Assembly Banner 2021

West Bengal Assembly Election 2021: शुवेंदु अधिकारी बोले- ममता और अभिषेक की प्राइवेट पार्टी बन गई है TMC

भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी शुवेंदु अधिकारी

भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी शुवेंदु अधिकारी

West Bengal Assembly Election 2021: बंगाल सरकार में ममता बनर्जी के मातहत रहे शुवेंदु अधिकारी (Suvendu Adhikari ) ने दावा किया कि टीएमसी प्राइवेट कंपनी में बदल गई है. जहां सिर्फ ममता बनर्जी और उनके भतीजे अभिषेक ही आजादी के साथ बोल सकते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 12, 2021, 9:55 PM IST
  • Share this:
सुजीत नाथ
कोलकाता.
पश्चिम बंगाल (West Bengal Assembly Election 2021) की बहुचर्चित विधानसभा सीट नंदीग्राम (Nandigram) से भारतीय जनता पार्टी (BJP) के प्रत्याशी शुवेंदु अधिकारी (Suvendu Adhikari )ने दावा किया है कि तृणमूल कांग्रेस (TMC) अब जनता की पार्टी नहीं रही. नामांकन करने से कुछ घंटे पहले अधिकारी ने विश्वास जताया कि पूर्वी मिदनापुर की सभी 16 सीटों पर भाजपा की जीत मिलेगी. इस दौरान उन्होंने कहा कि वह आज ही सभी पत्रकारों को 2 मई के दिन 'जीत की मिठाई' खाने के लिए आमंत्रित कर रहे हैं.

बंगाल सरकार में ममता के मातहत रहे शुवेंदु ने दावा किया कि टीएमसी प्राइवेट कंपनी में बदल गई है. जहां सिर्फ ममता बनर्जी और उनके भतीजे अभिषेक ही आजादी के साथ बोल सकते हैं.

अधिकारी शुक्रवार सुबह  स्थानीय मंदिरों में गये और अपना नामांकन दाखिल करने से पहले पूजा अर्चना की. अधिकारी ने कहा- 'इस साल, कई टीएमसी नेताओं ने पार्टी छोड़ दी और भाजपा में शामिल हो गए. इसका कारण यह है कि तृणमूल कांग्रेस अब लोगों की पार्टी नहीं है.'
अभिषेक से अधिकारी ने किया सवाल


नंदीग्राम यात्रा के दौरान पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री पर कथित हमले के संदर्भ में, अधिकारी ने कहा, मुझसे अराजनीतिक प्रश्न न पूछें. यदि आप ऐसे प्रश्न पूछेंगे तो मैं जवाब नहीं दूंगा. मैं केवल राजनीतिक सवालों का जवाब दूंगा. मैं इस घटना के बारे में कोई टिप्पणी नहीं करना चाहता.

अधिकारी ने  ममता के भतीजे से अभिषेक से सवाल किया कि   थाईलैंड में एक बैंक खाते में लाखों रुपये किसने जमा किए और कहां से इतनी बड़ी रकम आई? उन्होंने कहा, ' केवल भाजपा सरकार ही शारदा कंपनी द्वारा धोखा दिए गए लोगों का वापसी सुनिश्चित करेगी.'

Youtube Video


अधिकारी ने सीएम बनर्जी पर आरोप लगाया कि वह पश्चिम बंगाल में 'किसान-सम्मान निधि' और आयुष्मान भारत जैसी योजनाओं को 'लागू नहीं' कर रही हैं. साल 2021 में राज्य में सरकार बनाने के बाद पहली कैबिनेट बैठक में उन्हें लागू करने कोशिश करेंगे.

लेफ्ट-कांग्रेस और टीएमसी पर निशाना साधते हुए अधिकारी ने कहा, ' वो आरोप लगा रहे हैं कि हम तुष्टीकरण की राजनीति करते हैं. अब आप मुझे बताइए ... क्या आप यहां कोई साधु ’(भिक्षु) मेरे साथ देख रहे हैं? लेकिन हमने अब्बास सिद्दीकी को लेफ्ट-कांग्रेस की जनसभाओं के साथ मंच साझा करते और   टीएमसी के पक्ष में बोलते हुए तोशा सिद्दीकी को देखा. मैं आपसे पूछना चाहता हूं कि बंगाल में तुष्टिकरण की राजनीति कौन कर रहा है? '

नंदीग्राम को टीएमसी का एक गढ़ माना जाता है और बनर्जी द्वारा इस क्षेत्र से चुनाव लड़ने की घोषणा को अधिकारी परिवार के लिए चुनौती माना जा रहा है.  अधिकारी से कहा, 'अगर ममता की हार 50,000 वोट से नहीं हुई तो मैं घोषणा करता हूं कि राजनीति छोड़ दूंगा.'

शुवेंदु के पिता क्या बोले?
इस बीच टीएमसी सांसद शिशिर कुमार अधिकारी ने दावा किया कि उनका बेटा निश्चित रूप से नंदीग्राम सीट जीतेगा. उन्होंने कहा 'वह (सुवेंदु) मेरा बेटा है और मुझे उसका समर्थन करना है. वह परिपक्व राजनेता है और मेरा आशीर्वाद उनके साथ है. ममता बनर्जी को नंदीग्राम से अनुकूल परिणाम नहीं मिलेंगे.'

उन्होंने कहा, यह सच है कि ममता बनर्जी के साथ मेरा लंबा संबंध है, लेकिन यहां मुझे अपने बेटे सुवेंदु का समर्थन करना है. मैंने उससे दो दिन में बात नहीं की है. वह चुनाव प्रचार में व्यस्त हैं. उसका पिता होने के नाते मुझे राजनीतिक रूप से उसको समर्थन देना होगा.

वह अस्पताल में घायल ममता से मिलेंगे या नहीं इस पर शिशिर  अधिकारी ने कहा, 'उनसे मिलना संभव नहीं है. मैं उनसे नहीं मिलूंगा क्योंकि बंगाल की राजनीति अन्य राज्यों से अलग है. यहां लोग अनावश्यक चीजों का अनुमान लगाना शुरू कर देंगे. आज मैं नंदीग्राम में सच्चा 'परिवर्तन' लाने आया हूं. टीएमसी में पार्टी कार्यकर्ताओं की कोई गरिमा नहीं बची है.'



शिशिर ने कहा कि 'लोगों को आयुष्मान भारत से लाभ हुआ है लेकिन बंगाल में यह योजना नहीं है. बंगाल के किसान केंद्र सरकार की योजनाओं से वंचित हैं. स्वास्थ साथी योजना ने किसी की मदद नहीं की है. हम एक डबल इंजन सरकार लाएंगे. अगर केंद्र और राज्य में एक ही पार्टी की सरकार ना हो तो बंगाल में  विकास नहीं हो सकता है. पीएम मोदी 'सबका साथ सबका विकास' में विश्वास करते हैं. अगर राज्य में बीजेपी जीतेगी तो चिट फंड कंपनियों ने जिन लोगों का पैसा लूटा है, वह उन्हें मिलेगा. 'हम इस बार टीएमसी को हराने जा रहे हैं.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज