Assembly Banner 2021

West Bengal Election: ममता बनर्जी को अब मिलेगा जया बच्चन का साथ, बाबुल सुप्रियो के खिलाफ करेंगी प्रचार

बंगाल की बेटी के नाम से मशहूर रहीं जया बच्चन पहली बार वहां किसी प्रत्याशी के लिए चुनाव प्रचार करेंगी. (फाइल फोटो)

बंगाल की बेटी के नाम से मशहूर रहीं जया बच्चन पहली बार वहां किसी प्रत्याशी के लिए चुनाव प्रचार करेंगी. (फाइल फोटो)

West Bengal Assembly Election 2021: तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी ने पिछले दिनों बंगाल में भाजपा के खिलाफ सभी विपक्षी दलों को एकजुट होने की अपील की थी. इसी के तहत सपा सांसद जया बच्चन टीएमसी प्रत्याशी के प्रचार के लिए मैदान में उतर रही हैं.

  • Share this:
नई दिल्ली. पश्चिम बंगाल में हो रहे विधानसभा चुनाव (West Bengal Assembly Election 2021) के तीसरे फेज के लिए 6 अप्रैल को वोट डाले जाएंगे. अब तक हुए दो दौर के मतदान में तृणमूल कांग्रेस और बीजेपी, दोनों ही पार्टियां जीत का दावा ठोक रही है. इस बीच बाक़ी बचे पांच और फेज की वोटिंग के लिए टीएमसी ने स्टार कैंपेनर और समाजवादी पार्टी की सांसद जया बच्चन (Jaya Bachchan) को मैदान में उतारा है. जया बच्चन कोलकाता पहुंच गई हैं और वह आज बाबुल सुप्रियो के खिलाफ चुनाव प्रचार करेंगी.

बंगाल में इस बार टॉलीगंज सीट बेहद सुर्खियों में है. टीएमसी के तीन बार के विधायक अरूप विश्वास के खिलाफ बीजेपी ने केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो को उम्मीदवार बनाया है. माना जा रहा है कि इन दोनों के बीच जबरदस्त टक्कर होने वाली है. बांग्ला सिनेमा के लिए टॉलीगंज को जाना जाता है. सुप्रियो एक बड़े गायक हैं और बांग्ला फिल्मों में उनके गाने लोकप्रिय भी हैं. ऐसे में विश्वास को वो कड़ी टक्कर दे सकते हैं. खास बात ये है कि सुप्रियो बंगाल से ही बीजेपी के सांसद हैं. इसके बावजूद उन्हें विधानसभा चुनाव में उतारा गया है.

ममता की अपील पर प्रचार
बता दें कि पिछले दिनों बंगाल में भाजपा के खिलाफ तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी ने सभी विपक्षी दलों को एकजुट होने की अपील की थी. इसी के तहत जया बच्चन प्रचार के लिए मैदान में उतर रही हैं. पिछले दिनों समाजवादी पार्टी के सुप्रिमो अखिलेश यादव ने भी कहा था कि उनकी पार्टी बंगाल में टीएमसी के लिए प्रचार करेगी. जया खुद बंगाल से ताल्लुक रखती हैं. ऐसे में माना जा रहा है कि ममता बनर्जी को इसका फायदा मिल सकता है.
ये भी पढ़ें:- कोरोना गाइडलाइन का पालन न करने पर रेस्तरां और नाइट क्लबों पर जुर्माना



क्या कहा था ममता बनर्जी ने?
पिछले दिनों ममता बनर्जी ने कहा था, 'केंद्र-राज्य संबंध और राजनीतिक संबंध स्वतंत्र भारत के इतिहास में कभी भी इतने बुरे नहीं रहे जितने कि अब हैं. दृढ़ विश्वास है कि लोकतंत्र, संविधान पर भाजपा के हमलों के खिलाफ एकजुट और प्रभावी संघर्ष का समय आ गया है.'

8 फेज में वोटिंग
बंगाल में इस बार आठ चरणों में चुनाव हो रहा है. दो फेज लिए वोट डाले जा चुके हैं जबकि तीसरे चरण का मतदान कल है. इसके बाद 10, 17, 22, 26 और 29 अप्रैल को वोट डाले जाएंगे. जबकि 2 मई को वोटों की गिनती होगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज