

  • Share this:
मनिकचक. मनिकचक विधानसभा सीट (Manikchak) पश्चिम बंगाल के मालदा जिले के अंतर्गत आती है. विधानसभा चुनाव (Assembly Elections) का वक्त नजदीक आने के साथ ही मनिकचक सीट पर राजनीतिक हलचल तेज हो गई है. मौजूदा वक्त में यह सीट कांग्रेस के खाते हैं. यहां से कांग्रेस के समर मोहम्मद मोत्ताकिन आलम विधायक हैं. इस बार कांग्रेस (Congress) के लिए यहां जीत आसान नहीं होगी. अबकी बार बीजेपी और टीएमसी (BJP-TMC) के बीच कांटे की टक्कर रहने वाली है.

अगर पिछले विधानसभा चुनाव की बात करें तो 2016 में कांग्रेस ने यहां कब्जा किया था. कांग्रेस उम्मीदवार के रूप में मोहम्मद मोत्ताकिन आलम ने तृणमूल कांग्रेस (TMC) की प्रत्याशी साबित्री मित्रा को हराया था. मोहम्मद आलम को 78,472 वोट मिले थे, जबकि टीएमसी के प्रत्याशी के पक्ष में 65,869 वोट आए थे. पिछली बार यहां 12,603 वोटों के अंतर से हार जीत तय हुई थी. जबकि 20,549 वोटों के साथ बीजेपी (BJP) के उम्मीदवार सिबेंदु शेखर रॉय तीसरे नंबर पर रहे थे.

इससे पहले 2011 के विधानसभा चुनाव में तृणमूल कांग्रेस (TMC) की उम्मीदवार साबित्री मित्रा ने 6,217 वोटों के अंतर से माकपा उम्मीदवार रत्न भट्टाचार्य को हराया था. साबित्री मित्रा को 64,641 वोट हासिल हुए थे, जबकि माकपा (communist party) उम्मीदवार को 58,424 वोट मिले थे. उस चुनाव में 8,003 वोटों के साथ बीजेपी के उम्मीदवार दिपांकर पांडेय तीसरे नंबर पर रहे थे.



बता दें, साल 2021 के सियासी रण का ऐलान हो चुका है. इस बार के सबसे ज्यादा चर्चित राज्य पश्चिम बंगाल में 8 चरणों में चुनाव पूरे किए जाएंगे. 294 सीटों पर जनता राज्य की सत्ता के लिए पहला मतदान 27 मार्च को होगा. वहीं, अंतिम चरण 29 अप्रैल को होगा. खास बात है कि मतगणना 2 मई को होगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज