TMC की पहली डिजिटल रैली में ममता ने BJP को बताया बाहरी, कहा- बंगाल के लोग राज्य को चलाएंगे

ममता बनर्जी ने कोलकाता में टीएमसी की पहली डिजिटल रैली को संबोधित किया (फाइल फोटो)

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (West Bengal's CM Mamata Banerjee) ने केंद्र सरकार (Central Government) पर निशाना साधते हुए कहा कि बंगाल के खिलाफ केंद्र सरकार यह कहते हुए षड्यंत्र कर रही है कि यहां हर दिन हिंसा होती है लेकिन उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के बारे में क्या, जहां ‘‘जंगल राज’’ है.

  • Share this:
    कोलकाता. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (West Bengal's CM Mamata Banerjee) ने मंगलवार को कोलकाता (Kolkata) में तृणमूल कांग्रेस (Trinamool Congress) की पहली डिजिटल रैली को संबोधित किया. रैली में ममता ने कहा कि देशभर में भय के राज के कारण लोग अपनी बात रखने में असमर्थ हैं. राज्य में मई में आए अम्फान चक्रवात (Amphan Cyclone) से प्रभावित लोगों को सरकारी सहायता न मिलने की खबरों को लेकर उन्होंने कहा कि प्रभावित हुए सभी लोगों को सरकारी सहायता मिलेगी, हमारे खिलाफ झूठी अफवाहें फैलाई जा रही हैं. भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janta Party) को बाहरी लोगों की पार्टी करार देते हुए ममता ने कहा कि बंगाल के लोग राज्य को चलाएंगे, न कि बाहर के लोग.

    ममता बनर्जी ने कहा कि हम 2021 के विधानसभा चुनाव में भाजपा को पश्चिम बंगाल से बाहर फेंक देंगे. तृणमूल कांग्रेस फिर से सरकार बनाएगी. उन्होंने कहा कि अगला चुनाव राज्य के साथ-साथ देश को भी एक नई दिशा दिखाएगा. ममता ने केंद्र सरकार (Central Government) पर निशाना साधते हुए कहा कि बंगाल के खिलाफ केंद्र सरकार यह कहते हुए षड्यंत्र कर रही है कि यहां हर दिन हिंसा होती है लेकिन उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के बारे में क्या, जहां ‘‘जंगल राज’’ है. ममता ने कहा कि केंद्र सरकार ने हमारी उपेक्षा की है. पश्चिम बंगाल के लोग उन्हें मुंह तोड़ जवाब देंगे. बाहरी राज्य नहीं चलाएंगे. कुछ लोग ऐसे हैं जिन्हें कोई राजनीतिक अनुभव नहीं है. वे लोगों को मारने और चीजों को नष्ट करने की बात करते हैं

    बता दें 21 जुलाई को तृणमूल कांग्रेस 1993 में पुलिस की गोलीबारी में मारे गए 13 लोगों की याद में ‘शहीद दिवस’ मनाती है. इसी दिन टीएमसी की ओर से पहली डिजिटल रैली का आयोजन किया गया है.

    10 महीने दूर हैं विधानसभा चुनाव
    ममता बनर्जी उस समय युवा कांग्रेस की नेता थीं जिन्होंने मतदान के लिए मतदाता परिचय पत्र को ही दस्तावेज मानने की मांग को लेकर सचिवालय की ओर मार्च का आह्वान किया था. उसी दौरान पुलिस की गोलीबारी में 13 लोग मारे गए थे.

    रैली से पहले पार्टी सूत्रों ने कहा था कि राज्य में विधानसभा चुनाव अब केवल 10 महीने दूर हैं. ऐसे में 21 जुलाई की रैली मुख्यमंत्री एवं पार्टी प्रमुख ममता बनर्जी के लिए आगामी विधानसभा चुनाव की तैयारियों को लेकर एक उचित मंच होगी.

    पार्टी सूत्रों के अनुसार तृणमूल कांग्रेस ने डिजिटल रैली के माध्यम से राज्य के पांच करोड़ से अधिक लोगों तक पहुंचने की योजना बनाई थी और चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर यह सुनिश्चित करने के लिए सभी चीजों को देख रहे थे कि बनर्जी का भाषण और संदेश राज्य के हर ब्लॉक और गांव तक पहुंचे.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.