West Bengal Election 2021: TMC के घोषणापत्र में राशन डिलीवरी से लेकर रोजगार तक 10 खास वादें कर सकती हैं ममता

West Bengal Assembly election: कल जारी होगा टीएमसी का घोषणापत्र

West Bengal Assembly election: कल जारी होगा टीएमसी का घोषणापत्र

West Bengal Assembly Election 2021: तृणमूल कांग्रेस गुरुवार को घोषणापत्र जारी करेगी. इसमें ममता बनर्जी फ्री राशन डिलीवरी, स्वास्थ्य और रोजगार को लेकर बड़े वादे कर सकती हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 10, 2021, 1:39 PM IST
  • Share this:
कोलकाता. पश्चिम बंगाल (West Bengal Assembly Election 2021) में सत्तारूढ़ दल तृणमूल कांग्रेस इस बार और लुभावना घोषणापत्र लाने का दबाव है. दो बार से सत्ता विरोधी लहर और भारतीय जनता पार्टी से मिल रही कड़ी टक्कर ने टीएमसी (TMC Manifesto) पर दबाव बना दिया है. भाजपा के हिंदुत्व कार्ड का मुकाबला करने के लिए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के प्रयासों के तहत घोषणापत्र जारी करने के लिए महाशिवरात्रि का दिन चुना है. माना जा रहा है कि टीएमसी के घोषणापत्र में 10 खास वादे हो सके हैं.

प्रशांत किशोर पहले ही कुछ राज्यों में ऐसा कर चुके हैं. पंजाब, आंध्र प्रदेश और बिहार इसके उदाहरण है. जैसे बिहार में नीतीश के सात निश्चय, पंजाब में कैप्टन के नौ नुख्ते, आंध्र में जगन के नौ रत्नालू और स्टालिन के सात वादे उदाहरण हैं.

राशन की मुफ्त डिलीवरी का वादा!

खबर है कि TMC राशन की मुफ्त डिलीवरी का वादा कर सकती है. साथ ही सूत्रों का कहना है कि इसके तहत हर महीने दरवाजे पर मुफ्त राशन पहुचाया जाएगा, ताकि लोगों को राशन की दुकानों पर जाने की जरूरत न पड़े. इससे बिचौलियों का सफाया होगा और जन वितरण प्रणाली को बढ़ावा मिलेगा.
घोषणापत्र का फोकस स्वास्थ्य, महिलाओं और नौकरियों पर भी होने की उम्मीद है.  इस हफ्ते के आखिरी तक भाजपा के घोषणापत्र की उम्मीद की जा रही है और वहां भी केंद्र की प्रमुख योजना की छाप इसके विज़न डॉक्यूमेंट में देखी जा सकती है.

Youtube Video


भाजपा बंगाल के लिए उत्सुक



भाजपा और टीएमसी राज्य में विधानसभा चुनाव से पहले ही एक दूसरे का मुकाबला कर रहे हैं.  भाजपा, बंगाल की सत्ता के लिए उत्सुक है. ऐसा माना जा रहा है कि बनर्जी कुछ हमलों के चलते बैकफुट पर हैं लेकिन उनका दावा है कि मतदाता भाजपा को करारा जवाब देंगे.

मुख्यमंत्री ने अपने पूर्व विश्वासपात्र सुवेंदु अधिकारी के खिलाफ में नंदीग्राम से चुनाव लड़ रही हैं. 50 वर्षीय अधिकारी के लिए यह चुनाव राजनीतिक अस्तित्व की लड़ाई है. उन्होंने दावा किया है कि अगर वह बनर्जी को नहीं हरा पाये तो राजनीति छोड़ देंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज